चार से बेहतर ग्रुप सेक्स- 3

न्यूड सेक्स पार्टी स्टोरी में पढ़ें कि एक रिसोर्ट में कैसे बहुत सारे कप्ल्ज़ मिलकर चुदाई का मजा लेते हैं. किसी को नहीं पता कि चोदने वाला कौन और चुदने वाली कौन!

कहानी के पिछले भाग
डांस फ्लोर पर अदल बदल कर चूमा चाटी
में आपने पढ़ा कि

एनाउंसमेंट हुआ- हम शो शुरू कर रहे हैं। सब जोड़े मूड बना लें. म्यूजिक शुरू होते ही हमारा स्टाफ़ बाहर चला जाएगा, आप लोग डांस करते हुए फ़ेलोशिप शुरू करें और इस रात को एक यादगार रात बना लें। आप अपने कपड़े अपने सोफ़े पर ही छोड़ दें।

सभी की धड़कनें बढ़ गईं थीं। इन चारों ने एक दूसरे के हाथ थाम लिए थे।

हाल में अंधेरा हुआ, म्यूजिक चालू था।

अब आगे न्यूड सेक्स पार्टी स्टोरी:

सभी ने अपने अपने कपड़े और मास्क उतार फेंके और हूटिंग करते सभी जोड़े सोफ़े से हटकर बीच में गद्दों पर आ गए।
सभी आपस में चिपट गए थे और चूमा चाटी शुरू हो गयी।

दीपा ने शिखा को मनीष से खींचा और अपने होंठ भिड़ा दिये उसके होंठों से!
शिखा ने दीपा की चूत में उंगली कर दी।

दीपा के अलग होते ही अनिल की बाँहों में बिल्कुल बगल में चिपटे जोड़े की लड़की आ गयी और दोनों ने अपने होंठ भिड़ा दिये।

उस लड़की ने अनिल का लंड टटोला और उसकी शॉर्ट्स से बाहर निकाला और नीचे बैठ गयी।
उसने अनिल का तनतनाता लंड अपने मुंह में ले लिया और सुड़पने लगी।

उसका आदमी बगल में चिपटती दीपा शिखा के पास गया।

शिखा दीपा को नीचे लिटाकर उसकी चूत चूस रही थी।

उस आदमी ने दीपा के मुंह के आगे अपना फनफनाता लंड किया, मानो चुसवाने की रेक्वेस्ट कर रहा हो।

दीपा ने ऊपर देखा, चेहरा नहीं दिखाई दिया पर लंड उसके हाथ से टकरा गया। उसने हाथ बढ़ाकर उसका लंड मुंह में ले लिया।

  ममेरे भाई बहनों की रातभर चोदम चोद चली

उसने शिखा से अपनी चूत छुड़ाई और घूमकर घोड़ी बनकर उस आदमी का लंड चूसने लगी.

तभी उसे पीछे से कोई लंड अपनी गांड पर टक्कर मारता लगा।
पीछे मुड़ कर देखा तो कोई विदेशी था … लंबा गोरा और मोटा लंड!

दीपा ने मुस्कुरा कर उसका लंड पकड़ कर पहले तो थूक से चिकना किया फिर पीछे से अपनी चूत में ले लिया।

तभी कहीं से एक लड़की दीपा के आगे लेट गयी और उसका मुंह अपनी चूत में किया।

अब दीपा की जीभ उस लड़की की चूत में थी और गोरे का लंड उसकी चूत में धक्के मार रहा था।

शिखा दीपा से छूटी तो उसे एक बलिष्ठ बाँहों ने थाम लिया और वो उसे लेकर नीचे पसार गया और 69 होकर अपना लंड शिखा के मुंह में और शिखा की चूत में अपनी जीभ दे दी।

शिखा को उसके लंड में मजा नहीं आया तो वो उसे सरककर उठ खड़ी हुई।

बराबर में मनीष किसी गोरी की चुदाई कर रहा था।
मनीष उस गोरी के ऊपर मिशनरी पोजीशन में लेट कर उसे चोद रहा था और उस गोरी ने अपनी टांगें पूरी ऊपर उठा रखीं थीं।

