मेरी प्यासी मम्मी रंडी बनकर चुदीं

हॉट मॉम सेक्स कहानी मेरी मामी की चूत की प्यास की है. मेरे पापा दूसरे शहर में नौकरी करते थे. मेरी मम्मी ने एक सहेली बनायी और उसकी मदद से लंड लेने लगी.

नमस्कार मित्रो, मैं अरुण कुमार उत्तरप्रदेश से हूँ. आप सभी को मेरा नमस्कार.

मैं कामुकताज डॉट कॉम का एक नियमित पाठक हूं. मुझे यहां की सभी सेक्स कहानियां बहुत अच्छी लगतीं हैं. सेक्स कहानी को पढ़कर मैं लंड हिला लेता था.
एक दिन मैंने भी सोचा कि मैं भी अपनी सेक्स कहानी आप सबके साथ साझा करूं.

ये हॉट मॉम सेक्स कहानी मेरी मम्मी की है.

मेरी मम्मी का नाम प्रार्थना है. उनकी उम्र 43 साल की है.
मम्मी का रंग एकदम साफ है और उनकी फिगर की साइज 36-34-38 की है. मम्मी की लम्बाई 5 फिट 9 इंच है और उनका शरीर एकदम कसा हुआ कामुक है.

हम लोग उत्तरप्रदेश के एक छोटे से कस्बे से हैं. हमारे पापा पोस्ट मास्टर हैं तो उनकी पोस्टिंग बदलती रहती है.

बीते बर्ष हमारे पापा की पोस्टिंग जिला बांदा हो आ गयी थी.
मेरे कॉलेज खुले होने की वजह से मुझे वहीं अपने कस्बे में ही रुकना पड़ा.
पापा बांदा चले गए. मैं मम्मी और छोटा भाई, हम सब वहीं रुक गए.

महीने में पापा एक या दो बार आते थे.

मेरा कॉलेज और छोटे भाई का स्कूल होने की वजह से हम दोनों घर से निकल जाते थे और मम्मी दिन में घर में अकेली रहती थीं.

कुछ दिनों तक ऐसे ही चलता रहा.

मैं एक दिन कॉलेज से घर आया, तो देखा कि वहां एक औरत बैठी थी.

मम्मी ने मुझसे कहा- अरुण, आंटी को नमस्ते करो. ये मेरी नई सहेली हैं. ये इसी कस्बे से हैं … मेरी इनसे फेसबुक पर दोस्ती हुई थी और आज ये हमसे मिलने आई हैं.

मैंने उनको नमस्ते किया और अन्दर चला गया.
फिर थोड़ी देर बाद मैं चेंज करके बाहर गया.

  चुदाई में शह और मात- 3

मम्मी ने उनका पूरा परिचय करवाया और कहा कि आंटी का नाम शीला है और इनके पति भी तुम्हारे पापा की तरह दूसरे जिले में जॉब करते हैं.

लगभग एक घंटे बाद शीला आंटी जाने लगीं और जाते समय वो मेरी मम्मी से बोलीं- फिर आऊंगी.

दोस्तो, शीला आंटी भी मम्मी की तरह बहुत कामुक थीं. उनकी उम्र भी लगभग 36 से 38 साल के करीब रही होगी. आंटी का शरीर मम्मी से काफी भारी था, यही कोई लगभग 36-40-38 का रहा होगा. उनकी लम्बाई भी कम थी … कोई 5 फिट की रही होगी.

आंटी दिखने में ऐसी लग रही थीं कि वो बहुत बड़ी रंडी हों.

अब शीला आंटी अक्सर ही मेरे घर आने लगीं और मम्मी भी उनके यहां जाने लगीं. दोनों बहुत घुल-मिल गई थीं.

कभी कभी मम्मी रात को उनके यहां ही रुक जाती थीं और कभी कभी रात को आंटी भी हमारे घर रुक जाती थीं.

मैंने नोटिस किया कि मम्मी की और उनकी कई देर तक रात में चैट एवं वीडियो कॉल होती थी.

फिर एक दिन मुझे कुछ पैसों की जरूरत पड़ी, तो मैंने अपनी मम्मी से पैसे मांगे. उस समय मम्मी नहा रही थीं तो उन्होंने बोला- मेरे लाल पर्स से ले लो.

मैं मम्मी के पर्स से पैसे लेने गया. जब उनका पर्स खोला, तो मेरी आंखें खुली रह गईं. उनके पर्स में कॉन्डोम के पैकेट रखे थे.
मैंने पैसे लिए और चुपचाप कॉलेज चला गया.

आज कॉलेज में पूरे समय मेरे दिमाग में कॉन्डोम ही घूम रहे थे. मैं सोच रहा था कि पापा तो 2 महीने से घर ही नहीं आए हैं … फिर मम्मी के पर्स में कॉन्डोम का क्या मतलब है.

कॉलेज की छुट्टी के बाद मैं घर गया.
घर पर देखा तो शीला आंटी घर पर ही थीं.
जैसे ही शीला आंटी ने मुझे देखा, वो वहां से जाने लगी.

