मौसी के बेटे से गीली चूत चुदवाई

कजिन ब्रो सिस सेक्स कहानी मेरे मौसेरे भाई के साथ मेरी चूत की चुदाई की है. मैं मौसी के घर गयी थी, वहां अपने बॉयफ्रेंड के साथ वीडियो सेक्स कर रही थी.

दोस्तो, आप सब कैसे हैं, मैं दुआ करती हूँ कि सब स्वस्थ होंगे और लॉकडाउन में चुदाई की कहानियों का मजा ले रहे होंगे.

Enjoy this Antarvasna Audio Story.

मैं आगे बढ़ने से पहले आपको अपने बारे में बता देती हूँ. मेरा नाम अनामिका है और मैं अभी 24 साल की हूँ. मैं हरियाणा की रहने वाली हूँ. मेरी शादी को अभी डेढ़ साल ही हुआ है, मैं अपने पति से पूरी तरह से संतुष्ट हूँ और हम दोनों बिस्तर में हर तरह से मजे करते हैं.

मेरा फिगर साइज़ 34बी-30-34 का है. मेरी चुचियां एकदम कड़क और सुडौल हैं. जब मैं साड़ी पहनती हूँ तो ब्लाउज में से मेरी चूचियों की घाटी एकदम अलग सी दिखती है.

मेरी पिछली कहानी थी: जीजाजी के साथ ट्रेन में 69 का मजा

ये कजिन ब्रो सिस सेक्स कहानी आज से 5 साल पहले की है, उस समय मैं ताज़ी ताज़ी जवान हुई थी और 19 साल की कमसिन, कमचुदी चुत वाली लौंडिया थी.

मैं दिखने में एकदम ऐसी सेक्सी और हॉट थी कि कोई बूढ़ा भी मेरी ठुमकती जवानी को देख ले, तो उसका लंड भी खड़ा हो जाएगा और उसका मुझे चोदने का मन करने लगेगा.

उस समय मेरे कॉलेज के एग्जाम खत्म हुए ही थे कि मेरा मन कहीं घूमने जाने के लिए करने लगा.

मैंने से मम्मी से कहा, तो उन्होंने कहा कि मैं कुछ दिन के लिए मौसी के घर चली जाऊं.

मैंने बैग लगाया और अगले दिन ही अपनी मौसी के घर चली गई.

मौसी का घर एक छोटे से कस्बे में है. मेरी मौसी मम्मी से छोटी हैं और उनको सिर्फ़ एक ही बेटा है. मौसी का घर काफ़ी बड़ा है, उसमें 5 बेडरूम हैं.

  देवर और उसके दोस्त ने मेरी चूत गांड मार ली-1

जब मैं मौसी के घर पहुंची तो घर पर सिर्फ़ मेरा मौसेरा भाई था. मौसा मौसी मार्केट गए हुए थे.

उसने मुझे देखा तो वो बड़ा खुश हुआ और मुझसे लिपट गया.
फिर उसने मुझे अन्दर बुलाया.

मैंने पूछा- मौसी कहां हैं?
उसने बताया कि पापा मम्मी मार्केट गए हैं.

फिर उसने मुझे पानी लाकर दिया और कुछ पल बाद जूस निकाल कर ले आया.

हम दोनों बात करने लगे.

मैंने एक रफ जींस ओर गहरे गले वाला टॉप पहना था जिसमें से मेरी क्लीवेज साफ़ दिख रही थी.

मुझसे बात करते करते मेरा मौसेरा भाई मेरी क्लीवेज ही देख रहा था.
मैंने उसकी नजरों को भांप लिया पर उससे कुछ नहीं कहा.

इतने में मौसा मौसी भी आ गए.
मैं मौसी से मिली तो मौसी बोलीं- जा पहले फ्रेश हो जा. तब तक मैं खाना बना देती हूँ.