उनके बराबर ही एक लड़के के ऊपर एक लड़की बैठ कर उछल कूद कर रही थी।

वो जैसे ही हटी, शिखा झट उस आदमी के लंड के ऊपर बैठ गयी और उसे पूरा अपनी चूत में कर लिया।

हाँ … अब आया मजा शिखा को!
क्या मोटा लंड था … वो नीचे से उछल रहा था!
उसे भी शिखा से मजा आ रहा था।

अब वो नीचे से उठा और शिखा के मुंह में अपना रस से भीगा लंड कर दिया।

हालांकि शिखा को घिन आई, पता नहीं किस किस की चूत से होता आया एक अनजान लंड था, पर इस समय सोचने का टाइम कहाँ था, वो कुछ कहती इससे पहले एक मोटा लंड उसकी चूत में पीछे से घुस गया और उसने झुककर उसके मम्मे भी दबोच लिए।

तभी न्यूड सेक्स पार्टी में डिस्को लाइट्स कुछ सेकंड के लिए तेज रोशनी में जगमग करीं।

इससे कोई किसी को पहचान तो नहीं पाया पर एक अजीब चुदाई का नजारा सबकी आँखों में घूम गया।
सभी जोड़े चुदाई में लगे थे।

यहाँ भी दीपा के मम्मों की आफत आ गयी थी।
जो भी लंड उसके मम्मे छू लेता वो सबसे पहले उन्हें चूसता फिर उसकी चुदाई करता।

दीपा ने अपने बगल में एक गोरी को चुदते देखा तो वो जाकर उस गोरी से चिपट गयी और उसके मम्मों को चूमने लगी।

गोरी को चोदने वाला हट गया तो दीपा उस गोरी के ऊपर पूरा लेट गयी और भींच कर उसकी चूत से अपनी चूत रगड़ने लगी।

एक लंबा और मोटा लंड तभी दीपा की गांड की दरार में घुसने लगा तो दीपा हँसती हुई पलट गयी और दोनों लड़कियों के बीच वो जवान आ गया।

अब दोनों ने मिलकर उसका सेंडविच बनाया।
वो दीपा के होंठों पर अपने होंठ भिड़ाये था तो उसकी पीठ पर वो गोरी चिपटी हुई थी और उसके लंड से खेल रही थी।

गोरी को उसका लंड भा गया था तो वो उस लड़के को सीधा करके उसके ऊपर लेट गयी और अपने हाथ से उसका लंड अपनी चूत में कर लिया।

दीपा भी उठ कर उसके मुंह पर बैठ गयी.
और उस लड़के ने अपनी जीभ दीपा की चूत में कर दी।

दीपा को मजा आ रहा था, उसने आगे बढ़कर उस गोरी लड़की के होंठों से अपने होंठ भिड़ा दिये।

शिखा के मन में अब एक साथ दो लंड लेने की थी।
उसके बराबर में जो जोड़ा चुदाई कर रहा था, उसमें से लड़की जैसे ही अलग हुई, झट शिखा उस आदमी के ऊपर चढ़ गयी.

और चूमा चाटी के दौरान जब शिखा ने उसका लंड टटोला तो उसे मजा आ गया।
खूब लंबा लंड था।

शिखा ने उस लड़के से फुसफुसाकर कहा- मैं तुम्हारा लंड अपनी चूत में चाहती हूँ पर नीचे से! तुम लेटे रहो मैं ऊपर आती हूँ!

कह कर शिखा उसके ऊपर पीठ के बल लेट गयी और अपने पैर चौड़ा कर अपने हाथों से उसका लंड अपनी चूत में कर लिया।
वो नीचे से धक्के लगा रहा था और अपने हाथों से शिखा के मम्मे दबा रहा था।

तभी एक गोरा बांका लड़का उनके पास आया और पहले तो उसने अपना लंड शिखा के मुंह में दिया।

जब शिखा ने उसे चूस कर थूक लगा कर चिकना कर दिया तो उसने बड़ी सावधानी से बैलेन्स करते हुए शिखा की चूत में नीचे वाले के लंड के साथ अपना लंड भी पेल दिया।

