सेक्स की नगरी की रसीली चुदाई की कहानी-4

पब्लिक सेक्स सिस्टम की कहानी में पढ़ें कि एक नगर में खुली चुदाई का रिवाज था. इस रिवाज के चलते एक भाई ने अपनी कुंवारी बहन को कैसे चोदा?

हैलो फ्रेंड्स, मैं अक्षय बाघमारे आपको अपनी सेक्स कहानी में सेक्स की नगरी के चुदाई के रीतिरिवाजों से बंधी एक गर्म कहानी सुना रहा था.
पब्लिक सेक्स सिस्टम की कहानी के पिछले भाग
गली मोहल्ले में खुल्लम खुल्ला चुदाई
अब तक आपने पढ़ा था कि गगन की मां सुम्मी ने सारे नगर के सामने मंच से, अपनी बेटी प्रियंका की सील तोड़ने के लिए उसके भाई गगन का ही नाम लेकर सबको खुश कर दिया था. सुम्मी ने गगन को अपनी बहन की तीन दिन तक खुलेआम चुदाई करने का आदेश दे दिया था.

गगन अपनी बहन को चोदने के लिए आगे बढ़ा और उसके चूचे दबाते हुए बोला कि तुझे तो मैं न जाने कितने दिनों से चोदने की फिराक में था.

अब आगे पब्लिक सेक्स सिस्टम की कहानी:

प्रियंका- जब तू नगर की औरतों को चोदता था, यहां तक को मां को भी, तो मैं यही सोचती थी कि भाई तू मुझे चोद रहा है. आज जाकर तेरा लंड मुझे मिल गया. अब देखती हूँ कि तू मुझे कैसे चोदता है. मां तेरे लंड की बहुत तारीफ करती हैं, जब तू उनको गुस्से में चोदता है.

गगन ने प्रियंका के कपड़े फाड़ दिए. उसकी मां सुम्मी ने भी भरे स्टेज पर अपने सारे कपड़े उतार दिए. सुम्मी अब स्टेज से नीचे आ गई. लोगों को पता था कि गगन अपनी बहन को लगातार 3-4 दिन तक चोदता रहेगा, तब तक किसी को प्रियंका की झांट का बाल भी छूने को नहीं मिलेगा. इसलिए नगर के लोग गगन की मम्मी सुम्मी को ही मसलने लगे.

उधर स्टेज के सामने बने अजय के कमरे में प्रिया भी नंगी हो गई थी, लेकिन लोग उसको चोद नहीं सकते थे. इधर प्रिया कमरे में बंद सब देख रही थी … उसको लोगों की बातों से पता चल गया था कि गगन अपनी बहन को 3-4 दिन तक चोदता ही रहेगा. इस बात से प्रिया को गुस्सा आ गया.

  साजिश और सेक्स की कॉकटेल-3

प्रिया पूरी नंगी थी और अपनी कमर हिलाती हुई बोल रही थी- आह कुत्तों मेरी चुत देखो … चोदो मुझे … उस रंडी सुम्मी के दिन ढल गए और प्रियंका अभी तुमको मिलेगी नहीं. आ जाओ मुझे चाहे जैसा चोद लो … जैसे चाहे फाड़ दो मेरी चुत गांड.

ये सुनकर दो लोगों का लंड सुम्मी की गांड और चुत में तेजी से चलने लगा. प्रिया अपने मम्मों और गांड को हिला हिला कर लोगों को बुला रही थी.

गगन उधर प्रियंका के होंठों को खाने लगा. उसके मम्मों को जोर जोर से दबाने लगा. तभी गगन को कुछ ख्याल आया. उसने माइक पर बोला

गगन- मेरे प्यारे नगर वालों, आज मैं कुछ अलग करने वाला हूँ. आज मेरी बहन अपनी चुत खोल कर रखेगी और मैं दौड़ते हुए उसकी चुत में लंड पेलूंगा. इसी तरह मैं उसकी गांड में भी. आज या तो मेरा लंड नहीं … या मेरी बहन की चुत नहीं.