मैं ऊपर के रूम में चली गई. मैं मौसी के यहां जब भी जाती हूँ, तो गेस्ट रूम में रहती हूँ. क्योंकि मुझे रात को ब्वॉयफ्रेंड से भी बात करनी होती है.

मैंने रूम में फ्रेश होकर कपड़े चेंज किए. शॉर्ट्स और टी-शर्ट पहन कर नीचे आ गई.

हम सबने डिनर किया और थोड़ी देर बात करने के बाद सब सोने चले गए.

मैं रूम में आकर अपने ब्वॉयफ्रेंड से बात करने लगी.

बात करते करते मेरा ब्वॉयफ्रेंड वीडियो कॉल की ज़िद करने लगा.

तो हम दोनों वीडियो कॉल कर रहे थे.
मेरे ब्वॉयफ्रेंड ने मेरी चूचियां देखने की ज़िद की.

मैंने अपनी टी-शर्ट और ब्रा उतार दी और उसे अपनी चुचियां दिखाने लगी.

मुझे नहीं पता था कि मेरा मौसेरा भाई मुझे दरवाजे की झिरी में से देख रहा है.
मैं मजे से अपने ब्वॉयफ्रेंड को चुचियां दिखा रही थी और अपनी चूची पकड़ कर उसे चूसने को ललचा रही थी.

यूं ही बात करते करते मैं भी काफी गर्म हो गई थी.

मैंने अपनी शॉर्ट्स भी उतार दी और अपने ब्वॉयफ्रेंड को चुत दिखा कर अपनी चुत में उंगली करने लगी.

इतने में ही नेटवर्क इश्यू की वजह से कॉल कट गई और मेरी चुत की प्यास अधूरी भी रह गई और बढ़ भी गई.

मैं ऐसे ही लेट गई.
मुझे पता ही नहीं चला कि कब मेरा भाई अन्दर आ गया.

मैं आंख बंद करके अपनी चुत में उंगली कर रही थी कि किसी तरह चुत शांत हो जाए.

तभी मेरे मौसेरे भाई ने मेरी एक चूची को अपने हाथ में पकड़ लिया.
मैं एकदम से डर गई.

मैंने आंख खोल कर देखा तो सामने भाई खड़ा था.
मैं पूरी नंगी थी तो एकदम से उससे दूर हटी और खुद को चादर से ढक लिया.

मैंने उससे पूछा- ये क्या कर रहा है?
वो बोला- तू बता, तू ये सब क्या कर रही थी?

मैं- तू कमरे में अन्दर कैसे आया?
वो बोला- तेरा दरवाज़ा खुला था. मैं तो तुझे दूध देने आया था. पर यहां तो तू ही अपने दूध दिखा रही हैं.

मैं- क्या बकवास कर रहा है … जा यहां से!
वो बोला- अब तो कुछ लेकर ही जाऊंगा … नहीं तो मम्मी को सब बताऊंगा कि तू क्या कर रही थी.

मैं- प्लीज़ यार, ये सब किसी को कुछ मत बताना. मैं बस अपने शरीर की मालिश कर रही थी. आ इधर बैठ जा … बोल तुझे क्या चाहिए?
वो बोला- मैंने तेरा सब कुछ देख लिया है और अब मुझे तेरे साथ चुदाई करना है.

मैं गर्म तो थी ही मगर सामने मेरा मौसेरा भाई था तो थोड़ी हिचक हो रही थी.

मैंने कहा- यार ये ठीक नहीं होगा. हम दोनों भाई बहन हैं.
वो बोला- ये सब फ़ालतू की बात होती है बहना. रात के अंधेरे में सिर्फ लंड चुत का खेल चलता है. तू इस समय गर्म है और अपनी चुत का रस टपकाने को मचल रही है. मेरे लौड़े से मस्ती कर ले … तुझे पूरा मजा मिलेगा.

