सेक्सी भाभी को चोदने की ख्वाहिश वेबकैम मॉडल ने पूरी की

मेरे लेडीज़ गार्मेंट के शॉप पर एक सेक्सी भाभी ब्रा-पैंटी खरीदने आई. उसकी जवानी देख मेरा मन उसे चोदने के लिए मचल गया. भाभी की चूत चोदने के लिए नहीं मिली तो मैंने अपनी वासना कैसे शांत की?

कामुक्ताज डॉट कॉम के सभी रीडर्स को मेरा हैलो. बीते वक्त में मेरे साथ कुछ ऐसी घटनाएं हुईं कि मुझे मेरी पहली सेक्स स्टोरी लिखने पर मजबूर होना पड़ा.
यह कहानी मेरी असल जिन्दगी में हुई घटना पर ही आधारित है जो किसी सपने की तरह एकदम से खत्म भी हो गयी.

महिलाओं की तरफ मेरा हद से ज्यादा झुकाव होने में कई कारक जिम्मेदार रहे हैं- पहला ये कि मेरा जन्म एक ऐसे परिवार में हुआ जो लेडीज कपड़ों के बिजनेस में था. फिर दूसरे मेरा पालन पोषण एक गदराये और गद्देदार जिस्म की आया के हाथों हुआ था. तीसरा मेरे पिताजी चाहते थे कि मैं भी स्कूल-कॉलेज की पढ़ाई में बेवजह टाइम बर्बाद करने की बजाय फैमिली बिजनेस को ही संभालूं.

इस तरह बीतते समय के साथ हर उम्र की महिला ग्राहकों के लिये मेरा नजरिया एक नादान उम्र के निश्छल आकर्षण से हटकर उनके जिस्म को छूने और टटोलने की ओर हो गया था.

अब 26 साल की उम्र में हमारे लेडीज गार्मेंट स्टोर का काउंटर मैं ही संभालने लगा था. वहां पर बैठा बैठा मैं सारा दिन हॉट सेक्सी भाभियों और जवान लड़कियों की छाती के उभारों को घूरता रहा था.

स्टोर पर आने वाले हर ग्राहक का स्वागत मैं ही किया करता था. साथ में मिलकर पिताजी और एक जवान लड़की ग्राहकों को साड़ियों, पारंपरिक पोषाकों और वेस्टर्न ड्रेसेज़ के उत्कृष्ट डिजाइन दिखाया करती थी.

वहीं साथ में स्टोर के अंदर बने एक अलग सेक्शन में मेरी मां एक और जवान लड़की साथ मिलकर लंड खड़ा कर देने वाले लेडीज इनरवियर और अंडरगार्मेंट्स दिखाया करती थी.

हमारे गार्मेंट स्टोर पर मस्त जवान माल भाभियों और जवान लड़कियों की इतनी भरमार रहती थी कि मुझे कभी मुट्ठ मारने के लिए पोर्न फिल्म देखने की जरूरत महसूस नहीं हुई. मेरा लंड खड़ा करने के लिए एक सेक्सी महिला की मद भरी आवाज ही काफी थी.

गुजरते वक्त के साथ मेरी कामनाएं भी बड़ी हो रही थीं और मेरा लंड भी. ये सब इसलिए हो रहा था क्योंकि अक्सर मैं छुट्टे पैसे देते हुए उनके कोमल हाथ को छू लेता था.

बिना कामुकता जाहिर किये मैं उनको सहजता से ये आश्वासन दे देता था कि अगर ब्रा या पैंटी फिट नहीं भी आये तो वो वापस स्टोर पर आकर उनको बदलवा सकती हैं. कई बार अपनी वासना को अंदर ही अंदर छुपाकर मैं कह देता था कि ब्रा-पैंटी कहीं ट्रायल रूम में न छूट गयी हो इसलिए एक बार चेक कर लें!

ऐसे ही दिनभर मेरे लंड से इस तरह की कामुक बातें करते हुए कामरस निकलता रहता था. बहुत आनंद आता था मुझे.

एक दिन की बात है कि दोपहर के समय एक गदराये जिस्म की भारी भरकम इंडियन लेडी हमारे स्टोर पर आई.

