पति के गधेछाप लंड से चुत गांड चुदाई

सेक्स विद हसबैंड वाइफ पोर्न स्टोरी में पढ़ें कि बड़े लंड वाले पति की बीवी की चुदाई कैसे होती है. मेरे पति का लंड गधे के लंड जैसा है जो मेरा चूत गांड में तहलका मचाता है.

फ्रेंड्स, मैं आज अपनी सेक्स कहानी लेकर आपके सामने आई हूँ.

Sex With Husband Wife Porn Story में आगे बढ़ने से पहले मैं अपने बारे में बता देती हूँ.
मैं एक इंटीरियर डिज़ाइनर हूँ और मेरा फिगर बहुत ही सेक्सी व स्लिम ट्रिम फिगर है.

मेरी उम्र 25 साल है. मैं दूध की तरह गोरी हूँ, पूरे बदन के कटाव एकदम सेक्सी हैं. पेट पूरा सपाट है, तोंद तो है ही नहीं. मेरे बूब्स और चूतड़ तने हुए बड़े बड़े हैं.
मेरा एक छोटा बच्चा भी है, जो अभी 4 महीने का ही है.

ऐसे तो मेरे पति मुझे रोज चोदते हैं और ऐसे वैसे नहीं, एकदम किसी जंगली जानवर की तरह चोदते हैं.

लेकिन आज रात तो अलग ही किस्म के जानवर या कहूँ कि सांड बन गए थे वो!
उनकी चुदाई से कमरे में आधे से ज्यादा चीजें टूट चुकी थीं.

हुआ यूं कि उस दिन मेरे पति ऑफिस में थे और मैं घर पर रह कर अपना काम कर रही थी.
आजकल मेरा वर्क फ्रॉम होम चल रहा था.

उसी समय मेरे पति का मुझे कॉल आया और हम दोनों बात करने लगे.
हमारे बीच मजाक मस्ती की बातें होने लगीं.

वो बोले- आज रात मैं अलग ही जोश में हूँ. आज पूरी रात इतनी ज़ोर से चुदाई करूँगा कि पूरा घर हिलने लगेगा.
मैं भी जोश में बोली- ठीक है मेरे पति देव … पहले घर तो आ जाओ. क्या फोन से ही चोदोगे?

वो बोले- काश, मेरा लंड इतना लम्बा होता कि फोन से घुस कर ही तुम्हारी चुत में घुस जाता तो मैं जरूर तुम्हारी चुदाई फ़ोन से ही कर देता.
मैं हंस पड़ी.

  अंधेरे में कजिन सिस्टर की चूत का मजा

हम दोनों की बातें खत्म हुईं और मैंने घड़ी में देखा तो रात के दस बज चुके थे.
मैंने काम करते करते टेबल पर खाना लगा दिया था.

कुछ देर बाद मेरे पति घर आ गए.

वो मुझे किस करना चाहते थे लेकिन मैंने उनको करने नहीं दी क्योंकि मैं एक नए छात्र को फोन पर कुछ टिप्स दे रही थी.

उस नए छात्र से बात करते हुए मैंने उससे कहा- तुम्हारा पेन्सिल बॉक्स गलती से मेरे पास आ गया. मैं कल तुमको ऑफिस में दे दूंगी.
उसने ओके कह दिया.

अब तक मेरे पति फ्रेश होने चले गए थे, वो कुछ देर के बाद आ गए.

वो खाना खाने बैठ गए और मैं भी कॉल खत्म करके खाना खाने बैठ गयी.

खाना खाने बाद मेरे पति ने मुझे पीछे से पकड़ लिया और मुझे किस करने लगे.
मुझे अभी भी उस छात्र को एक फाइल भेजना बाकी रह गया था.

मैंने उनसे कहा- प्लीज, अभी कुछ देर रुक जाओ क्योंकि मुझे एक आखिरी फाइल भेज देने दो.
मगर वो माने ही नहीं और मेरे मम्मों व गांड को दबाने लगे.