मैं भी समझ गई थी कि मेरा भाई मुझे चोदकर ही मानेगा. मैं भी गर्म थी और अपनी चुत में लंड की जरूरत महसूस कर रही थी.

तब भी मैंने कहा- अच्छा चल मैं तेरी मुठ मार देती हूँ.
वो बोला- नहीं, मुझे तेरी चुत मारनी है.

अब आग तो मेरी चुत में भी लगी हुई थी तो मैंने कहा- ठीक है, पर बस तू एक बार ही करेगा, उसके बाद नहीं … और ना ही तू इस बात को किसी को बताएगा.
वो बोला- ठीक है.

सेक्सी कॉलेज गर्ल ने टीचर से स्कर्ट उठा के चूत मरवाई

इतना कह कर उसने मेरी चादर हटा दी और मुझे किस करने लगा.
मैं भी उसका साथ देने लगी और उसे किस करने लगी.

मुझे किस करते करते वो मेरी चूचियां मसलने लगा. मुझे भी उसके साथ मजा आने लगा.

वो मेरी रसभरी चुचियों को दबाते हुए मेरी गर्दन पर किस करने लगा.
मैं इससे और भी ज़्यादा तड़प उठी और मैंने उसका कड़क लंड उसकी पैंट के ऊपर से ही पकड़ लिया. मैं अपने भाई का लंड दबाने लगी और जल्दी ही उसकी टी-शर्ट उतार दी.

वो मेरी नंगी चुचियों को ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा और अपने हाथ से दबाने लगा.
मुझे भी मजा आ रहा था.

वो काफ़ी देर मेरी चुचियां चूसने के बाद मेरी चुत की तरफ आ गया और बोला- सच में तेरी चुत एकदम चिकनी है. क्या आज ही साफ़ की है?
मैं- मैं इसे हर समय साफ करके ही रखती हूँ.

वो बोला- ये तो बड़ी अच्छी बात है. इसे चाटने में और भी मजा आएगा.
मैंने कहा- तो चाट ना भैनचोद … रुका क्यों है!

मेरे इतना कहते ही वो मेरी टांगों के बीच में आ गया और मेरी चुत चाटने लगा.
उसके चुत चाटने से मैं और ज़्यादा तड़प उठी और अपनी कमर उठा कर उसके मुँह में अपनी चुत देने लगी.

वो मेरी चुत के अन्दर तक जीभ पेल कर चाटने लगा.
कुछ ही देर में मेरी चुत का पानी निकल गया. वो चुत का रस चाटता चला गया और उसने मेरी चुत चाट कर एकदम क्लीन कर दी.

मैं इतने में फिर से चार्ज हो गई थी.

अब वो उठा और मेरी तरफ इशारा करने लगा.
मैं समझ गई.

मैंने उसकी पैंट और अंडरवियर एक साथ उतार दी.

उसका लम्बा मोटा लंड मेरे दिल को खुश कर देना वाला था.
पूरा 7 इंच लम्बा और किसी खीरे जैसा मोटा लंड था.

मैंने उसका लंड हाथ में ले लिया और सुपारे पर किस करने लगी.
भाई बोला- वाह मेरी रंडी बहना … तू तो खुद शुरू हो गई.

मैं हंस दी और उसका लंड चूसने लगी.
उसका लंड एकदम लोहे जैसा टाइट हो गया था.

मैंने कहा- अब जल्दी से इसे मेरी चुत में पेल दे. मुझसे और नहीं रहा जाता.
वो बोला- हां मेरे लंड में भी आग लगी है इसे तेरी चुत के अन्दर पेल कर ही शांत करूंगा. जल्दी से चित लेट जा.

मैं लेट गई और वो मेरे ऊपर चढ़ गया.
उसने अपना लंड मेरी पर चुत पर सैट किया और एक झटका दे मारा.

उसका आधा लंड चुत में सरसराता चला गया.
एकदम से लंड डालने से मुझे ज़ोर से दर्द हुआ.