उसके मोटापे को देखकर मैं उसमें रूचि नहीं ले रहा था लेकिन फिर उसके पीछे पीछे एक सेक्सी भाभी भी दाखिल हुई. फिर पता चला कि वो उस लेडी की बहू थी.

दोस्तो, उसको देखते ही मेरा ध्यान उससे हटा ही नहीं. उसने एक टाइट जीन्स पहनी हुई थी जिसमें उसकी गांड पूरी कसी हुई थी और दोनों चूतड़ों के उभार जैसे बाहर निकलने को हो रहे थे.

जीन्स पर उसने एक शर्ट डाली हुई थी जिसके वी-नेक आकार में से उसकी चूचियों की संकरी घाटी साफ दिख रही थी. शर्ट को उसने जीन्स में दबाया हुआ था जिससे उसकी चूचियों के निप्पल भी अलग से चमक रहे थे.

देखने में वो किसी सेक्स डॉल जैसी लग रही थी. उसके हाव भाव से पता लग रहा था कि हर चाहने वाले को वह अपना सेक्सी फिगर दिखाना कुछ ज्यादा ही पसंद करती थी.

उसने मुझे भी उसकी गांड को घूरते हुए देख लिया था.
मैं भी पक्का बेशर्म था. उसके देखने के बाद भी उसकी सेक्सी गांड को हवस भरी नजर से घूरता ही जा रहा था.

वो दोनों अंदर चली गयीं और फिर कुछ देर के बाद वो सेक्स डॉल अपनी कुछ आइटम लेकर काउंटर की ओर आयी.

जब वो मेरी तरफ आ रही थी तो मेरी मां ने पीछे से इशारा कर दिया कि नॉर्मल डिस्काउंट से 2 प्रतिशत ज्यादा डिस्काउंट मैं इस लड़की को दूं. तरबूज के आकार की चूचियों वाली वो भारी भरकम औरत पीछे खड़ी हुई मेरी मां के साथ कुछ बात कर रही थी.

मैं हाइ क्लास रंडी जैसी दिखने वाली उस भाभी के सामने बहुत सभ्य तरीके से पेश आ रहा था. मेरे पास आकर उसने मुझे वो कागज का टुकड़ा थमा दिया जिस पर मेरी मां ने खरीदी गयी आइटम्स की लिस्ट बना दी थी.

उस लिस्ट के आधार पर मैं उसका बिल बनाने लगा. बिल बनाते हुए मैं सोच रहा था कि इस सेक्सी माल को गर्म कैसे किया जाये.

दुकान में हर व्यक्ति अपने अपने काम में लगा हुआ था. मैंने सोचा कि यही सही वक्त है इसकी चुदास को भड़काने के लिए.

मैं- अगर आपको ये ब्रा या पैंटी फिट नहीं आये तो आप दिन में किसी भी समय दोबारा आकर चेक कर सकती हैं.
मैंने एक शरारती मुस्कराहट के साथ कहा.

भाभी- हां, अगर मेरी सास मेरे साथ में नहीं होती तो मैं आपको ट्रायल रूम में अंदर ही ले जाती. आपको साइज चेक करना ज्यादा बेहतर आता होगा. मगर मैं ऐसा अभी नहीं कर सकती थी क्योंकि मेरी सास को मेरे फ्रेंडली नेचर को लेकर चिंता रहती है कि कहीं कोई मेरा फायदा न उठा ले.
उसने भी उसी शरारत भरी मुस्कराहट से उत्तर दिया.

मैं जानता था कि वो मुझमें रुचि इसलिए ले रही थी क्योंकि मैं दुकान मालिक था और उसके लिए यह फायदे की बात थी. मगर उससे बात करते हुए मेरी वासना जाग गयी थी.

वो भी मेरे चेहरे के भाव पढ़ चुकी थी. इससे पहले कि मैं उससे उसका फोन नम्बर मांगने की जहमत उठाता उसने खुद ही पहल करते हुए कहा- आप मेरा फोन नम्बर ले लीजिये, हो सकता है कि बाद में जरूरत पड़े.
कहकर उसने मेरी ओर हल्की सी आंख दबा दी.