ये सुनकर उसकी मां सुम्मी मना करने लगी. तब गगन ने अपनी मम्मी को आंख मारकर चुप करा दिया. उसने लोगों को दिखाने के लिए दस कदम से दौड़ लगाई और नजदीक आकर सिर्फ एक झटके में लंड चुत में घुसा दिया.

प्रियंका की चुत फट गई और खून बहने लगा. मगर उसने अपने भाई गगन का लंड बड़े प्रेम से चुत के अन्दर लिया और चुदाई का मजा लेने लगी.

ये देखते हुए प्रिया ने अपनी चुत पर हाथ लगा कर फिर से चिल्लाना शुरू कर दिया.

उसकी चुत लंड मांग रही थी. गगन स्टेज पर प्रियंका को अपने लंड पर उठाए हुए खड़ा था. सब लोग प्रियंका के नंगे चूचे और चुत को देख सकते थे. मगर छू नहीं सकते थे.

गगन अपनी बहन प्रियंका की चुत के होंठों को अपने मोटे लंड से जोर जोर फाड़ने लगा और प्रियंका भी अपनी चुत चुदाई का मजा लेने लगी.

  प्यार भरी जोरदार चुदाई की प्यासी औरत

ये सीन देखकर कुछ लोगों के लंड से खुद ब खुद पानी बहने लगा. चुत चुदाई के बाद गगन ने अपनी बहन प्रियंका की गांड में लंड डाला. प्रियंका की गांड में मोटा लंड घुसा तो दोनों को दर्द होने लगा था. लेकिन फिर भी वो दोनों रुके नहीं.

प्रियंका की आंखों में आंसू आने लगे और गगन भी बर्दाश्त नहीं कर पा रहा था. इसलिए कुछ देर बाद गगन ने लंड गांड से निकाल कर चुत में पेल दिया.

कुछ देर बाद प्रियंका ने अपने भाई से कहा- भाई एक बार फिर से गांड में लंड डालो … हो सकता है कि अब दर्द न हो.

गगन ने अपनी बहन प्रियंका की चुत से लंड निकाल कर उसके गांड में पेला, तो इस बार दोनों को दर्द नहीं हुआ. गगन ने अपनी बहन की गांड मारना शुरू कर दी.

अब सीन ये था कि कभी उसका लंड चुत में जाता, तो कभी गांड में चलने लगता. जब लंड चुत के अन्दर चलता तो प्रियंका को ज्यादा मजा आता था. फिर धीरे धीरे उसे अपनी गांड में भी सुख मिलने लगा था.

इस तरह प्रियंका चार बार स्खलित हुई. आखिरी बार तो इतनी जोर से झड़ी कि उसकी चुत से बाहर पानी आने लगा. गगन ने भी अपना पानी उसकी चुत में छोड़ दिया था.

गगन कभी भी अपनी बहन के चुचे, चुत, गांड जिस पर उसका दिल होता, उस पर थप्पड़ मारता या काट लेता. अब प्रियंका के बदन में ज्यादा जान नहीं बची थी. तब उसने अपने भाई से कुछ देर रुक कर चुदाई करने को कहा.

उधर चमेली भी चुदने को मचल रही थी, वो अपनी चूचियां मसलती हुई गगन को उत्तेजित कर रही थी.

ये देख कर गगन ने विक्रम, जो चमेली का ब्वॉयफ्रेंड था और अभिजीत, जो गगन की गर्लफ्रेंड का भाई भी था, उन दोनों को बुलाया और चमेली को चोदने के लिए कह दिया.

