सेक्स की नगरी की रसीली चुदाई की कहानी- 2

पड़ोसी सेक्स की कहानी में पढ़ें कि कैसे एक बाप बेटे ने एक साथ अपने पड़ोसी की बीवी को उसी के सामने पूरी नंगी करके चोद दिया.

हैलो फ्रेंड्स, मैं अक्षय बाघमारे आपको एक ऐसे नगर की चुदाई की कहानी सुना रहा था, जिसमें सेक्स का सागर अपनी हिलोरों से लंड चुत को निरंतर बहने के लिए मजबूर कर देता है.
पिछले भाग
सेक्स की नगरी में खुली चुदाई की छूट
अब तक आपने पढ़ा था कि अजय की बीवी को उसके बेटे गगन और पड़ोस में रहने वाले दिनकर ने एक साथ मिलकर दोनों तरफ से चोदा था.
उसके बाद दिनकर सुम्मी से कह गया था कि कल उसकी बेटी चमेली को देखने लड़के वाले आ रहे हैं, तो अजय और गगन को भेज देना.

अब आगे पड़ोसी सेक्स की कहानी:

शाम को दिनकर के बुलावे पर अजय और गगन दिनकर के घर आए तो दिनकर और उसकी बीवी जया ने उन दोनों का स्वागत किया.
दिनकर ने उन दोनों को घर के बाहर एक खाट पर बैठने के लिए कहा.

अजय- दिनकर दोपहर में तू मेरे घर आया था. मेरी बीवी बता रही थी कि तेरी बेटी चमेली को देखने लड़के वाले आने वाले हैं. अब तो तू खुश होगा आखिरकार तुझे तेरे घर की दूसरी चुत भी चोदने के लिए मिल जाएगी. वैसे आशा से तेरी चुदाई चलती ही रहती है.

दिनकर- हां यार, अब मुझे चमेली की चुत चोदने को मिल जाएगी. और रही बात मेरी पहली चुत की, तो मेरी बड़ी बेटी आशा तो साली आजकल बड़ी व्यस्त रहती है. उसका पति उसको कॉल करता है, तो वो बोल देती है कि अभी नहीं बाद में बात करना, अभी वो किसी के साथ चुदाई करवा रही है. छिनाल ने पूरे नगर में बड़ा नाम किया है. तुझे मालूम नहीं होगा अजय कि उसकी सैटिंग एक टूरिस्ट कम्पनी से है. उसके जरिए आशा को चोदने के लिए दूसरे देशों तक से लोग आते हैं. अब तो कुतिया नंगी फिल्मों में भी काम करने लगी है.

  मेरी बहू रानी को पुनः भोगने की लालसा- 1

अजय- यार ये तो बड़ी अच्छी बात है. जरा लगा तो उसको कॉल.
दिनकर ने आशा को वीडियो कॉल लगाया. उससे कुछ देर बात करके दिनकर ने अजय को फोन दे दिया.

आशा- हैलो अजय चाचा, कैसे हो तुम्हारा लंड अब भी खड़ा होता है या लंड की कहानी खत्म हो गई … हा हा हा.
अजय- हां मेरी रंडी, मेरा लंड अब भी तेरी चुत फाड़ने के लिए फड़फड़ाता है … आ जा साली, तेरी गांड मारने का बड़ा जी कर रहा है.

आशा- अरे तो मुठ मार लो ना चाचा … अभी तो मुझे अपनी चुत के लिए मस्त मस्त लौड़े मिल रहे हैं.
अजय- हां मैंने भी सुना है … और तेरे बाप ने बताया है कि तुझे नंगी फिल्मों में काम मिलने लगा है.

आशा- हां, ये सब आपकी और गगन की देन है बस. गगन ने जैसा बोला, वैसा ही मैंने किया. अब तो मुझे ये सब बड़ा आसान लगने लगा है.
अजय फोन में देखते हुए बोला- हां दिख तो रहा है कि तेरी फिल्म की शूटिंग हो रही है.