मैंने अपना मोबाइल फोन निकाला ही था कि उसकी मोटी सास ने हमारी बात को बीच में ही काट दिया. उसकी सास के आते ही भाभी का चेहरा उतर सा गया. फिर वो दोनों स्टोर से निकलने लगीं. जाते हुए उसकी सास मुझे कुटिल दृष्टि से घूर रही थी.

उसकी सास का चेहरा देखकर मैं मन ही मन उसको कोसने लगा कि काश इसकी मोटी भैंस जैसी सास के पीछे गली के कुत्ते पड़ जायें. मैं भी तरस कर रह गया. भाभी का नम्बर नहीं मिल पाया.

मगर मेरे मन में एक उम्मीद जरूर थी कि भाभी हमारी दुकान पर दोबारा वापस जरूर आयेगी. अगर नहीं भी आयी तो बिल पर लिखे स्टोर के टेलीफोन नम्बर से मुझसे बात करने की कोशिश जरूर करेगी.

ऐसे ही फिर दिन गुजर गये और देखते देखते पूरा एक हफ्ता बीत गया. अभी तक भाभी का कोई अता पता नहीं था. मैं अब बेचैन होने लगा था. मेरे अंदर जो वासना भाभी ने भड़का दी थी मैं उसको शांत करना चाह रहा था.

मैंने पोर्न देखकर अपनी हवस को शांत करने की कोशिश की लेकिन कोई खास मजा नहीं आया. मैं चाहता था कि कोई महिला मेरे साथ कामुक गंदी बातें करे ताकि मैं पूर्ण रूप से उत्तेजित होकर भाभी के बारे में सोचकर लंड हिला सकूं.

इस बारे में मैंने अपने एक दो दोस्तों से बात भी की कि यदि उनके पास कोई ऐसी महिला मित्र हो तो मेरा भी काम बन जाये. उन्होंने कई तरीके भी बताये, उनमें जोखिम बहुत था.

दूसरी तरफ समाज में मेरी एक अच्छी छवि थी जो कि दोस्तों की नहीं थी. उनके लिये वो सब काम करना आसान था लेकिन मेरे लिये नहीं. मैंने उनसे कोई और तरकीब निकालने की बात कही.

एक रात को मैं इंटरनेट पर अपनी अतृप्त वासना को शांत करने के तरीके खोज रहा था. घंटे भर खोजने के बाद जब मैं थक गया तो मैंने फिर से पोर्न साइट का रुख करना ही बेहतर समझा.

तभी मेरे एक दोस्त का मैसेज मुझे रिसीव हुआ जिसमें लिखा था- भाई, दिल्ली सेक्स चैट की ये वेबसाइट चेक कर … इसमें इनके टॉप क्लास, ओपन माइंडेड वेबकैम मॉडल के साथ लाइव सेक्स चैट का ऑप्शन भी मिलता है. एक बार ट्राई करके देख भाई, बाद में तू मेरे गुणगान न गाने लगे तो कहना!

मैंने उस मैसेज में दिये गये लिंक पर क्लिक किया. लिंक पर क्लिक करते ही मैं सीधा दिल्ली सेक्स चैट के वेब पेज पर पहुंच गया. मैं स्क्रॉल करता गया और मुझे एक से बढ़कर एक सेक्सी वेबकैम मॉडल मस्त कामुक पोज में चुदासी हुई नजर आईं.

फिर मेरा ध्यान एक प्रोफाइल पर गया. ये लड़की देखने में लगभग उसी सेक्सी भाभी से मिलती जुलती थी जो मेरी दुकान पर ब्रा-पैंटी खरीदने आई थी.

उसका नाम मेघा था और वो 29 साल की थी. जैसे ही मैंने उसकी प्रोफाइल पर नीचे स्क्रॉल किया तो उस देसी इंडियन गर्ल की सेक्सी न्यूड फोटो देखकर मैं सन्न सा रह गया. वो बिल्कुल वैसी ही सेक्स डॉल जैसी दिखती थी.

मैंने मेघा के साथ लाइव सेक्स चैट सेशन शुरू कर दिया. मैंने अपने स्क्रिल अकाउंट के द्वारा यूपीआई के माध्यम से क्रेडिट प्वाइंट ले लिये जो कि सेशन शुरू करने के लिए आवश्यक थे.

