शादीशुदा लड़की की चुदाई करके उसे मां बनाया

मैरिड गर्ल फ्री चुदाई का मजा मुझे मेरे ही शहर की लड़की ने अपनी चूत मरवा कर दिया. वो किसी दूसरे शहर में शादी करके चली गयी थी. जब वो मायके आई तो मुझसे चुदी.

मेरे प्यारे दोस्तो और सहेलियो, मेरा नाम पिंकू (बदला हुआ) है.
मेरी उम्र 21 वर्ष है और मैं हनुमानगढ़ राजस्थान से हूँ. मैं यहीं पर एक कॉलेज में अध्ययन करता हूँ.

आज मैं आपके साथ अपने जीवन से जुड़ी एक मस्त सेक्स कहानी शेयर करने जा रहा हूँ.
इस Married Girl Chudai Kahani में मैंने बताया है कि कैसे मैंने एक विवाहित लड़की की चूत चोदी.

इससे पहले आप मेरी एक अन्य कहानी
फुफेरी बहन की चूत की सील तोड़ी
पढ़ चुके हैं.

मैं मन लगाकर पढ़ाई करने वाला बंदा हूँ. मेरी 12वीं क्लास पूरी होने के बाद मुझे अपनी आगे की पढ़ाई करने के लिए गांव से कुछ दूर एक शहर में जाना था, जहां एक सरकारी कॉलेज था.
उसमें मुझे आसानी से एडमिशन भी मिल गया था क्योंकि मेरे बाहरवीं क्लास में बढ़िया नम्बर आए थे.

कॉलेज में एडमिशन के बाद मैं रोजाना क्लास अटेंड करता था.

धीरे धीरे काफी सारे छात्र मेरे नए दोस्त बन गए थे.
उन दोस्तों में से एक दोस्त की पहले से ही एक गर्लफ्रेंड थी, वो उसी कॉलेज में पढ़ती थी.

पहले मेरा इन चीजों पर ज्यादा रुझान नहीं था. लेकिन एक दिन मैंने अपने दोस्त के फोन में एक वीडियो क्लिप देखा, जिसमें वो अपनी गर्लफ्रेंड के साथ सेक्स कर रहा था.

उस दिन से मेरा भी मन करने लगा कि काश मेरी भी कोई गर्लफ्रेंड होती जिसके साथ मैं जी भरके चुदाई कर सकता.
ऐसे ही लड़की की चाहत में कई दिन निकल गए.

फिर एक दिन जब मैं अपनी फेसबुक आईडी चला रहा था, तो मुझे एक लड़की की आईडी मिली.
उसकी प्रोफइल फ़ोटो में एक पति-पत्नी जैसे जोड़े ने एक दूसरे के हाथ को अपने हाथों में पकड़ रखा था.

  रिश्तेदारी में कुंवारी लड़की की बुर चुदाई-1

बाक़ी की फोटो देखीं, तो मालूम हुआ कि ये फोटो उसी लड़की की अपने पति के साथ की थी.
उस लड़की का नाम प्रियंका था.

मैंने उस प्रोफइल को अच्छे से देखा तो पाया कि मेरे ही शहर की रहने वाली थी.
तो मैंने उसे दोस्त बनाने के लिए उसको रिक्वेस्ट भेज दी.

कुछ ही पलों के बाद उसका मैसेज आया.
वो मेरे बारे में पूछने लगी और अपने बारे में बताने लगी.

उसने यह भी बता दिया कि वो शादीशुदा लड़की है और पति के साथ नोएडा में रहती है.
धीरे धीरे हम दोनों की ये बातें कई कई घंटों तक चलने लगीं.

एक दिन अचानक ही उसने पूछा- आपने कभी सेक्स किया है क्या?
मैंने कहा- मेरी कोई गर्लफ्रेंड ही नहीं है, तो किसके साथ सेक्स करूं?
वो कुछ नहीं बोली.

कुछ ही पलों के बाद मैंने उससे बोला- तुम मेरी जीएफ बन सकती हो क्या?
उसने तुरंत हां कर दी.

उसने बताया कि उसका पति उसे खुश नहीं कर पाता है, वो कुछ ही मिनट में ही शांत हो जाता है.
उसकी बात सुनकर मुझे समझ आ गया कि सिर्फ मुझे ही गर्लफ्रेंड की दरकार नहीं है, इसे भी लंड चाहिए.

ऐसे ही हमारी बातें काफी दिनों तक चलती रहीं.
हम दोनों इसी दौरान वीडियो सेक्स भी करने लग गए थे जिसमें दोनों को काफी मजा आने लगा था.

मैंने उससे एक दिन पूछा- तुम्हें कैसा सेक्स पसन्द है?
वो बोली- जिसमें काफ़ी देर तक चुदाई हो. फिर चाहे शराब पीकर, चॉकलेट जैसे खाद्य सामग्रियों का प्रयोग सेक्स में करके सेक्स करें.
सेक्स बढ़ाने वाली दवा का प्रयोग करने के पक्ष में वो नहीं थी.