शिखा की तो मानो जान ही निकल गयी।
कुछ सेकंड तो उसको लगा कि वो मर ही जाएगी, पर नीचे वाले का लंड अपने आप ही बाहर निकाल लिया तो गोरे ने शिखा को बराबर में लिटाया और घमासान चुदाई शुरू की।

शिखा को लगा की बस ये आखिरी लंड है, अब इसके बाद वो और नहीं चुद पाएगी।
अब तक वो कई लंड ले चुकी थी।

इस गोरे की चुदाई तो कमाल थी।
भरपूर स्पीड और जोश से वो शिखा की टांगें ऊपर कर के चोद रहा था।

अब औरों की तरह शिखा की भी वासनामयी आहें निकलनी शुरू हो गयी थीं।
वो अँग्रेजी में उस गोरे को तेज चुदाई करने के लिए उकसाती रही।

गोरे को भी उसकी चूत में मजा आ रहा था।

खूब धकापेल के बाद उस गोरे ने हांफते हुए उससे कहा- स्वीटहर्ट, आई एम कमिंग …
कह कर उसने शिखा की चूत अपने माल से भर दी।

शिखा ने पास रखे टिशू पेपर के डिब्बे से टिशू निकाले और अपनी चूत को पौंछा और उस गोरे को थैंक्स बोला।

जैसे ही गोरा गया एक और आदमी ने उसे दबोचा पर शिखा ने उसे होंठों पर चूम कर कहा- मैं वाशरूम जा रही हूँ.

अनिल और मनीष के तो मजे आ गए थे।

दोनों ने 6-7 लड़कियां चोद ली थीं और एक एक बार माल निकाल कर वो अपने अपने सोफ़े पर बैठ कर बीयर की चुसकियाँ ले रहे थे।

तभी शिखा आई और मनीष की गोदी में बैठ गयी और उसकी केन लेकर बीयर पीने लगी।
वो बोली- बहनचोदों ने आगे पीछे चोद चोद कर मेरी चूत का तो भोसड़ा बना दिया है।

मनीष ने हँसते हुए पूछा- गांड मरवाई या नहीं?
तो शिखा बोली- मदरचोदों को आगे से फुर्सत मिलती तो पीछे का छेद देखते।

अनिल बैठा बैठा मुस्कुरा रहा था.

तभी एक खूबसूरत सी लड़की आई और अनिल को उठा कर ले गयी।

वो दोनों वहीं खड़े होकर चूमा चाटी करने लगे। अनिल तो उसके मम्मों पर पिल गया।

उस लड़की ने अपने मम्मे उससे छुड़ाये और नीचे बैठ कर अनिल का लंड अपने मुंह में ले लिया।
वो घुटनों के बल बैठ कर घोड़ी बन कर उसका लंड चूस रही थी कि मनीष ने शिखा को हटकर पीछे से उस लड़की की गांड में खूब सारा थूक लगा कर उसकी गांड में अपना लंड पेल दिया।

एक बार तो वो लड़की बोली- पीछे नहीं, आगे करो।
पर अब तक मनीष पूरा घुसा चुका था और वो लड़की भी लंड चुदाई को एंजॉय कर रही थी।

शिखा चीखी- मनीष तुम नीचे लेटकर उसकी गांड मारो और अनिल तुम आगे से इसकी चूत में घुस जाओ।
इस पर वो लड़की बोली- और तुम किससे गांड मरवाओगी अकेली? तुम भी आ जाओ। मैं अकेली तुम तीनों की माँ चोद दूँगी।

मनीष नीचे लेट गया और नीचे से अपना लंड उसकी गांड में घुसा दिया.
ऊपर से अनिल ने उसकी चूत में अपना लंड पेल दिया.