कुछ ही पल के बाद सेशन शुरू हो गया और मेघा लाइव आ गयी थी. मुझे वो मेरी मोबाइल स्क्रीन पर लाइव दिख रही थी.

मैं- हैलो मेघा, कैसी हो?
मेघा- मैं बिल्कुल अच्छी हूं बेबी, लेकिन मेरी चुदासी चूत मुझे इतनी रात को भी सोने नहीं दे रही है.

उसके मुंह से चूत जैसा शब्द सुनकर मेरे चेहरे पर अलग ही रोमांच आ गया. मैंने कभी नॉर्मली किसी औरत के मुंह से ऐसे सेक्स शब्द नहीं सुने थे. इतने में ही मुझे आभास हुआ कि मेरा लंड एकदम से टनटना गया है. अब मेरा आत्मविश्वास बढ़ा और मैंने इस गर्म बातचीत को जारी रखा.

मैं- मुझे तुम्हारी चूत का ये हाल जानकर अच्छा लगा. दरअसल मेरा लंड भी खड़ा हुआ है. हम दोनों ही एक दूसरे की प्यास और चुदास को शांत करने में एक दूसरे की मदद कर सकते हैं.

मेघा- बहुत अच्छे! बताओ कि तुम्हारे लंड को ऐसा क्या दिखा कि वो तुम्हें ऐसे परेशान कर रहा है?
मेघा को मैंने उस सेक्सी भाभी के बारे में बताया जो मेरी दुकान पर ब्रा-पैंटी लेने आई थी. उसका मेरी ओर आकर्षित होना और मेरा उसकी ओर कामुक होना. फिर मैंने उसकी मोटी सास के बारे में भी बताया कि कैसे उसने बात आगे नहीं बढ़ने दी.

मेघा- तो तु्म्हारे कहने का मतलब है कि मैं भी उसी सेक्सी भाभी की तरह से एक्ट करूं और उसी माहौल को फिर से बना दूं?
मैं- तुम कर तो दोगी लेकिन मैं पता नहीं इतनी देर तक तुम्हारे सामने टिक भी पाऊंगा या नहीं? तुम्हारा चिकना बदन देखकर लग रहा है कि मैं 30 सेकेण्ड में खाली हो जाऊंगा.

मेघा हंसते हुए- तुम बहुत मजाकिया हो. मगर चिंता मत करो, मैं तुम्हें इतनी जल्दी झड़ने नहीं दूंगी. अब मेरी बात सुनो कि कैसे मैं तुम्हारी मदद कर सकती हूं ताकि तुम पूरी उत्तेजना में आकर अपनी वीर्य निकाल दो और तुम्हें चरम सुख मिले.

उस इंडियन मॉडल गर्ल ने पहले मुझे अपना आइडिया बताया और फिर कुछ टिप्स भी दिये कि कैसे मैं अपने वीर्य के वेग को देर तक रोके रख सकता हूं. मुझे ये अच्छा लगा कि वो सेक्सी बातें करने के साथ ही मेरी मदद भी कर रही थी और मुझे अच्छी जानकारी भी दे रही थी.

उसने एक ढीली टीशर्ट और एक सफेद चड्डी पहनी हुई थी. जब वो उठी और कपड़े बदलने लगी तो मुझे उसकी पैंटी की एक झलक मिल गयी थी. कुछ देर बाद जब वो दोबारा लाइव आई तो उसने नयी जोड़ी कपड़े बदल लिये थे. उसने कमरे को भी एक्ट के हिसाब से सेट कर लिया था.

उसके बाद रोल प्ले सेशन शुरू हो गया. मेघा साइड डोर की तरफ से वीडियो फ्रेम में दाखिल हुई और वेबकैम की ओर चलकर आई.
मेघा- सुनिये, मुझे आपकी दुकान से खरीदी हुई ये पैंटी वापस करवानी हैं.
मैं- ठीक है, जरूर, लेकिन क्या मैं जान सकता हूं कि आप इनको वापस क्यों करना चाहती हैं?