मैंने भी बोल दिया कि मैं भी तेरे साथ ऐसा ही सेक्स करना चाहता हूँ.
वो भी मुझसे चुदने को राजी हो गई.

कुछ दिन बाद मेरे एग्जाम की डेट आ गई तो मैंने उससे बात करना बंद कर दिया.
ये बात मैंने उसे बता दी थी कि मैं एग्जाम के बाद बात करूंगा.
उसे मेरी इस बात से कोई ऐतराज नहीं था.

मेरे एग्जाम खत्म होने के बाद मैंने उससे बात फिर से आरम्भ कर दी.

कुछ दिन बाद उसने बताया कि वो कुछ ही दिनों में अपने घर यानि मेरे शहर आ रही है और वो मेरे साथ 2-3 दिनों तक रहेगी, जिसमें हम खूब सेक्स का मजा लेंगे.

मैंने शहर में एक दूसरा कमरा देख लिया जो मेरे दोस्त का था.
वो अपनी किसी ट्रेनिंग के लिए बाहर जा रहा था.

मैंने उससे बात करके वो कमरा हासिल कर लिया और वहीं पर प्रियंका की चुदाई करने का प्रोग्राम बना लिया.

उसके बाद मैंने सेक्स वीडियो देखना शुरू किए कि लड़की की चुदाई में क्या क्या ध्यान रखना जरूरी होता है.
चूंकि ये मेरा पहली बार का मामला था और मैं उसके सामने खुद को चूतिया साबित करना नहीं चाहता था.

एक हफ्ता बाद उसने बताया कि वो पापा के घर आ चुकी है.

हम दोनों पहले से वीडियो कॉल पर एक दूसरे को नंगा देख चुके थे तो वो बिना किसी हिचकिचाहट के मेरे साथ आने को रेडी थी.
उसने घर पर बोल दिया कि वो अपनी सहेली के घर श्री गंगानगर जा रही है और दो दिन बाद वापस आएगी.

वो जब घर से तैयार होकर निकली तो मैं भी कमरे से बाहर निकल कर उसको लेने चला गया.
मैंने रास्ते में ही शराब की दुकान से दो बीयर की बोतल, एक स्पेशल वोदका की बोतल ले ली.
दूसरी दुकान से दो आइसक्रीम के पैक और नमकीन व गिलास आदि ले लिए.

मैं उसे बस स्टॉप से लेने गया तो उसे सामने देख कर भौंचक्का सा रह गया.
वो मुस्कुरा कर बोली- अब रूम पर चलें … या ऐसे ही देखता रहेगा.

क्या बताऊं दोस्तो, वो सामने से देखने में वीडियो कॉल से कहीं ज्यादा हॉट लग रही थी.
उसके बड़े बड़े बूब्स, उठी हुई गांड, गुलाबी होंठ … आह एकदम सेक्स बम थी वो!
मैंने खुद को संभाला और उसे रूम पर लेकर आया.

Video: ब्लैकमेल करके दोस्त की गर्लफ्रेंड को दोस्त के साथ चोदा

कमरे के अन्दर प्रवेश करते ही मैं उसके साथ एकदम से चिपट गया.
वो भी मुझे बांहों में कस कर बोली- अभी रुक जा, दो दिन मैं यहीं हूँ. हम दोनों सब कुछ करेंगे.

मैं उससे अलग हुआ और उसे निहारने लगा.
वो भी मुझे देख कर कामुक होने लगी थी.

कुछ ही पलों में बिना कुछ बोले हम एक दूसरे से लिपट गए औऱ एक दूसरे को चूमने लगे.

हमारे अन्दर सेक्स की ज्वाला भड़क गई थी. वो भी चुदासी थी और मैं भी!

एक दूसरे से चिपके हुए ही कब हम दोनों के कपड़े उतर गए, कुछ पता ही नहीं चला.
उसके मम्मों को चूसते हुए मैं उसकी चूत को सहलाने लगा.

वो अपनी चूत पर मेरा हाथ पाते ही एकदम से हिल गई.

मैंने घुटनों पर बैठ कर उसकी चिकनी चूत को चूसना शुरू कर दिया था.
फिर जल्दी ही हम दोनों 69 को पोजिशन में आ गए; एक दूसरे का आइटम चूसने लगे और कुछ ही देर में हम दोनों एक दूसरे का सारा माल खा गए.

अब मैंने बियर की बोतल को खोला और उसे दो गिलासों में डाल कर दोनों पीने लगे.
बातें करते हुए हम दोनों ने धीरे धीरे बियर की दोनों बोतलें खाली कर दीं.

हम दोनों पर उसका कुछ नशा हावी होने लगा.
हम दोनों फिर से कामुक होने लगे, एक दूसरे से छेड़खानी शुरू हो गई.

अब मैंने आइसस्क्रीम निकाल कर उसके बूब्स और चूत पर लगा दी और उसे चूसने लगा.
वो बड़े प्यार से मुझे अपने दोनों दूध बारी बारी से पिला रही थी और मादक आवाजें निकाल रही थी.

