मेरी सेक्स कहानी से मिली मुझे एक मस्त आइटम-4

एनल XXX बैक सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने होटल के कमरे में एक भाभी की गांड तेल लगा कर मारी. उसे बहुत दर्द हुआ और गांड में से खून भी निकला.

दोस्तो, मैं अगम अपनी दुबई वाली पाठिका फ़लक के साथ चुदाई का मजा आपको सुना रहा था.
कहानी के पिछले भाग
भाभी की कसी चूत में से खून निकल गया
में अब तक आपने पढ़ा था कि हम दोनों बाथरूम में सेक्स कर रहे थे और झड़ चुके थे.

अब आगे Anal XXX Back Sex Kahani:

मैंने उसकी चूत से लंड बाहर निकाला तो देखा कि उसकी चूत से पानी बाहर आ रहा था.

उसने अपनी चूत पर उंगली लगाई और उस पानी को अपनी उंगली पर लगा कर अपने मुँह में ले ली.

वो लंड चुत के मिश्रित रस का स्वाद लेती हुई ‘आह्ह …’ करने लगी.
मैंने उसके दूध दबा दिए और वो हंस दी.

फिर हम दोनों अच्छे से नहाये और बाहर आ गए.
हमने आज बस बाहर घूमने का प्लान बनाया था. हम दोनों रेडी होकर बाहर चले गए.

हम सबसे पहले मूवी देखने गए, हमने एक रोमांटिक मूवी देखी. उसमें एक किसिंग सीन आया तो उसने मेरा हाथ जोर से पकड़ लिया.
हमारी गोल्ड क्लास की सबसे ऊपर कार्नर वाली सीट थी तो हमें किसी के देखने का भी डर नहीं था.

वो मेरी तरफ हुई और हम भी एक दूसरे को किस करने लगे.
फिर कुछ देर बाद हमने किस तोड़ा और मूवी देखने लगे.
कुछ देर बाद हम दोनों बाहर आ गए.

मैंने पूछा- मूवी कैसी लगी फ़लक!
तो वो बोली- मूवी का तो नहीं पता, पर किस बहुत अच्छी थी.

इस पर हम दोनों थोड़ा हंसे.

आज उसने एक क्रॉसटॉप और शॉर्ट्स पहनी थी, जिसमें से उसकी चिकनी नंगी टांगें किसी का भी दिल चुरा रही थीं.

  भाबी जी लंड पर हैं

फिल्म के बाद हम मॉल में घूमने आ गए.
सब लोग हमें ही देख रहे थे. देखते भी क्यों नहीं, मेरे पास इतना अच्छा माल जो था.

फिर हमने खूब सारी शॉपिंग की और शाम को होटल वापिस आ गए.
तक़रीबन 8 बजे हम होटल पहुंचे थे.

हमारे पास काफी सारे शॉपिंग बैग थे और हम दोनों काफी थक भी गए थे.

हम अपना डिनर भी करके आए थे. कमरे में आते ही सीधा बेड पर जाकर लेट गए.

काफी थके होने के कारण हमें जल्दी ही नींद भी आ गयी और हम दोनों सो गए.

अगले दिन हम दोनों आठ बजे उठे.
फ़लक ने सबसे पहले मुझे गुड मॉर्निंग किस दी.
फिर वो बाथरूम में चली गयी.

कुछ देर बाद वो फ्रेश होकर आई तो मैं भी बाथरूम में जाने लगा.

वो बोली- साथ में नहाने चलते हैं.
मैंने ओके कहा और हम दोनों नहा कर बाहर आ गए. हमने कपड़े पहने.

मैंने तो अपनी जींस शर्ट पहनी पर फ़लक ने तो शायद कसम खा रखी थी कि जब तक वो मेरे साथ है, मुझे मारे बगैर नहीं रहेगी.

आज उसने एक वन पीस ड्रेस पहनी हुई थी, जिसमें से उसकी गोरी टांगें बिल्कुल साफ़ दिख रही थीं.
वो ड्रेस ऊपर से उसके मम्मों पर बिल्कुल टाइट चिपकी थी.

फिर हमने नीचे आकर ब्रेकफास्ट किया और होटल से बाहर चले गए.
आज का मेरा कुछ प्लान था कि फ़लक से आज अपना गिफ्ट मांगूगा.

आज भी हमने शॉपिंग की. आज का दिन भी कल की तरह ही गुजर रहा था.