अभिजित ने चमेली को बूब्स पकड़ कर उठाया और किस करते करते उसकी चुत में लंड डाल दिया. गगन विक्रम के लिए चमेली की गांड खोलने लगा. गांड खुली तो विक्रम ने झट से चमेली की गांड में लंड डाल दिया और गगन के साथ मिल कर चमेली को चोदने लगा.

कुछ देर बाद उन दोनों में मस्त चुदाई चालू हो गई.

इधर प्रियंका लस्त पड़ी थी. वो अपने भाई की चुदाई से इतनी ज्यादा बार झड़ गई थी कि उसकी चुत गांड सूज गई थी.

कुछ देर बाद प्रियंका को फिर से चुदने की चुल्ल होने लगी तो वो गगन को बुला कर उसे चोदने के लिए कहने लगी.

गगन प्रियंका पर चढ़ गया और चमेली के साथ विक्रम और अभिजित दोनों लग गए.

इस तरह से तीन दिन तक गगन और प्रियना दोनों को नंगे ही स्टेज पर रखा गया. उन्हें समय समय पर खाना पानी दे दिया जाता था. सुबह शाम नहाने और शौच आदि के लिए घर में जाने दिया जाता था.

इस तरह नियमानुसार तीन दिन तक प्रियंका ने अपने भाई गगन से चुद कर मजा लिया और चुत गांड की सील टूटने की रस्म पूरी हो गई. अब प्रियंका की चुत और गांड नगर के हरेक लंड के लिए खुल चुकी थी.

चौथे दिन से प्रियंका के भाई गगन के दोनों दोस्त विक्रम और अभिजीत प्रियंका को उसी घर में किस कर रहे थे.

कुछ देर बाद प्रियंका गर्म हो गई तो उन दोनों ने उसको डॉगी स्टाइल में खड़ा कर दिया. अब अभिजीत प्रियंका के मुँह को चोदने लगा और विक्रम गांड और चुत को बारी बारी से चोदने लगा.

कुछ देर बाद विक्रम ने अपने लंड का पानी प्रियंका की चुत में डाल दिया. फिर अभिजीत ने भी प्रियंका को चोदा और चले गए.

दूसरे दिन से नगर वाले एक एक करके अजय के घर में आने लगे और सब लोग प्रियंका की चुत चोदकर उसमें अपने लंड का पानी डालने लगे.

नगर वालों के लंड से चुदने के बाद अब प्रियंका के बाप अजय का नम्बर आया. उसने अपनी बेटी को 3 घंटे में चार बार चोदा और उसने हर बार अपनी बेटी की चुत में ही अपने लंड का पानी छोड़ा.

अब तक प्रिया की सजा का सीन देखने की जिम्मेदारी गगन के पास थी. गगन ने तीन दिन तक अपनी बहन प्रियंका को नगर के चौपाल पर बने स्टेज पर चोदा था. फिर उसको प्रिया के साथ अपनी डील याद आई. वो प्रिया के पास आ गया.

इतने दिनों से प्रिया की चुत गांड चुदी नहीं थी, इसीलिए उसे बहुत ज्यादा खुजली हो रही थी.

गगन उसके पास आया तो उसे नंगी देखकर बोला- साली मादरचोद रंडी, अब मैं समझा कि तेरी चुत गांड में इतनी हवस थी. साली रंडी तुझे किसी ने भी हाथ नहीं लगाया, न ही तुझे अपनी चुत को छूने की इजाजत है, फिर भी तू इतनी बार झड़ गई. अभी भी तेरी चुत को देखकर लगता है कि तू अनेक मर्दों से अपनी चुत गांड चुदवाना चाहती है.
प्रिया बोली- हां … मुझे पूरे नगर के लंड से चुदना है.