और बची शिखा तो वो पैर चौड़ा कर उस लड़की के मुंह पर बैठ गयी।
उस लड़की ने अपनी जीभ शिखा की चूत में घुसा दी।

शिखा ने आगे झुककर उसके मम्मे मसलने शुरू किए।
अब चारों अपना हुनर दिखा रहे थे।

पर तारीफ थी उस लड़की की चुदास की कि उसके हर छेद में चुदाई हो रही थी।

अनिल को चोदते चोदते दीपा का ख्याल आया तो उसने शिखा से पूछा- तेरी सहेली कहाँ है?
तो शिखा से पहले वो लड़की बोली- देख बगल में दो दो लंड पेल रहे हैं उसे! वो तुम्हारे पास आ रही थी कि बीच में चुद गयी। उसी ने भेजा है मुझे तुम्हारे पास।

अनिल ने देखा तो वाकई दीपा घोड़ी बनी अपने मुंह में एक लंड और एक लंड पीछे से अपनी चूत में लेकर चुदवा रही थी.
जैसे ही दोनों की निगाहें मिलीं तो दीपा बोली- अरे हरामियों मर जाएगी बिचारी, तुम तीनों मिल कर पेल रहे हो उसे!

अब चुदाई का आखिरी दौर चल रहा था सभी का … जिस जिसका लंड खाली होता जा रहा था वो सुस्ताने अपने अपने सोफ़े पर आता जा रहा था।

तभी दीपा की चूत भी उसके लंड ने अपने माल से भर दी।
इधर अनिल भी अपना माल उस लड़की की चूत में खाली कर चुका था।

अनिल ने ढेर सारे टिशू उठाए और उस लड़की और दीपा को दिये।

अब चारों सोफ़े पर आकार बराबर की टेबल पर रखे स्नाक्स खाने और बीयर पीने लगे।

1 बज गया था।
चारों थक गए थे पर चुदास अभी बाकी थी।

सभी ने तय किया कि दस मिनट बाद गद्दों पर फिर जाएँगे और किसी नए के साथ चुदाई का एक राउंड और मारेंगे।

पर दस क्या … पाँच मिनट बाद ही दीपा शिखा का हाथ पकड़कर गद्दे पर ले गयी, जहां जाते ही वो किसी के साथ चूमा चाटी में लग गईं।

इधर मनीष और अनिल के लंड तो अभी पूरे खड़े नहीं हो पाये थे तो वो वहीं बैठ कर बीयर का मजा लेते रहे।

अब गद्दों पर लड़कियां ज्यादा थीं और लड़के कम … तो लड़कियां आपस में 69 होकर एक दूसरे की चूतों को चाटने लगीं।
कभी कोई लंड आकर पीछे से उनके ऊपर लेट जाता और उनकी गांड या चूत में घुस जाता।

दीपा शिखा के साथ ही थी।
वो उससे बोली- चल गांड मरवाती हैं.
पर शिखा बोली- पूरी रंडी बन जा … गांड फट गयी तो हनीमून की माँ चुद जाएगी।

तभी दो लड़के उधर से गुजरे तो दीपा ने उनमें से एक का लंड पकड़ लिया और अपने होंठ उस लड़के के होंठ से भिड़ा दिये।

दूसरा लड़का भी रुक गया तो दीपा बोली- क्यों तुम्हारी गांड में दम है या नहीं?
बस अब क्या था उस लड़के ने, जो लंबा और बलिष्ठ था, दीपा को अपनी बाँहों में ऊपर उठाया।
दीपा की टांगें उसकी कमर पर लटक गयी।

उस लड़के ने दीपा को थोड़ा सा नीचे किया और नीचे से अपना टनटनाता लंड उसकी चूत में कर दिया।
दीपा के लिए इतने मजबूत आदमी से चुदवाने का पहला अनुभव था.

उस आदमी ने दीपा को नीचे से अपनी लंड से पेलते पेलते दीपा के होंठों को खूब चूमा और बल्कि उसके मम्मों को अपने दांतों से काट भी दिया।
दीपा तो उस चुदाई में निहाल हो रही थी।

अब उस आदमी ने उसे पेलते पेलते थोड़ा नीचे करते दीपा को धीरे से पीछे धकेल दिया।
दीपा की चूत में अभी भी उसका लंड था पर दीपा अपने हाथों से पीछे झूल गयी जहां दूसरे आदमी ने उसे थाम लिया और उसके मुंह में अपना लंड दे दिया।