जाते समय वो मेरी मम्मी को बोलकर गईं- प्रार्थना, मैं तुझे मैसेज कर दूंगी.
मम्मी ने ‘ठीक है …’ कहकर उनको बाहर तक छोड़ दिया.

रात को खाना खाने के बाद हम सब अपने अपने रूम में चले गए.

मैं पढ़ाई कर रहा था, तो लगभग 12 बजे मैं टॉयलेट में गया.
मुझे मम्मी के रूम से आवाज सी आ रही थी. ऐसा लग रहा था जैसे मम्मी से किसी से बात कर रही हों.

मैंने कान लगाकर सुना तो वो किसी से फोन पर बात कर रही थीं.

फोन पर मम्मी कह रही थीं कि शीला ने मुझे दिन का बोला है और आप रात का कह रहे हो. आप दिन का ही रखो.
मम्मी की बातों से लग रहा था कि मम्मी किसी आदमी से बात कर रही थीं.

फिर थोड़ी देर बाद मम्मी बोलीं- अच्छा, मैं शीला के यहां आ जाऊंगी रात को. तुम भी वहीं आ जाना.
ये कह कर मम्मी ने फोन रख दिया.

मैं चक्कर में था कि सब चल क्या रहा है. फिर अगले दिन जब मम्मी नहाने गयी थीं, तो मैंने उनका फोन चैक किया.

मैंने देखा उसमें एक ग्रुप था, जिसकी एडमिन शीला आंटी थीं. मम्मी भी उस ग्रुप में थीं और सदस्य सब मर्द थे.
केवल शीला आंटी और मम्मी ही उस ग्रुप में 2 औरतें थीं.

ग्रुप का नाम भी बड़ा सेक्सी था. उसका नाम ‘शीला प्रार्थना की जवानी के चर्चे ..’ था.
मुझे उस दिन पता चला कि मेरी मम्मी कितनी बड़ी रंडी हैं और शीला आंटी भी.

उस ग्रुप में मम्मी की और शीला आंटी की कई भद्दी फ़ोटो भी थीं.

रात को वो जिस आदमी बात कर रही थीं, वो कोई कॉलेज बॉय था. उसका मैसेज पड़ा था कि शनिवार शीला के घर रात को मिलो और मैं तुमको पूरी रात के 4000 रुपये दूंगा.

मेरी मम्मी जिस्म का धंधा करती थीं, ये जानकर मेरे तो होश उड़ गए.

दोस्तो, अब मैंने ठान ली कि शनिवार को मम्मी की अय्यासी जरूर देखूंगा.

उसी बृहस्पति को मामा घर आए. वो शुक्रवार को जाने लगे, तो मेरा छोटा भाई उनके साथ चला गया.

फिर शनिवार आया. मम्मी शाम को 4 बजे मुझसे बोलीं कि मैं शीला आंटी के घर जा रही हूं शायद रात को वहीं रुक जाऊं. तुम खाना खाकर सो जाना.

मैंने उनसे ‘ठीक है ..’ कह दिया और उनको शीला आंटी के घर ड्राप कर दिया.

रात लगभग साढ़े 9 बजे मैं खाना खाने के बाद घर में ताला लगाकर बाइक लेकर शीला आंटी के घर आ गया.
मैंने शीला आंटी के घर से कुछ दूरी पहले ही बाइक बन्द कर दी थी ताकि किसी को शक न हो.

फिर मैं कुछ देर आंटी के घर से थोड़ा दूर ही रहा और टहलने लगा.

लगभग 10 बजकर 15 मिनट पर एक लड़का कार से आया और शीला आंटी के घर में चला गया.

थोड़ी देर में मैं भी उनके घर की दीवार के पास चला गया और अन्दर झांकने की जुगाड़ करने लगा.
तभी मेरी नजर खिड़की के ऊपर लगे पटिया पर गयी. मैं किसी तरह से उस पर चढ़ गया और अन्दर देखने लगा. उधर से अन्दर का सब नजारा साफ दिख रहा था.

उस लड़के की उम्र लगभग 22 साल रही होगी. वो वहीं बैठा सिगरेट पी रहा था और शीला आंटी उसके सामने कुर्सी पर लैगिंग्स और टॉप में बैठी थीं.

उसने शीला आंटी से बोला कि जिसने फोन पर बात की थी, वो माल कहां है!
शीला आंटी ने उससे बोला- थोड़ा रुको, वो बस आ रही है.

लगभग 15 मिनट बाद मम्मी कमरे में आईं. मम्मी ने उस समय जींस और कुर्ता पहना हुआ था और मेकअप भी किया हुआ था.

शीला आंटी ने उस लड़के से कहा- लो आ गयी तेरी रानी … ले जा और कर ले जो करना है.
इस पर वो बोला- मैं कहीं नहीं जाऊंगा, जो करूंगा यहीं करूंगा. शीला तू मेरी और इसकी चुदाई की वीडियो बनाना.