मैं भी सनसनी में आने लगी.
उन्होंने एक हाथ से अपने पजामा को खोल दिया और जल्द ही टी-शर्ट खोल कर सिर्फ अंडरवियर में रह गए.

मैंने हंस कर कहा- ये भी क्यों रह गया, इसे भी हटा दो.
इस पर उन्होंने अपना अंडरवियर भी खोल दिया.

हमारा नन्हा सा बेटा बेडरूम में सो रहा था.

उन्होंने मुझे गोद में उठाया और टेबल पर ही लेटा दिया.
टेबल पर बहुत सारा खाने का सामान रखा था. साथ ही मेरे काम की चीजें भी थीं. कुछ पेपर्स, लैपटॉप और उसी छात्र का पेन्सिल बॉक्स आदि भी रखा था.

मेरे पति ने मुझे टेबल पर उन सबके ऊपर ही लेटा दिया और मेरे कपड़े फाड़ दिए.
वो मिशनरी पोजीशन में मेरे ऊपर आ गए और अपने बदन से मेरे बदन को ज़ोर से दबाए हुए थे.

मेरे पति बहुत भारी हैं क्योंकि उनका पेट काफी बड़ा है.
मैं पेपर्स और पेन्सिल बॉक्स के ऊपर लेटी हुई थी.

पेन्सिल बॉक्स ठीक मेरी गांड के नीचे था और मेरे पति मेरे ऊपर पूरे जोश में मेरे बदन को काट रहे थे.
फिर उन्होंने अपना काला लंड मेरी चुत में ज़ोर से घुसा दिया.

मैं चिल्ला उठी.
मैंने उन्हें धीरे चोदने के लिए कहा लेकिन वो माने ही नहीं.

उन्होंने फुल स्पीड से चुदाई शुरू कर दी.
मैं चिल्ला चिल्ला कर कामुक सिसकारियां ले रही थी- ऊऊओ … ऊऊ … जान आई मर गई … थोड़ा आराम से.
लेकिन वो मान ही नहीं रहे थे.

Video: बड़े चूचों वाली इंडियन लड़की और मोटा बड़ा सफ़ेद लण्ड

उन्होंने मेरी सिसकारियां सुनकर और ज्यादा वजन डाल दिया और मुझे और स्पीड से चोदने लगे.
पूरी टेबल धप धाप धाप की आवाज कर रही थी और हम दोनों के वजन से ज़ोर ज़ोर से हिल रही थी.

मेरी गांड के नीचे जो पेन्सिल बॉक्स था वो चुदाई से पूरा टूट गया था और पेपर फट गए थे.
पेन्सिल बॉक्स के पीस मुझे मेरी गांड में चुभ रहे थे. लेकिन मेरे पति पूरे जोश में वाइल्ड सेक्स के नशे में थे और कूद कूद कर कर मुझे चोद रहे थे.

जब वो मेरे ऊपर कूद कूद कर चुदाई कर रहे थे तो पूरी टेबल आगे पीछे होती हुई इतनी ज़ोर से हिलने लगी थी मानो अभी ही टूट जाएगी.
खाने का सारा सामान नीचे जमीन पर गिरता जा रहा था और देखते ही टेबल टूट भी गई.

हम लोग के चुदाई करते हुए ही खाने के ऊपर गिर गए.
प्लास्टिक की चम्मचें आदि इधर उधर छिटक गईं.

फिर भी उन्होंने मुझे चोदना नहीं रोका. वो मुझे किसी जंगली जानवर की तरह चोदे जा रहे थे.
मैं चिल्ला रही थी- आह अय मांआ … मर गयी … अह रुको तो यार … आह सीइ सीई.

वो नॉनस्टॉप चुदाई करने में लगे रहे.
सब बचा हुआ खाना आदि मेरे जिस्म के नीचे पिसा जा रहा था.

मगर मेरे पति कूद कूद कर जंगली जानवर की तरह मेरी चुदाई कर रहे थे.
जब उनका माल निकल गया, तब वो रुके … और मुझे राहत मिली.
वो मेरे ऊपर लेटे रहे.