आशा- हां ये देखो न … मैं अभी शूट कर रही हूँ. कुछ लोग अफ्रीका से आए हैं. इनके बहुत बड़े बड़े लौड़े हैं. इनके दो लोगों ने कल मुझे बहुत मस्त चोदा था और आज भी दो चोदने वाले हैं, अभी कुछ देर पहले आधा शूट खत्म हुआ है. अभी मुझे डायरेक्टर और उसके कुछ दोस्तों से मिलने जाना है. अगर मैं उनको आज खुश कर पाऊंगी, तो वो मेरी बहन और मां को भी फिल्म में ले लेंगे, ऐसा उन्होंने बोला है. चाचा जरा गगन को फोन दो ना.

अजय ने गगन को फोन दे दिया.

गगन फोन में देखता हुआ आशा से बोला- साली कुतिया, ये तो अच्छी बात है. मैं तेरी मां बहन को इसके लिए तैयार कर दूँगा. वैसे तेरा पति भी दिख रहा है … ये भोसड़ी का शूट पर क्या करता है?
आशा- अरे यार, चुदाई के लिए लंड खड़ा चाहिए होता है, तो वो मेरी चुत के लिए अपने मुँह में लंड लेकर खड़ा करता है. फिर चुदाई के बाद मेरी चुत गांड मुँह और शरीर पर जो भी पानी निकलेगा, वो उसको चाट कर साफ करता है. मेरी चुत का पानी भी वो ही चाटता है. इसके अलावा जिस समय लौड़े मुझे चोद कर झड़ते हैं, उस समय वो उन लौड़ों से टपकते वीर्य को एक कटोरी में इकट्ठा करता है और रात को खुद की मां को चोदकर उसको पिलाता है.

  ट्यूशन टीचर से प्यार और सेक्स

तभी पीछे से आवाज आई- आशा, चल देर हो रही है. लंड खड़े हो गए हैं.
आशा- चलो गगन और चाचा … अब मैं रखती हूँ. मुझे चुदने जाना है.
अजय- मलतब आशा तू उधर चुद कर बहुत खुश है. बस मुझे इतना ही सुनना था.

फोन पर बात खत्म हुई और दिनकर ने अपना फोन वापस जेब में रख लिया.

तब तक आशा की मां जया सामने आ गई थी. जया ने भी अपनी बेटी आशा की सब बात सुन ली थी.

अजय ने जया को देखा तो उसे आंख मारते हुए अपने पास आने का इशारा किया.

जया गांड मटकाती हुई आई और अपने पति के सामने ही वो अजय की गोद में बैठ गई.
अजय ने उसे अपनी बांहों में भर लिया तो वो अजय को किस करने लगी.

तभी गगन ने आगे बढ़ कर अपने बाप की गोद में बैठी पड़ोसन चाची जया के दूध पकड़ लिए और मस्ती से दबाने लगा.

जया मस्ती से मचलने लगी और बोली- आप लोगों की वजह से आज मेरी बेटी आशा बहुत खुश है. वो नंगी फिल्मों में भी काम करने लगी है. अब शायद हमको भी ब्लू-फिल्म में काम मिल जाएगा.
गगन- साली कुतिया, अब तू और तेरी बेटी फिल्मों में चली जाएंगी, तो हमारे लंड का ख्याल कौन रखेगा?

दिनकर- गगन, तू जल्दी से शादी कर ले, तो हम सबके लंड पर अहसान होगा. तेरी बहू की चुत हम सबको खुश करने लगेगी.
गगन ने भी हामी भर दी- हां चाचा … अपने नगर के नियमों से तो सभी के लौड़े बंधे हैं.

दिनकर हंसने लगा- हां बेटा, तुझे तो मालूम ही है कि तेरी लुगाई तेरे लंड से पहले अपने ससुर के लौड़ों को खुश करेगी.

गगन- हां चाचा, मुझे मालूम है कि मैं शादी करूंगा तो अपने नगर के इस पुराने रिवाज के कारण मैं अपनी बीवी को पहले नहीं चोद सकूंगा. जैसे आप लोग चोद नहीं पाए थे. हां अगर मेरी बीवी की मांग कुछ ज्यादा रही, तो वो मुझे आपका लंड चूसने के लिए भी कह सकती है … जैसे आशा का पति कर रहा है.