फिर मम्मी उसके पास आईं और बैठ गईं.
उस लड़के ने पूछा कि तुम दारू या सिगरेट लेती हो?
शीला आंटी ने बोला- हां, ये सारे मजे करती है.

उस लड़के ने डिब्बी से एक सिगरेट निकाली. एक खुद ले ली और डिब्बी शीला आंटी की तरफ बढ़ा दी. जिसमें से उन दोनों ने भी एक एक सिगरेट निकाल ली.

मम्मी ने सिगरेट अपने होंठों में दबा ली और उसे जलाने के लिए वो उस लड़के की तरफ देखने लगीं.
उस लड़के ने उंगली के इशारे से मेरी मम्मी को करीब बुलाया और अपने बाजू में बिठा लिया.

उसने मम्मी की सिगरेट को सुलगाया, तो मम्मी बड़े ही अनुभवी अंदाज से सिगरेट फूँकने लगी.

अब उस लड़के ने मेरी मम्मी की जांघ पर हाथ रख दिया और मम्मी की जांघ दबाने सहलाने लगा.

फिर वो शीला आंटी से बोला- यार, तूने माल बहुत मस्त ढूंढा है. आज की रात मस्त हो जाएगी.

वो मम्मी की दूसरी जांघ पर हाथ फेरने लगा और उनको किस करने लगा.
मम्मी भी उसका साथ दे रही थीं.

कुछ देर ऐसा ही चलता रहा.
फिर शीला आंटी उससे बोलीं- पूरी रात यही करना है या तुम दोनों और भी कुछ आगे करोगे.

ये सुनकर वो लड़का खड़ा हुआ और उसने अपना पैंट उतार दिया. उसका खड़ा लंड मम्मी के सामने लहराने लगा.

अपने सामने 7 इंच का मोटा लंड देखकर मम्मी खुश हो गईं और उन्होंने लंड पकड़ कर उसे अपने मुँह में ले लिया.
उस लड़के ने मम्मी के मुँह में लंड अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया.

फिर कुछ देर बाद उसने मम्मी के कपड़े उतारे और उनके दूध दबाते हुए बोला- चल भैन की लौड़ी … अब पोजीशन में हो जा. मैं तेरी चूत चोदूंगा.
मम्मी बोलीं- लेट कर पेलेगा या कैसे करेगा?

उसने मम्मी को कुतिया बनने को कहा. मम्मी भी झट से कुतिया बन गईं. उसने मम्मी की चुत में लंड लगाया और मम्मी की कमर पकड़ कर लौड़ा चुत में एकदम से ठांस दिया.

मम्मी की आह निकल गई और बोलीं- आह धीरे पेल न … इतनी जोर से घुसेड़ दिया.
वो फिर से एक और ठोकर लगाता हुआ बोला- साली रंडी … चिल्ला तो ऐसे रही है माँ की लौड़ी जैसे पहली बार लंड ले रही हो.

बस कुछ ही धक्कों के बाद वो लौंडा मेरी मम्मी को हुमच हुमच कर चोदने लगा और मेरी मम्मी भी अपनी गांड उठा उठा कर उसका लंड अपनी चुत में लेने लगीं.

दूसरी तरफ शीला आंटी मेरी हॉट मॉम सेक्स की वीडियो बना रही थीं.

थोड़ी देर बाद उस लड़के ने मेरी मम्मी की चुत में अपना रस निकाल दिया और लंड बाहर निकाल कर लेट गया.

उसका लंड बाहर निकला, तो शीला आंटी ने मोबाइल एक तरफ रखा और कपड़े उतार कर अपनी गांड हिलाते हुई आ गईं.
उन्होंने उस लड़के के लौड़े को मुँह में ले लिया और चूसने लगीं. उन्होंने लंड चूस कर साफ़ कर दिया और लंड के गोटों को चुभलाने लगीं.

वास्तव में शीला आंटी कोई जादू जानती थीं. कुछ ही देर में उस लड़के के लंड ने फिर से खड़ा होना शुरू कर दिया.

अबकी बार उस लड़के ने शीला आंटी को अपने नीचे ले लिया और उनके ऊपर चढ़ कर लंड चुत में पेल दिया.
शीला आंटी मस्त आहें भरने लगीं और चुदाई का मजा लेने लगीं.

दोस्तो उस रात उस लड़के ने मेरी मम्मी और शीला आंटी की दो दो बार चूत चोदी.

इसके बाद उन तीनों ने दारू पीना शुरू की.
बाद में शीला आंटी और मेरी मम्मी ने मिल कर खाना परोसा और उन तीनों ने खाना खाया.

बाद में वो लड़का मेरी मम्मी और शीला आंटी को को चार चार हजार रूपए देकर चला गया.

ये मेरी मम्मी की चुदाई की कहानी थी जो मैंने आपके समक्ष रखी. ये हॉट मॉम सेक्स कहानी एकदम सच्ची है. आशा करता हूँ कि आपको पसन्द आई होगी. कृपया अपने कमेंट्स और विचार मुझे ईमेल करके जरूर बताएं.
धन्यवाद.
[email protected]