मैं उसकी चूत चूसने लगा, तो वो मेरे मुँह पर बैठ गई और अपनी चूत मेरे मुँह पर घिसने लगी.
ऐसे करते ही वो फिर से एक बार झड़ गयी.

कुछ देर बाद उसने मेरे लंड पर आइसक्रीम लगाकर उसे चूसा.
वो तब तक चूसती रही, जब तक मेरा पानी नहीं निकल गया.
अब दोनों को कुछ थकान सी महसूस होने लगी थी.

मैंने शराब की बोतल से एक एक पैग बनाया.
पैग लेने के बाद उस पर शराब का नशा चढ़ चुका था. वो नशे में बोलने लगी कि उसका पति नामर्द है, उसे खुश नहीं कर पाता. अभी तो उसे कोई बच्चा नहीं हुआ है. उसको मां बनना है.

वो ये सब बोल रही थी.
मैं भी अकेला ही काफी ज्यादा शराब गटक गया था, तो बहुत ज्यादा नशा हो गया था.

वो बोलने लगी कि अब मेरी खुजली को शांत करो.
मैंने बिना कोई पल गंवाए उसको बेड पर सीधा किया और पैरों को अपने कंधों पर रखकर उसकी चूत पर लंड सैट कर दिया.

फिर एक जोर से एक धक्का दिया, तो प्रियंका एकदम से उछल गई.
वो- आह तूने तो मेरी चूत फाड़ दी. मेरे गांडू पति ने कभी इतना दर्द नहीं दिया.

मैंने लंड पेले हुए उसे एक स्माल पैग बना कर दिया और उसे एक झटके में पी लिया.
मैं उसकी चूत को धीरे धीरे चोदने लगा.
वो नशे में बोली- मुझे मजा आ रहा है थोड़ी सी शराब मेरी चूत में भी डाल दो. उसे भी मजा आ जाएगा.

मैंने उसकी बात मान कर उसकी चूत में भी शराब डाल दी.
उसकी चूत में कुछ कुछ जलन सी होने लगी लेकिन उसको मजा भी आने लगा.

मैं लगातार उसको पेलता रहा.
बीस मिनट के बाद मेरा लंड अकड़ने लगा तो मैंने स्पीड बढ़ा दी.

वो बोली- लंड का माल अन्दर ही डाल देना. मुझको मां बनना है.
अगले कुछ मिनट बाद मैंने सारा माल उसकी चूत में गिरा दिया और उसके ऊपर ही गिर गया.

नशे में होने के कारण हम दोनों को कुछ देर के लिए नींद आ गई.

प्रियंका को जब कुछ होश आया तो उसने मुझे हिला कर जगाया और अपनी चूत को देखने लगी.
उसमें से मेरे और उसके रस के साथ कुछ खून भी बहकर बाहर जम गया था.

वो उठकर चलने लगी तो उसे चलने में दिक्कत आ रही थी.
मैंने उसको सहारा दिया तो मेरी बांहों में लिपट गयी और बोलने लगी- मुझे पेशाब लगी है.

मैं उसको बाथरूम के अन्दर ले गया तो वो गोद से नीचे नहीं उतरी और उसने मेरी गोद में ही पेशाब कर दी.
उसकी पेशाब से मेरा शरीर भीग गया लेकिन उसकी मादक खुशबू से एक बार फिर लंड में कुछ करंट आने लगा.

मैं उसे वहीं पर किस करने लगा.
वो भी मस्त होने लगी.

तो मैं उसको पोजीशन में लेकर चोदने लगा.

फिर जब दोनों झड़ गए तो नंगे ही कमरे में आकर बेड पर सो गए.

रात को खाना खाते समय हम दोनों में फिर से मस्ती होने लगी और खाना खाने के बाद मैंने मैरिड गर्ल फ्री चुदाई का खूब मजा लिया.
फिर प्रियंका वापस अपने घर चली गई और 4-5 दिनों बाद ससुराल चली गई.

करीब ढाई महीने बाद उसने बताया कि वो मां बनने वाली है. उसके पेट में 2 माह का बच्चा है. अब प्रियंका बहुत खुश थी.
वो बोली- जब अगली बार वापस घर आऊंगी, तब ऐसे ही हम दोनों सेक्स का भरपूर मजा लेंगे.

अगली बार वो चार माह बाद घर आई, तो चूत में लंड देना सम्भव नहीं था.
मैंने बड़े ध्यान से उसे एक करवट दिला कर उसकी गांड की ओपनिंग की; उसकी चूत में नहीं लंड दिया क्योंकि पांच माह का बच्चा उसकी कोख में पल रहा था.

हम दोनों ने दूसरी बार भरपूर सेक्स का मजा कैसे लिया और उसने अपनी गांड में मेरा लंड डलवाया, वो सेक्स कहानी जल्दी ही मैं आप लोगों के साथ शेयर करूँगा.

आप सभी को यह मैरिड गर्ल चुदाई कहानी कैसी लगी, ईमेल और कमेंट करके जरूर बताएं.
[email protected]