कुछ देर के लिए हम दोनों मॉल में भी गए. मैंने वहाँ से कुछ कंडोम लिए. एक सेक्स तेल की शीशी ले ली और फ़लक के लिए बिकिनी ले ली.

उसने मेरे लिए और अपने लिए कुछ कपड़े ख़रीदे. फिर ऐसे ही देखते देखते टाइम निकलता गया.

इसके बाद हम दोनों एक मसाज पार्लर गए और वहां मसाज कराने लगे.
जब हम वहां से फ्री हुए तो हमें बहुत अच्छी और फ्रेश फीलिंग आ रही थी.

तब रात के 9 बजे थे. हमने डिनर भी कर लिया था.

आज हम दोनों सुबह से कार में घूम रहे थे तो हमने सोचा कि पैदल चल कर ही होटल जाते हैं क्योंकि वहां से होटल ज्यादा दूर नहीं था.

रास्ता बिल्कुल खाली था और वहां कोई भी नहीं दिख रहा था. बस एक दो लोग ही थे, जो आ-जा रहे थे.

हमें कोई डर भी नहीं था, तो हमने रोड पर ही एक दूसरे को किस कर दिया और हम स्माइल करके ऐसे ही मस्ती मस्ती में चलने लगे.

जब मैं और फ़लक एक दूसरे का हाथ पकड़ कर चल रहे थे तो मैं उसे बार बार छेड़ रहा था.
मैं उसकी पिक्स और वीडियो बना रहा था.

उसने मुझे रोकने की कोशिश की जिसमें मेरा फ़ोन नीचे गिर गया और टूट गया.
मैं थोड़ा उदास हुआ, उसने मेरी तरफ देखा पर मैं कुछ नहीं बोला, बस ऐसे ही चलने लगा.

तब उसने मेरा हाथ पकड़ा और एकदम से मुझे लिप किस कर दिया.
इस पर मैंने भी उसका साथ दिया.

इसी तरह से हम दोनों होटल आ पहुंचे.
कमरे में जाकर हमने सामान रखा और थोड़ा फ्रेश हुए और हमने अपने कपड़े बदल लिए.

फ़लक मुझे अपनी ड्रेस पहन कर दिखा रही थी. वो सब ड्रेसेस में मुझे बहुत मस्त लग रही थी.
फिर उसने मुझसे कहा- तुम भी अपनी ड्रेसेस पहन कर दिखाओ.
मैंने भी अपनी ड्रेसेस पहन कर दिखाईं.
हम दोनों ने साथ में काफी सारी फोटो भी खींची.

आखिर में मैंने उसे अपने बैग से बिकिनी निकाल कर दी, जो कि पिंक कलर की थी.

वो बिकिनी देख कर बहुत खुश हुई और वो चेंज करने लगी. जब उसने वो बिकिनी पहनी, तो वो एकदम कोई अप्सरा सी लग रही थी. सच में कोई मॉडल ही लग रही थी.

वो मेरे पास आयी और आंख मारते हुए पूछने लगी- कैसी लग रही हूँ?
मैंने हंसते हुए कहा- तुम मेरी तो जान निकाल रही हो.

वो स्माइल करने लगी.
उस टाइम फ़लक बिकिनी में और मैं बस बॉक्सर में था.

मैंने फ़लक को पकड़ा और उसका मुँह ऊपर करके उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए.
मैं उसके होंठ चूसने लगा.
वो भी मजे से मेरे होंठ चूस रही थी और अपनी जीभ मेरे मुँह में चला रही थी.

हम दोनों ऐसे ही एक दूसरे का रसपान कर रहे थे.
दस मिनट बाद हम अलग हुए. उसने मुझे बेड पर धक्का दे दिया और मैं बेड पर गिर गया.
उसने मेरे लंड के पास जांघों पर अपनी एक नंगी टांग रख दी और किस करने का इशारा किया.

मैं उसकी गोरी चिकनी नंगी टांग पर अपनी जीभ फिराने लगा. वो गर्म होती जा रही थी.
फिर मैं उसकी चूत तक अपनी जीभ ले गया और रुक गया.

तभी उसने मेरी गर्दन पकड़ कर खुद आगे को आ गयी और मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए, साथ ही वो मेरी गर्दन पर भी किस करने लगी.

अब उसने मुझे लिटा दिया और मेरे ऊपर आ गयी. वो मेरे पूरे शरीर पर किस करने लगी.
ऐसे ही मैंने उसे पलट दिया और खुद उसके ऊपर आ गया. मैं उसके चेहरे से लेकर गर्दन तक किस करता गया.