मेघा शर्म से चेहरा लाल होती हुई- आप नहीं समझोगे.
मैं- आप बतायेंगी तो जरूर समझूंगा. आप बतायें तो सही?

मेघा- मेरे पति खुद मेरे लिये ब्रा और पैंटी लेकर आते हैं जो उनको पसंद होती है. ये पैंटी मैंने अपनी पसंद के हिसाब ली थी लेकिन ये मेरी जरूरत के हिसाब के फिट नहीं बैठ रही. आप इन्हें प्लीज वापस ले लीजिए और पैसे लौटा दीजिये.

मैं- मैडम, मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि आप अगर थोड़ा खुलकर बतायेंगी तो मैं आपको ऐसी पैंटी दिखाऊंगा कि आप ही नहीं बल्कि आपके हस्बैंड खुद ही आपको वह पैंटी पहनने के लिए कहेंगे.

मेघा- चलिए ठीक है, मैं बता देती हूं लेकिन आप थोड़ा अपने ऊपर कंट्रोल रखियेगा. हो सकता है कि आपकी भावनाएं भड़क जायें.
इतना कहकर मेघा दूसरी ओर घूम गयी. उसने अपनी डिजाइनर कुर्ती को ऊपर उठा दिया. उसकी काली लैगिंग में उसके दो मस्त गोल गोल चूतड़ एकदम से कसे हुए थे.

फिर उसने अपनी लैगिंग भी नीचे खींच दी और अपनी सफेद कॉटन की पैंटी को दिखाने लगी जिसने उसके चूतड़ों को कवर किया हुआ था. मेरा लंड पहले से ही गर्म था लेकिन सामने मेघा की मोटी गोल गांड देखकर वो एकदम से टनटना गया.

मेघा- जब भी मैं किचन में काम कर रही होती हूं तो मेरे हस्बैंड पीछे से आकर मेरी पैंटी में हाथ डाल देते हैं. वो मेरे शार्ट्स को खींचकर मेरी गांड की दरार में लंड लगा देते हैं.

इसलिए उनको ऐसी पैंटी के साथ ये सब करना होता है जो नीचे से पतली हो और उनका लंड उसमें फंस जाये. इससे उनके दोनों हाथ फ्री रहते हैं. लंड को मेरी पैंटी में चूत के पास फंसाकर वो मेरी चूचियों को दबाने लगते हैं.

मैं- मैडम, आपके हस्बैंड का लंड आपकी गांड में इस पैंटी के साथ भी फंस सकता है, बस उनको थोड़ा सा और जोर लगाकर ट्राई करना चाहिए.
मेघा- नहीं, आप नहीं समझ रहे. मुझे नहीं लगता कि इस पैंटी को फाड़े बिना उनका लंड मेरी चूत में घुस पायेगा.

मैं- आप मेरे लंड को वहां पर लगाकर चेक कर सकती हैं कि आपके पति का लंड इसमें जायेगा या नहीं.
मेघा (कुछ सोचते हुए)- ठीक है, मैं ट्राई करती हूं, मगर आप ज्यादा उत्तेजित न हो जाना प्लीज!

इतना बोलकर उसने एक रबर का डिल्डो निकाल लिया और उसको अपनी जांघ में चूत के करीब रख लिया. फिर उसने अपनी चड्डी को खींचकर उस डिल्डो को अपनी चूतड़ों की दरार में अंदर घुसाने की कोशिश करने लगी.

उसने अपनी मोटी गांड को साइड में कर लिया और मुझे उसके चूतड़ और अच्छी तरह से दिखने लगे. मेरे लंड की तनी हुई नसों में चलती धमनियों के साथ मेरा लंड और कड़क होता चला गया.

मेरा लंड बार बार उछल रहा था. अब मैं अपने लंड को हाथ में लेकर सहलाने और मुट्ठ मारने के लिए मजबूर हो गया था कि जो कि मैं कभी नहीं किया करता था.
मैं- मेघा, मैं तुम्हें बता सकता हूं कि तुम्हारे हस्बैंड को किस तरह से लंड घुसाना चाहिए कि वो आराम से तुम्हारी गांड की दरार में लंड फंसा सकें.