गगन- ठीक है, मैं कुछ करता हूँ. मैं अपनी बात पूरी कर दूंगा मगर तेरी बात भी पूरी होनी चाहिए.
प्रिया- हां, पता है … मेरी कुछ मस्त सहेलियां हैं. वो सब मेरे कहने पर तेरे लंड के नीचे आएंगी. मैंने उन सबसे इस नगर के रीति रिवाज के बारे में भी बताया और अपनी डील के बारे में भी बताया है. वो सब तुमसे चुदना चाहती हैं. तुम दिल्ली आ जाना. वहां मेरी सारी सहेलियों के घर हैं. तुम उनकी जितनी चाहो चुदाई कर लेना. और रही बात हमेशा के लिए … तो अगर तू बाहर की लड़की शादी करेगा, तो तू सबको चोद सकता है. तुझे एक भी रिवाज नहीं पड़ेगा मानना.

इन शॉर्ट तू चुत का किंग बन जाएगा. स्टेज पर लड़की की मां पर भी तेरा हक पहला होगा. तेरी पेशाब भी वो सब पिएंगी. अगर तू चाहेगा कि तेरी वाइफ को सिर्फ तू ही चोदेगा … तो तेरे अलावा उसे कोई और नहीं चोद सकता. तू उनको पहले चोद कर देख ले, फिर जो पसंद आ जाए, उससे शादी कर लेना. तेरी लाइफ सैट हो जाएगी.

प्रिया जब ये कह रही थी, तब गगन ने उसी तरफ एक डिल्डो फेंका था. प्रिया जब वो उठाने उठी, तो गगन ने कहा कि तू तो कह रही थी कि तुझे नकली लंड से मुहब्बत नहीं है. फिर भी तू डिल्डो के लिए तड़प रही है.

प्रिया कसमसा कर रह गई.

गगन ने पूछा- अब बोल तेरी सजा पूरी करवाऊं या नहीं!
प्रिया ने हथियार डालते हुए कहा- वैसे तूने अपनी बहन प्रियंका की चुत बहुत अच्छे से चोदी है. मुझे भी चोद दे यार … बाद में तू और मेरी मां और बहन को भी चोद लेना. उनको भी सुख मिलना चाहिए. तेरी चुदाई देखते देखते वो न जाने कितनी बार झड़ गई थीं.

कुछ देर यूँ ही बातें करने के बाद गगन उससे बाद में आने की कह कर चला गया.

गगन जब अपने घर आया तो उसने देखा कि उसका बाप अजय अपनी बेटी प्रियंका के मम्मों को चूस रहा था. उसकी बहन प्रियंका भी मजे से अपने दूध अपने बाप से चुसवा रही थी. सामने सिफे पर उसकी मां नंगी बैठी अपनी चुत रगड़ रही थी. ये देख कर गगन अपनी मां के पास चला गया और उसके मुँह में लंड देकर उससे अपना लंड चुसवाने लगा.

कुछ देर बाद उन सबकी चुदाई खत्म हुई तो गगन ने बताया कि चलो अब प्रिया की चुदाई का खेल शुरू करने का वक्त आ गया है. वो भी सारे नगर के लंड के लिए तड़फ रही है.

सबने अपने कपड़े पहन लिए और गगन के साथ घर से नजदीक नगर की चौपाल के पास बने स्टेज के पास आ गए.

नगर की रीति रिवाज के अनुसार प्रिया के सामने ही नगर के सब लोग चुदाई करेंगे और उसकी चुत की आग को भड़काएंगे.

कुछ ही देर में नगर की 8 मदमस्त लड़कियां और 3 औरतें स्टेज पर आ गईं और प्रिया को स्टेज पर लाकर बिठा दिया गया. वो सारी औरतें और लड़कियां अपनी चुत की चुदाई करवा रही थीं. उस चुदाई के रंगारंग कार्यक्रम में जोड़ों की संख्या बढ़ती चली गई और अब गगन की बहन प्रियंका और मां सुम्मी भी शामिल हो गईं. नगर के सारे मर्द भी किसी भी लड़की को पकड़ कर चोदने में लगा था.