फिर उसकी ब्रा पर से उसके एक निप्पल पर काट लिया जिससे वो चिहुंक गयी और आह करके सीत्कार कर उठी.
मैंने देर न करते हुए उसकी ब्रा उतार दी और उसके मम्मों को अपने मुँह में भरने लगा.

आज उसके मम्मे काफी ज्यादा टाइट हो रहे थे. मैं उसके कभी एक दूध को पकड़ता, कभी दूसरे को.
ऐसे ही उन्हें मुँह में भर लेता.

Video: हॉट बंगाली दुल्हन की लंड खड़ा कर देने वाली पहली सुहागरात!

फिर मैं ऐसे ही नीचे आ गया और उसकी नाभि पर एक किस कर दिया. चूमते हुए मैं उसकी पैंटी तक पहुंच गया और उसकी पैंटी पर एक किस कर दिया.

मेरा मुँह और भी गीला हो गया क्योंकि उसकी पैंटी काफी गीली थी.
मैंने एक झटके में उसकी पैंटी निकाल दी और उसकी चूत पर किस करने लगा.
कभी मैं उसकी जांघों पर चूम लेता.

तभी उसने मेरा सर पकड़ा और अपनी चूत पर दबाने लगी और मैं भी तेजी के साथ उसकी चूत चाटने लगा.
वो मादक आवाजें निकालने लगी ‘आआह … आआह … आऊच … ऊऊह्ह्ह मेरी चूत खा जाओ … आह मेरी चूत को चबा लो … आह इसे पूरा निचोड़ दो …’

मैं उसकी बातें सुनकर और भी गर्म हो रहा था और तेजी से उसकी चूत चाटे जा रहा था.
वो तभी अकड़ने लगी और उसने मेरे मुँह पर ही अपना पानी निकाल दिया.

मैंने उसका पानी अपने मुँह में भरा और ऊपर उठ कर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए. फिर उसके मुँह में वो सारा पानी निकाल दिया जिसे वो नीम्बू पानी की तरह पी गयी.

अब मैंने उसे अपने लंड की तरफ इशारा किया तो उसने झट से मेरा बॉक्सर निकाल दिया और मेरे लंड को पकड़ कर उस पर जीभ रगड़ने लगी.
मुझे ऐसा लग रहा था, जैसे वो मेरे कहने का ही इंतजार कर रही हो.

उसने अपनी जीभ मेरे लंड के सुपारे पर फिरानी शुरू की, जिससे मेरी उत्तेजना और बढ़ती जा रही थी.
वो धीरे धीरे मेरे लंड को चूसने लगी.

काफी देर तक लंड को चूसने के बाद जब मुझे अहसास हुआ कि बस कुछ ही देर में मेरा काम तमाम होने वाला है तो मैंने उसको पीछे कर दिया क्योंकि मुझे उसकी चुदाई भी करनी थी.

मैं रुका और उसको पलटा कर उल्टा लिटा दिया, उसे डॉगी वाली पोजीशन में सैट कर दिया.

मुझे आज उसकी गांड मारनी थी, चाहे कुछ भी हो जाए … और चाहे वो कुछ भी बोले.

मुझे आज वो कुछ बदली बदली सी लग रही थी. वो मेरी हर बात बिना कुछ पूछे ही मान रही थी और हर बात पर कातिलाना स्माइल दे रही थी.

वैसे तो वो रोज ही मेरी हर बात मानती थी पर आज कुछ ज्यादा ही मचल रही थी.

जब वो औंधी लेटी तो मैंने ड्रावर से वो तेल निकाला, जो मैंने मॉल से ख़रीदा था.
असल में मैं बता दूँ कि उस तेल का प्रयोग सेक्स के दर्द को कम करने और आसान सेक्स के लिए किया जाता है,
मैं उस तेल का प्रयोग फ़लक के साथ करना चाहता था जिससे गांड में लंड पेलने में उसको ज्यादा दर्द न हो.

मैंने वो तेल लिया और उसे फ़लक की गांड पर डाल कर थोड़ा सा तेल उसकी चूत पर भी लगा दिया.
वो पता नहीं क्या सोचने लगी.

मैंने अच्छे से वो तेल उसके दोनों छेदों में लगा दिया, अपने लंड पर भी काफी सारा तेल लगा लिया जिससे मेरा लंड चिकना हो गया.