मुझे चूमते हुए बोले- मजा आया?
मैंने कहा- मजा तो तुम्हें आया होगा. मेरी तो गांड छिल गई.

वो बोले- क्यों?
मैंने कहा- टेबल पर बहुत सारा सामान था, वो सब मेरी गांड में रगड़ कर पिस गया.

वो हंसने लगे.
मैं अपनी गांड सहलाने लगी.

मुझे भी अपने पति के मोटे लंड से चुदकर मजा आया था मगर आपको तो मालूम ही है कि औरतों की आदत होती है, वो कभी संतुष्ट नहीं होतीं.

फिर जब हम लोग उठे तो मैंने नीचे देखा.
पूरा सत्यानाश हो चुका था. टेबल और खाने का सब सामान टूट गया था.

मैं फ्रेश होने गयी.
मेरे फ्रेश होने के बाद मेरे पति भी फ्रेश होकर आए.

हम दोनों कमरे में आ गए और बेड पर लेट कर सोने लगे.

मैंने देखा कि बगल में हमारा बेटा चैन की नींद सो रहा था.

एक घंटा बाद मेरे पति का लंड फिर से खड़ा हो गया और वो फिर से मेरे ऊपर चढ़ गए.

फिर से मिशनरी पोज़िशन में वो मेरी बॉडी को अपने जिस्म से ज़ोर से दबाए हुए थे.

मेरी तो जान ही निकल रही थी.
मैंने समझ लिया कि ये बिना लंड पेले मानेंगे नहीं, तो मैंने अपनी टांगें खोल दीं.

उन्होंने अपना लंड ज़ोर से मेरी चुत में घुसा दिया और धकापेल ज़ोर ज़ोर से पूरी रफ़्तार में मेरी चुदाई कर रहे थे.
पूरा बेड ज़ोर ज़ोर से हिलने लगा और मैंने देखा कि चुदाई से हमारा बेटा भी हिल रहा था.

मुझे डर था कि मेरा बेटा जाग ना जाए. चुदाई के समय में ज़ोर से सिसकारियां ले रही थी.
मैं- अया अयाया अयाया बस करो, फीलिक्स आराम से … आउच आह अयाया अया … आराम से.
लेकिन मेरे पति मान ही नहीं रहे थे.

कुछ देर बाद उन्होंने मुझे उल्टा कर दिया और मेरी गांड पर लंड सैट कर दिया.

मैं कांप गई कि अब गांड भी मारी जाएगी.
हालांकि मैं गांड तरफ से भी चुदती हूँ लेकिन उन महिलाओं को मालूम होगा कि गांड में लंड लेना कितना दुरूह कार्य होता है.
फिर मेरे पति का लंड तो गधे के लंड से मैच करता है.

वही हुआ … मेरे पति ने मेरी गांड में पूरी ताकत से अपना मूसल लंड घुसा दिया.
लंड घुसा और वो कूद कूद कर गांड चुदाई करने लगे.

पूरा बेड अब और ज़ोर से हिल रहा था.
काफी देर बाद मेरे पति ने मुझे फिर से सीधा लेटा दिया और इस बार गलती से उन्होंने मुझे मेरे बेटे की प्लास्टिक टॉय कार के ऊपर लेटा दिया.

मुझे पता नहीं था कि मेरे बेटे की टॉय कार हमारे बेड पर पड़ी है.
क्योंकि वो बेड पर ही खेलता रहता है और कभी कभी उसके खिलौने बेड पर पड़े रह जाते हैं.
चूँकि रूम में भी पूरा अंधेरा था इसलिए मैं भी देख नहीं पाई.

मेरे पति अपने जिस्म का बोझ मेरे ऊपर इतना ज़ोर से दबाए हुए थे कि मेरी जान ही निकल रही थी.
वो फिर से मिशनरी पोज़िशन में जंगली जानवर की तरह मेरी चुदाई करने लगे.