ये सुनकर मेघा ने पैंटी के ऊपर से खींचते हुए उस डिल्डो को अपनी गांड की दरार में घुसाना शुरू कर दिया. वो उस डिल्डो को अपनी गांड की दरार में रगड़ने लगी.

उसने घुटने मोड़ लिये और अपनी गांड को आगे पीछे हिलाने लगी. मैंने भी कल्पना में उसको पीछे से पक़ड लिया और अपने लंड को उसकी पैंटी में घुसाकर उसकी गांड की दरार में रगड़ने लगा.

मेघा अब जोर से सिसकारने लगी- ओह्ह … मेरे राजा … ये क्या कर रहे हो … तुम ऐसा नहीं कर सकते … ये गलत है … मैं शादीशुदा हूं … आह्ह … तुम्हारा लंड हटा लो यहां से … आह्ह … नहीं … मत करो।

मैं- अगर ये गलत है तो फिर तुम अपनी चूचियों को क्यों मसल रही हो? जो खेल शुरू किया है उसको हमें खत्म भी करना चाहिए.
मेघा- तुम्हारा लंड मेरे पति के लंड से बहुत मोटा है. आह्ह … मुझे इसको फील करने दो … उसके बाद तुम मुझे चोद लेना.

मेघा ने घूमकर अब चेहरा वेबकैम की ओर कर लिया. उसने डिल्डो को वेबकैम के सामने कर लिया और उसको मस्ती से चूसने लगी जैसे वो लंड की बहुत भूखी हो.

एक दो बार मुंह में अंदर बाहर करने के बाद उसने डिल्डो को मुंह में गहराई तक ले लिया. उसके गले में लंड फंस गया और उसकी गूं गूं की निकलती आवाज ने मुझे लंड को रगड़ने पर मजबूर कर दिया.

अब उसने लंड को मुंह से निकाला और उस पर लगी लार को जीभ से चाटने लगी.
फिर वो सिसकारते हुए मिन्नत करके बोली- प्लीज मेरी चुदासी चूत पर कुछ रहम करो. घर जाने के बाद ये फिर से चुदने वाली है.

मेघा ने अपनी पैंटी को पूरी नीचे खींच दिया और उस लकड़ी के डेस्क पर जा बैठी. उसने अपनी जांघों को फैला लिया और चूत को वेबकैम के ठीक सामने खोल लिया.

मैं उसकी जांघों और उसकी गुलाबी चूत को साफ देख पा रहा था. उसकी चूत पूरी फूली हुई थी. उस पर हल्के बाल थे. अब उसने अपनी क्लिटोरिस को मसलना शुरू कर दिया और एक नया डिल्डो अपने सामने रख लिया.

मेघा- सर, अब मुझे अपने लंड पर बिठाकर उछालो और इस चुदासी बीवी को रंडी बनाकर चोद दो. मेरी निगोड़ी चूत चुदने के लिए तड़प रही है.
ये बोलकर मेघा ने वेबकैम को एडजस्ट कर दिया ताकि उसकी चूत के साथ रखा डिल्डो और उसके चेहरे का निचले भाग तक का हिस्सा फ्रेम में रह सके.

अब मैंने अपने लंड को उस सेक्सी भाभी के बारे में सोच कर जोर से मुठियाना चालू कर दिया कि जैसे मैं उसकी गांड को अपने हाथ में पकड़ कर उसकी चूत में लंड को पेल रहा हूं.

मेघा भी धीरे धीरे डिल्डो पर बैठने लगी और उसने अपनी बालों वाली चूत में उस लंड को पूरा अंदर ले लिया. उसकी गीली चूत में पूरा अंदर जाने के बाद वो उस पर कूदने लगी. उसकी कामुक सिसकारियां और आहें मेरी वासना को और ज्यादा भड़का रही थीं.

मेघा- ओह्ह सर … इस चुदक्कड़ बीवी की चुदाई कर डालो, उसको एक अ्च्छा सबक सिखाओ ताकि ये अपने हस्बैंड के साथ चीट न करे. आह्ह … लगता है अब मुझे मर्दों को उकसाना बंद करना होगा नहीं तो मैं पूरी रंडी बन जाऊंगी.