वाह दीपा वाह … चुदाई की यह मुद्रा तो कामसूत्र में भी नहीं।

दीपा के मम्मों को कोई और लड़की अब चूस रही थी।

मनीष नीचे झुक कर कर उस लड़की की चूत चाट रहा था।
क्या नजारा था … पाँच एक साथ चुदाई कर रहे थे।
पांचों खड़े थे, चुदाई पांचों कर रहे थे।

एक चूत चोद रहा था, दूसरा अपना लंड चुसवा रहा था, तीसरा अपनी चूत चटवा रहा था और मम्मे चूस रहा था, चौथा चूत चाट रहा था, पाँचवाँ चूत चुदवा रहा था और लंड चूस रहा था।

शिखा वहाँ से निकली ही थी कि उसे एक लड़के ने पकड़ कर नीचे लिटाया और बोला- हनी, फाइनल मैं तुम्हारे साथ करूंगा। हमारी चुदाई ऐसी होनी चाहिए जैसी तुमने सुहागरात पर की हो।
तो शिखा मुस्कुराती हुई बोली- ठीक है, तुम भी आज की रात मुझे अपनी बीवी समझ कर पूरे मजे देना।

पहले तो दोनों चूमा चाटी करते रहे, फिर शिखा 69 हो गयी।
चूस चूस कर उसने उस लड़के के लंड की हवा निकाल दी.
वो बोला- अब रुक जाओ वरना ये तुम्हारे मुंह में ही खाली हो जाएगा।

अब उसने शिखा को नीचे लिटाया और उसकी टांगें चौड़ा कर अपना लंड पेल दिया एक झटके में।

शिखा यूं तो आज 7-8 लंड ले चुकी थी पर मोटाई के हिसाब से ये वाला लंड बेस्ट था।

चूंकि ये आखिरी सेशन था तो शिखा भी आहें निकाल निकाल कर उसे उकसाती रही और नीचे से उछल उछल कर उसका साथ देती रही।

दोनों खूब अश्लील भाषा बोल रहे थे।
शिखा ने ही शुरुआत की, वो बोली- क्यों माँ चुद गयी तेरे लंड की? बस जान निकाल गयी? कह रहा था फाड़ दूंगा, तेरा तो अभी से दम निकल रहा है। ज़ोर लगा भड़वे अब क्या होटल जाकर अपनी बीवी को चोदेगा, वो तो आज पूरी रंडी बन के जायेगी यहाँ से, अब चोद न और ज़ोर से मेरी जान!

वो लड़का भी कह रहा था- तू तो पूरी रंडी बन गयी है, आज तेरी चूत फाड़ ही दूंगा. तू कल भी आना कल भी तेरी चूत मारूँगा, आ कुतिया और धक्के दे नीचे से!

इसी धकापेल में उसने अपना सारा माल निकाल दिया शिखा की चूत में!
माल ज्यादा नहीं था, वो भी दो-तीन बार पहले निकाल चुका होगा।

शिखा ने मुसकुराते हुए उसे लिप किस किया और गुडनाइट बोल के टिशू से अपनी चूत पौंछते अपने सोफ़े पर आई।

अब जाने का टाइम हो गया था.

रात को दो बजे तक चारों अपने रिज़ॉर्ट पहुंचे।
शिखा दीपा दोनों की चूत आज बोल गयी थीं। दोनों को ऐसा लग रहा था की उनकी चूत अब टूट कर गिर पड़ेंगी।

दीपा बोली- शावर लेते समय गर्म पानी से तरेड़े लगा लेना और डेटॉल से धो लेना।
अनिल बोला- तुम दोनों एक पेन किलर जरूर ले लेना और सुबह उठने की जल्दी नहीं करना। कल शाम की तो फ्लाइट है ही! चलो कल ब्रेकफ़ास्ट पर मिलेंगे।

दोनों जोड़े अपनी अपनी कॉटेज में चले गए।
सबने शावर लिया और थक कर सो गए।

दोस्तो, कैसी लगी आपको ये न्यूड सेक्स पार्टी स्टोरी?
लिखिएगा मुझे मेरी मेल आई डी [email protected] पर!

Indian Tution Class Sex Video – क्लासरूम में पढाई और चुदाई