गर्मागर्म बातें होनी शुरू हुई तो चुदाई का माहौल बन गया. उधर गगन जया की चुत में उंगली करने लगा था तो जया भी लंड के लिए मचलने लगी थी.

ये सब देख कर दिनकर उठ कर व्हिस्की की बोतल ले आया और सभी लोग दारू पीने लगे.

उनके बीच अब चुदाई का मजा बढ़ने लगा था.

गगन ने अपनी जया चाची की एक चूची को ब्लाउज के ऊपर से ही जोर से दबा दिया.
उसने कुछ ज्यादा जोर से दूध मसल दिया था तो जया दर्द के कारण चिल्ला उठी- ऊंह भोसड़ी के चूची उखाड़ेगा क्या … धीरे दबा न मादरचोद.
गगन- चुप कर कुतिया … चल नीचे लेट … अब मुझे अपनी चुत चोदने दे.

कुछ ही देर में सारे मर्द नंगे हो गए.

गगन और अजय दोनों बाप बेटे जया के मम्मों और गांड को दबाने लगे.
दिनकर जया के कपड़े आराम से निकालने की कोशिश करने लगा था. लेकिन बाप बेटों की हवस के आगे उसकी ये सावधानी कुछ काम की नहीं थी.

गगन ने जया की पैंटी फाड़ दी और उसे पूरी नंगी कर दिया. जया भी चुदने को मचल रही थी, तो उसने अजय को चित लेटने का कहा.

अजय नीचे लेट गया और उसका खड़ा लंड आसमान की तरफ देखने लगा.

जया अजय के ऊपर गांड रख कर चढ़ गई और उसका लंड अपने गांड में लेकर बैठ गई.

गगन ने जया को उसकी खुली टांगों में से लपलप करती चुत देखी, तो वो जया के ऊपर चढ़ गया; जया की चुत में गगन अपना लंड सैट किया और डाल दिया.
लंड अन्दर पेलने के बाद गगन जया की चुचियों को पकड़कर उसे चोदना चालू कर दिया.

जया की चुत गांड में एक साथ बाप बेटे के लौड़े चलने लगे थे.

ये सब दिनकर के घर के बाहर ही हो रहा था … तो सड़क पर आते जाते सभी लोग जया की इस मस्त सैंडविच चुदाई का मजा लेते हुए आवाज देते हुए निकल रहे थे.

कुछ ही देर में नगर के और लोग भी आ गए और गगन अजय के झड़ जाने के बाद उन्होंने जया की चुत गांड पर कब्जा जमा लिया.

जया ने व्हिस्की पी कर मस्ती में अपनी चुत और गांड नगर वालों के लिए खोल दी.
आठ लोगों ने बारी बारी से जया की चुत गांड में लंड पेला और उसे हचक कर चोद दिया.

दिनकर भी अब किसी को चोदना चाहता था … लेकिन कोई लड़की या औरत उसको दिखाई नहीं दे रही थी.

गगन और अजय की चुदाई खत्म हो चुकी थी …. जब तक दिनकर जया को चोदने की सोचता, तब तक नगर का दूसरा मर्द उसकी बीवी की चुत में लंड पेल कर उसे चोदने लगता था.

दिनकर ने अपना लंड हाथ में ले रखा था लेकिन वो नगर के रीतिरिवाजों के चलते अपनी बीवी के साथ कुछ कर ही नहीं पाया.

गगन और अजय दिनकर पर तरस खाते हुए हंसने लगे और अपने कपड़े पहन कर चले गए.

दूसरे दिन सुबह दिनकर ने देखा कि नगर के लोग उसकी बीवी जया को चोद कर उसके घर के सामने नंगे ही सो गए थे.
ये देख कर उसने अपनी आंखें फिर से बंद कर लीं और सो गया.