अब मैं अपना लंड फ़लक की चूत और गांड पर रगड़ने लगा.
फिर मैंने अपना लंड फ़लक की चूत में हल्का सा डाला और बाहर निकाल लिया.

वो गांड हिलाने लगी, तभी मैं अपना लंड उसकी गांड पर दबाने लगा.
उसने हल्की सी आह भरी और पीछे को मुड़ कर देखा.

मैंने उसको एक आंख मारी और उसके होंठों पर एक किस कर दिया.
इस पर उसने भी स्माइल दे दी.

मैं समझ गया कि ये गांड मरवाने के लिए रेडी है.
मैंने अपना लंड और भी ज्यादा दबाना शुरू कर दिया जिससे मेरे लंड का सुपारा उसकी गांड में घुस गया.

सच में उसकी गांड काफी टाइट थी, तो वो चिल्ला पड़ी- अह्ह आय यीईइ!
उसने मुड़ कर मुझे गुस्से से देखा.

मुझे लगा कहीं ये गांड मारने से मना न कर दे, तो मैं रुक गया और उसे सहलाने लगा, किस करने लगा.

वो कुछ बोलती, इससे पहले ही मैंने एक और धक्का मार दिया. इस बार मेरा पूरा लंड उसकी गांड में चला गया और वो एकदम नीचे को गिर पड़ी.

मैंने देखा वो बेहोशी की हालत में होने लगी थी. मैंने उसे किस करना शुरू कर दिया और उसे सहलाने लगा, उसके मम्मों को दबाने लगा.

तब जाकर वो सम्भली और तेजी से चिल्लाने लगी- आअह् आइई … मरर गईईई.
उसे बहुत दर्द हो रहा था.

मैं रुक गया.
वो मुझे मना करने लगी पर मैं उसे किस करता रहा.

कुछ देर बाद जब उसका थोड़ा दर्द कम हुआ तो मैंने अपना लंड पीछे को किया और आराम से अन्दर करने लगा.

वो हर धक्के पर चिल्ला रही थी. मुझे उसकी ये हालत देख कर दुःख भी हो रहा था. मगर मैं बहुत आराम से उसको धक्के मारता रहा.

अभी 5-6 धक्के ही मारे होंगे कि वो रोती हुई आवाज में बोली- प्लीज़ अपना लंड बाहर निकाल लो.
मैंने उसे किस किया.

वो बोली- एक बार बाहर निकाल लो, मुझे बहुत दिक्कत हो रही है.
तब मैंने उससे कहा कि अगर मैं दोबारा डालूंगा, तो तुमको और दर्द होगा.

वो बोली- तब देखा जाएगा, तुम बाहर निकालो प्लीज.
मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया.

असल में वो भी लंड बाहर निकलवाना नहीं चाह रही थी पर उससे दर्द बर्दाश्त नहीं हो रहा था तो उसने ऐसा बोला था.

मैं उसे किस करने लगा.
मैंने देखा कि उसकी गांड से हल्का सा खून निकल रहा है.

असल में उसकी गांड पर उसका ही नाखून ज्यादा जोर से लग गया था तो खून निकलने लगा था.
मैंने उसकी गांड साफ़ की और उसे किस करने लगा.

उसे काफी दर्द हो रहा था पर वो गर्म भी होती जा रही थी तो उसे अपने दर्द का अहसास कम होना शुरू हुआ.

उसने मेरा लाया हुआ वो फिर से तेल ले लिया. पहले उसने मेरे लंड पर तेल लगाया और फिर अपनी गांड पर … जिससे उसकी पूरी गांड भीग गयी और बेड पर भी तेल गिर गया.

फिर वो कुतिया वाली पोजीशन में आ गयी और धीरे धीरे मेरे लंड पर अपनी गांड सैट करने लगी.
पहले मुझे लगा था कि वो अब मुझसे गांड नहीं मरवाएगी पर उसने ऐसा नहीं किया.

साथियो, एनल XXX कहानी के अगले हिस्से में आपको फ़लक की एनल XXX बैक सेक्स कहानी का मजा पढ़ने को मिलेगा.
प्लीज़ आप अपने लंड चुत झाड़ने से पहले मुझे मेल कर दीजिए. अगले भाग में मिलता हूँ.
[email protected]

एनल XXX बैक सेक्स कहानी का अगला भाग: गांड चुदाई की हिंदी कहानी

Video: क्लासरूम में पढाई और चुदाई-2