मैंने दर्द से कराहते हुए कहा- साले भोसड़ी के … मारेगा क्या … मैं कहीं भागी नहीं जा रही हूँ. आराम से चोद ले.
वो भी गाली देते हुए बोला- साली रंडी … चुत चोदने का असली मजा तो ऐसे ही आता है.

उसने एक और तेज झटका मारा और अपना पूरा लंड चुत में जड़ तक पेल दिया.
मैं अपने होंठ भींच कर उसके लंड का दर्द जज्ब करने लगी.

वो एक पल रुका और मेरी चुत चोदने लगा.

मैंने उससे कहा- साले एक मिनट तो रुक जा.
पर उसने मेरी एक ना सुनी और मुझे ताबड़तोड़ चोदने लगा.

कुछ पल के बाद मुझे भी लंड के मजे आने लगे और मैं अपने भाई से खुल कर चुदवाने लगी.

अब मैं ज़ोर ज़ोर से बोलने लगी- आह भाई चोद दे भैनचोद … आह ज़ोर से चोद भोसड़ी के.
वो भी जोश में मेरी चुत चोदने लगा.

लगातार बीस मिनट की चुदाई के बाद हम दोनों का पानी निकल गया और हम दोनों एक दूसरे से चिपक कर अपनी सांसें ठीक करने लगे.

अब भाई बोला- क्यों मेरी रंडी, चुदने में मजा आया?
मैं हंस दी और बोली- हां यार … तेरा लंड मस्त है.

कुछ देर बाद मैं उसका लंड फिर से चूसने लगी.
उसने फिर से एक बार मेरी चुदाई की और अपना पानी निकाल कर मेरे ऊपर लेट गया.

वो बोला- आज मैं तेरी चुत में लंड डाल कर ही सोऊंगा.
मैंने हां कह दी, मुझे भी उसका लंड चुत में लेकर सोने का मन था.

फिर वो मेरी चुत में ही लंड डाल कर सो गया.

सुबह 4 बज उठ कर उसने मुझे फिर से चोदना चालू कर दिया.
मुझे भी मेरे भाई का लंड पसंद आ गया था.

उसने बाद की रातों में मुझे हर आसन में पेला … मेरी चुत को पीछे से चोदा … साइड से चोदा. मुझे अपने लंड की सवारी करवाई.

मैंने भी उसे अपनी चुत चुसवाई और चूचियों का रस पिलाया.
वो मेरी गांड मारने के लिए भी कह रहा था मगर मैंने उससे अपनी गांड नहीं मरवाई.

हालांकि ब्लू फिल्म में गांड मरवाने वाली फिल्म देख कर मेरा कई बार मन हुआ मगर आप सब जानते ही हैं कि ब्लू-फिल्म की ऐक्ट्रेस गांड मरवाने की ट्रेनिंग लेती हैं, तभी वो बड़े बड़े लौड़े अपनी गांड चुत में एक साथ ले पाती हैं.

अब मैंने अपने भाई के साथ गांड मरवाने का मन बनाया है और आजकल मैं अपनी गांड में मोमबत्ती डाल कर इसे लंड के लायक कर रही हूँ.

जैसे ही मेरी गांड लंड लेने लायक हो जाएगी, मैं अपने भाई से ही अपनी गांड मरा लूंगी.
फिर अपनी गांड चुदाई की कहानी आप सभी के साथ साझा करूंगी.

मैं मौसी के 10 दिन रुकी और 10 के 10 दिन उसने मुझे रोज चार बार चोदा.

उसके बाद भी उसने मुझे काफ़ी बार चोदा.

अब अगली बार मेरी कोशिश रहेगी कि उससे अपनी गांड की ओपनिंग भी करवा लूं.

आपको मेरी कजिन ब्रो सिस सेक्स अन्तर्वासना ऑडियो स्टोरी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करें.
[email protected]

पंजाबी भाभी की गीली चूत चाट कर फाड़ी