तभी गगन आ गया और उसने अपने सामने सोई हुई नंगी जया को देखा तो उसने जया के मुँह में मूतना शुरू कर दिया.

इससे जया की आंख खुल गई और वो सुबह सुबह गगन को देख कर खुश हो गई.

गगन अभी जया को चोदने की सोच ही रहा था कि तभी उसे चमेली सामने से आती हुई दिखाई दी.

अब तक आवाजें सुनकर दिनकर भी उठ गया था, उसने चमेली को आता देखा, तो वो उससे सवाल करने लगा.

दिनकर ने चमेली से पूछा- सुबह सुबह से तू कहां गई थी. आज तुझे देखने के लिए लड़के वाले आने वाले हैं.
चमेली कुछ नहीं बोली और घर में घुस गई.

कुछ देर बाद गगन ने जया को एक बार चोदा और उसने सब लोगों को उठ कर जाने के लिए कह दिया.
सब लोग अपने अपने घर चले गए और माहौल सामान्य हो गया.

दोपहर को चमेली को देखने लड़के वाले आए.

लड़के का नाम विजय था और वो 22 साल का था. उसके साथ उसकी दोनों बहनें भी आई थीं. छोटी वाली बहन प्रिया 19 साल की थी और बड़ी बहन रोमा 25 साल की थी. विजय की मां सोनाली 45 साल की थी और बाप नामदेव 50 साल का था.

इधर दिनकर, जया, चमेली, गगन, अजय भी उन सबके स्वागत के लिए खड़े थे.

विजय- आपकी बेटी तो दिखने में बड़ी मस्त है. आपकी वाइफ भी हॉट है लेकिन पता नहीं ये चुदती कैसे है. कहीं ऐसा न हो कि आपकी बेटी चमेली से शादी कर लेने के बाद मालूम चले कि ये चुदाई में अनाड़ी है, तो हमारा तो नाम ही खराब हो जाएगा.

गगन- देखिए, मैं आपकी उलझन समझ सकता हूँ. मैं आपको बता दूँ कि इसके ब्वॉयफ्रेंड ने ही इसकी सील तोड़ी थी और आज भी मैंने इसको चुदने के लिए अच्छे से तैयार किया है. आपको चाहिए, तो आप इसे चोद कर देख सकते हैं. एक बात और भी बता दूँ कि चमेली की बड़ी बहन आशा को भी मैंने ही चोद कर तैयार किया था. अब तो उसको नंगी फिल्मों में काम मिल रहा है. कल उसने बताया था कि अगर डायरेक्टर उससे खुश हो गया … तो वो मां बेटी सब लोगों को फिल्मों में काम करने के लिए ले लेगा. शायद आपने चुदक्कड़ आशा का नाम तो सुना होगा!

प्रिया- हां मैंने सुना भी है और उसकी चुदाई को देखा भी है. मैं उससे मिली भी हूँ … मगर उस रंडी ने मुझे चुदने के लिए एक लंड भी नहीं लेने दिया था.
प्रिया की बात सुनकर सब लोग हंसने लगे थे.

प्रिया आगे बोली- मैं आप लोगों को चैक कर सकती हूँ क्या?
सब लोगों ने हामी भर दी.

दिनकर तो जल्दी से अपनी पैन्ट भी निकालने लगा था.
प्रिया बोली- आप नहीं चचा, मुझे आज औरतों के साथ मजा करना है.

ये सुनकर दिनकर का लंड बैठ गया.
गगन हंसने लगा और बोला- चाचा, आपका नसीब तो गधे के लंड से बंधा लगता है.
उसकी बात पर सब लोग हंसने लगे.

साथियो, देसी सेक्स की मनघड़न्त कहानी के लिए आप मेरे साथ अन्तर्वासना से जुड़े रहें.
अभी इस पड़ोसी सेक्स की कहानी में बहुत रस बिखरने वाला है. अगले भाग में आगे लिखूंगा. आपके मेल और कमेंट्स का इंतजार रहेगा.

[email protected]

पड़ोसी सेक्स की कहानी का अगला भाग: डर्टी चुदाई कहानी