गगन ने प्रिया के पैर फैला दिए ताकि उसकी चुत और गांड सबको दिखे. अब सब लोग प्रिया की चुत से बहता हुआ पानी देख सकते थे.

गगन अपनी मां को चोदते हुए अलग हुआ और उसने नगर की एक मस्त लड़की को उठा कर प्रिया को दिखाया.

गगन- देख मादरचोद साली रंडी प्रिया, इसे कहते हैं खुल्लम खुला चुदाई. देख इसकी चुत और गांड चुद चुद कर कितनी लाल हो गई है. फिर भी चुदाई के लिए इस रंडी कुतिया की कमर उछाल मार रही है. पता है ये अपनी चुत के लिए एक लड़के का लंड देखने गई थी, तो साली को उस लड़के का लंड इतना पसंद आया कि बिना शादी किए ये एक साल तक उसके पूरे परिवार से चुदती रही. इसको बच्चा हो गया, अब बच्चा देने के बाद फिर से चुदने के लिए आ गई. अब मैंने इसको चोदकर फिर से मां बना दिया. अब ये सिर्फ मुझसे ही चुदती है. उधर देख, इसका पति इसकी मां को चोद रहा है.

ये सब कामुक बातें सुन कर प्रिया अपनी चुत में उंगली करने लगी और कमर उछाल कर एक बार और झड़ गई.

पूरे दस दिन तक ऐसा ही होता रहा. रोज चार घंटे तक प्रिया को स्टेज पर नंगी ही बिठा दिया जाता और हर रोज उसके सामने चुदाई का मजमा लगा रहता.

फिर आखिरी दिन पंचायत ने प्रिया की सजा माफ कर दी. तो उस दिन गगन, विक्रम, अभिजीत, गगन का बाप अजय मिलकर प्रिया की चुत चाटने आगे आ गए. गगन की बहन प्रियंका और मां सुम्मी ने प्रिया को उठा कर हवा में कर दिया, जिससे उसकी चुत बूब्स गांड सब ढंग से चाटी जा सकें.

इतने दिनों से प्रिया का शरीर लंड के सुख से दूर था तो वो कुछ ज्यादा ही झड़ने लगी थी.

तभी गगन ने प्रिया से इशारे से पूछा कि पेशाब पीने का मन है.

प्रिया ने हां कहा, तो गगन अपना लंड हिलाने लगा. ये सब गगन की मां और बहन देख रही थीं.

गगन प्रिया के मुँह में लंड रख कर उसके मुँह को चोदता रहा और उसके मुँह में ही पेशाब करता रहा.

प्रिया ने गगन के लंड सारा पानी और पेशाब पी लिया. ये देखकर प्रियंका को भी गगन के दोस्त विक्रम की पेशाब पीने की चाहत जाग उठी.

उसने विक्रम का लंड मुँह में ले लिया और उससे लंड के माल के साथ साथ पेशाब भी मुँह में गिराने की मंशा जता दी.

आखिरकार प्रियंका ने विक्रम के लंड का पानी और पेशाब पी लिया और खुश हो गई.

फिर तीनों दोस्तों और अजय ने मिलकर प्रिया की चुत गांड को चोदकर उसकी आग बुझा दी. फिर तो मानो सारे नगर के ठरकियों का तांता लग गया … वो सब अपने खड़े लंड लेकर आते और बारी बारी से प्रिया की चुत चोदकर आगे बढ़ जाते. प्रिया की चुत भंग भोसड़ा बन गई थी.

ऐसे चुदक्कड़ नगर के रीतिरिवाजों के चलते ही उधर सेक्स को पवित्र माना जाता है.

दोस्तो, इस नगर में पब्लिक सेक्स सिस्टम से चुदाई होती रही … और होती रहेगी. आपको कहानी कैसी लगी, मुझे मेल लिख कर जरूर बताइए.

[email protected]

ट्यूशन पोर्न वीडियो – क्लासरूम में पढाई और चुदाई