वो अब फर्श पर कूद गयी और उसने अपनी कुर्ती भी निकाल दी. उसकी मस्त रसीली चूचियां एकदम नंगी हो गयीं और वो उनको चूसने, दबाने और मसलने लगी.

मेघा- आह्ह … अब मेरी गांड की चुदाई भी कर डालो. अपना लंड इसमें फंसा दो, मुझे मजे में चीखने पर मजबूर कर दो … आह्ह … मुझे जोर से चोद दो।

वो अब आगे की ओर झुक गयी जिससे उसकी गांड और चूत के होंठ दिखने लगे. उसने अपने चूतड़ों को दोनों हाथों से फैला लिया और अपनी गांड का काला छेद दिखा दिया. उसने डिल्डो को चिकना किया और अपनी गांड के छेद पर रगड़ने लगी.

फिर वो धीरे धीरे उस डिल्डो को अपनी गांड में लेने लगी. मजे में उसकी टांगें कांपने लगी थीं. अंदर बाहर करते हुए वह अपनी गांड को डिल्डो से चोदने लगी.

मेघा- आह्ह … सर … अब अपना गर्म गर्म माल मेरी गांड में निकाल दो. लंड की भूखी ये चुदक्कड़ बीवी अपने पति के लिए कोई भी सबूत नहीं छोड़ना चाहती है कि वो किसी और के पास चुदकर आई है.

अब मैं अपने आप ही लंड को जोर जोर से रगड़ने लगा. मेरी गंदी कामनाओं को और ज्यादा भड़काने के लिए वो चुदासी मॉडल अपनी गांड को हिला हिलाकर मुझे तरसाने लगी.

मेरा मन कर रहा था कि उसकी गांड को चोद चोद कर फाड़ दूं. बीच बीच में वो अपनी चूत पर चटाक भी मार रही थी. उन तमाचों से उसकी गोरी गांड की चमड़ी लाल पड़ गयी थी. खुद को गालियां देते हुए वो अपनी गांड को कामुक अंदाज में पीट रही थी.

जोश में मुट्ठ मारते हुए मैंने कहा- आह्ह … मेघा … मैं आने वाला हूं … अपनी गांड के छेद को खोल लो.
मेरे कहते ही उसने अपनी गांड के छेद में उंगली डालकर उसे खोल लिया. उसकी गांड के खुले गहरे छेद को देखकर ही मेरा माल एकदम से छूटने लगा.

अपने चूतड़ भींचकर एकदम से मेरे लंड ने हवा में वीर्य की पिचकारी दे मारी. कई झटकों के साथ सारा वीर्य लंड से बाहर उगल आया था. मैं बुरी तरह से हांफ रहा था लेकिन बहुत संतुष्टि का अनुभव कर रहा था.

सेशन क्लोज करने से पहले कुछ देर तक मैंने मेघा के साथ और भी फ्लर्ट किया. फिर हमने अगले सेशन में मिलने का फिक्स किया. वो भी अगले लाइव सेक्स चैट सेशन के लिए काफी उत्साहित लग रही थी.

वो बोली- अगला सेशन इससे भी ज्यादा कामुक और मजेदार होगा क्योंकि अब तुम भी इस साइट से रूबरू हो गये हो और सब कुछ जान गये हो कि यह कितना आसान और मजेदार है.

उसके बाद मैंने सेशन क्लोज कर दिया. मैं बहुत खुश था और पूरी तरह से संतुष्ट हो गया था.
तो दोस्तो, ये था मेरा सेक्स एक्सपीरियंस और कस्टमर भाभी के साथ मेरी वासना की स्टोरी।

अगर आप भी ऐसे ही किसी भाभी, आंटी या सेक्सी जवान लड़की के साथ ऐसा ही कोई रोल प्ले करना चाहते हैं तो मैं आपको दिल्ली सेक्स चैट वेबसाइट पर आने की सलाह दूंगा. मैं दावा कर सकता हूं कि आपको ऐसा मजा कहीं और नहीं मिलेगा.

दिल्ली सेक्स चैट की इस दिलकश हसीना, हॉट सेक्सी वेबकैम मॉडल मेघा से बात करने के लिए आप इस लिंक पर क्लिक कर सकते हैं.