उन्होंने मेरे जिस्म को एकदम कसके पकड़ा हुआ था और मेरे पैर को अपने पैर से दबाए हुए थे.
वो कूद कूद कर रगड़ रगड़ कर जंगली सांड की तरह मुझे चोदने लगे.

मैं लगातार चिल्लाए जा रही थी- आआह आआ फीलिक्स धीरे आराम से आह बस करो.
मगर उनको चुदाई के समय कुछ होश नहीं रहता है.

हमारा बेड बहुत ज़ोर से आगे पीछे हिल रहा था और चूं छुं कर रहा था, धाप धाप की आवाज आने लगी थी.
फिर मुझे किसी चीज की टूटने की आवाज आई.

ये आवाज मेरे जिस्म के नीचे से आई थी.
मेरे बेटे की प्लास्टिक टॉय कार मेरे पति की जंगली चुदाई से टूट गयी थी.

मैंने उन्हें रोकने की कोशिश की लेकिन मेरे पति फिर भी नहीं रुके.

वो पूरी ताक़त के साथ इतनी ज़ोर से मुझे चोद रहे थे कि मेरी जान ही निकल रही थी.
मुझे ऐसा लग रहा था कि बस किसी तरह से मैं अपने पति से छूट कर अलग हो जाऊं.

फिर वही हुआ जिसका डर था.
उनकी इस तरह की जंगली चुदाई से बेड टूट गया और मेरा बेटा नीचे गिर गया.

उसी समय मेरे पति का स्पर्म निकल गया.
मेरा बेटा रोने लगा था.

फिर मैंने पति से हटने का कहा.
वो मेरे ऊपर से हट गए.

मैंने अपने बेटे को उठाया और उसे गोद में उठाकर चुप कराने लगी.
चुदाई से हम दोनों की बॉडी पसीने से तर हो गयी थी.

मैं चल नहीं पा रही थी. क्योंकि मेरे पति ने मेरी चुत लगभग फाड़ दी थी और गांड भी चिर गई थी.
फिर वो फ्रेश हुए और मैं बेटे को चुप कराके उसको दूसरे बेड पर सुला आई.
मैं और मेरे पति भी उसी कमरे में बेड पर सो गए.

जब सुबह हुई तो फिर से मॉर्निंग रफ मिशनरी सेक्स हुआ और उसके बाद मैं ऑफिस चली गयी.
मैं सही से चल भी नहीं पा रही थी.

मैंने एक नया पेन्सिल बॉक्स खरीदा.
ऑफिस में मेरे उस इन्टर्न छात्र ने मुझसे पूछा कि मेम आपको क्या हुआ आप ठीक से चल क्यों नहीं पा रही हैं?
मैंने कहा- मेरे पैर में चोट लग गई है.

फिर उसने पूछा कि ये न्यू पेन्सिल बॉक्स क्यों? मेरा पुराना वाला कहां गया?
मैं बोली- यह गिफ्ट है, रख लो.

मुझे कुछ बहाना मिला ही नहीं था. क्या ही बोलती उससे.
तो यह थी मेरी ताबड़तोड़ चुदाई की सेक्स विद हसबैंड वाइफ पोर्न स्टोरी!

मेरे पति मुझे रोज हर रात मुझे ऐसे ही चोदते हैं, रफ वाइल्ड मिशनरी सेक्स करते हैं.
अब फर्क बस इतना है कि जिस कमरे में हम दोनों अब चुदाई करते हैं, वहां का बेड बहुत मजबूत है.
लेकिन मेरे पति की रफ चुदाई से वो बेड भी हिलने लगता है और चूँ चूँ की आवाज आने लगती है.

अपने पति के गधे छाप लंड से चुदने के बाद मुझे बहुत मस्त नींद आती है और बाद में उनकी चुदाई से मुझे मीठा मीठा सपना आता है.

मुझे अपने कमेंट्स और मेल से बताइएगा कि आपको मेरी सेक्स विद हसबैंड वाइफ पोर्न स्टोरी कैसी लगी.
[email protected]