गर्लफ़्रेंड की कुंवारी बहन को चोदा

X वर्जिन गर्ल हॉट चुदाई का मजा मुझे दिया मेरी गर्लफ्रेंड की कुंवारी बहन ने! उसने अपनी बहन को पहली चुदाई का मजा मेरे लंड से दिलाने के लिए बुलाया था.

दोस्तो, मैं शुभम शर्मा, मैं जयपुर का रहने वाला हूँ।

मेरी पिछली कहानी
माउंट आबू टूर पर अफ़्रीकन सेक्स के मजे
में मैंने बताया था कि कैसे मैंने और मेरी गर्लफ़्रेंड शनाया ने माउंट आबू टूर अफ़्रीकन सेक्स के मज़े लिए।

माउंट आबू से लौटने के कुछ दिन बाद शनाया की छोटी बहन दिया जयपुर हमारे साथ वेकेशन में रहने आने वाली थी।
दिया को शनाया की चचेरी दीदी ज़िनल और शनाया की माँ को हमारे सम्बंध के बारे में पता था लेकिन हमारी सेक्स लाइफ़ और तरीक़ों के बारे में नहीं जानती थी।

तो दिया शनाया की माँ की इजाज़त लेकर हमारे साथ रहने आ गई।
बल्कि शनाया ने ही उसे बुलाया था।

दिया की उम्र 19 साल थी, रूप रंग बिलकुल शनाया की तरह था।

ख़ैर शनाया ने मुझे दिया का कॉल आने पर स्टेशन से लाने को कहा।
मैं उसे पिक करने गया और दिया को हमारे फ़्लैट पर ले आया।

शनाया ने उसे फ़्रेश होने को कहा।
शाम का समय था।

दिया फ़्रेश होकर आई।

फिर हम सब मिलकर बाहर डिनर पर गए।
रात को घूम फिरकर लौटे।

दिया को उसके कमरे में छोड़ शनाया हमारे बेडरूम में आ गई।

आज शनाया को चोदने के मूड में था।
शनाया जैसे ही नाइट ड्रेस पहने लगी, मैंने उसे रोक दिया और उसे नंगी उठाकर बेड पर लेटा के उसे चूमने लगा।
शनाया ने भी मेरा साथ दिया।

थोड़ी देर बाद शनाया ने मुझे रोक दिया और बोली- आज का प्लान कुछ और है।
मैंने उसे पूछा- क्या प्लान है?
उसने बताया कि दरअसल उसने दिया को यहाँ बुलाया है और वह चाहती है कि उसकी बहन की पहली चुदाई मुझसे हो।

यह X Virgin Girl Hot Story दिया की पहली चुदाई की है.

मैंने उसे चौंकते हुए पूछा- क्या दिया को इसके बारे में पता है?
शनाया ने कहा- दिया को मैंने पहले ही सब समझा रखा है और उसे हमारे साथ शामिल करने का प्लान बनाया है।
मैंने ख़ुश होते हुए कहा- तुम्हारी बहन है तो बहुत सुंदर … उसे चोदने का अलग ही मज़ा होगा।
मेरी बात सुन कर शनाया खुश हुई.

मैंने शनाया को कहा- अब सब तय है तो देर किस बात की? बुलाओ दिया को आज!

शनाया ने दिया को कॉल करके हमारे बेडरूम में बुला लिया।
मैं और शनाया बेड पर पहले ही नंगे लेटे थे।

दिया ने आकर दरवाज़ा खोला तो वह हम दोनों को नंगा देख शर्मा गयी।

शनाया उसे मेरे पास लाई और शर्माने से मना करते हुए उसने कहा- अब तो आदत डाल लो क्योंकि रोज़ ये खेल तुम्हें खेलना है।

शनाया ने दिया के हाथ में मेरा खड़ा लंड दे दिया।
दिया ने जैसे ही मेरा लंड पकड़ा, मुझे उसके नर्म हाथों का अहसास हुआ और मेरा लंड और ज़्यादा तन गया।

शानाया ने उसे लंड हिलाने को कहा.
तो दिया शर्माती हुई लंड को पकड़ कर हिलाने लगी।

मैंने दिया को अपनी बाहों में भरा और उसने बिना शर्माए मज़े लेने को कहा।
उसे मैंने चूमना शुरू किया और दिया ने मेरा पूरा साथ दिया।

शनाया ने दिया के कपड़े उतार उसे नंगी कर दिया।

फिर मैं दिया के नए अनछुए स्तनों को दबाने लगा।
तब मैं दिया को बेड पर लेटाकर उसके पूरे नंगे शरीर को चूमने लगा। दिया के दूध मसल कर इन्हें चूसना शुरू कर दिया। उसके पूरे वक्ष पर लाल निशान बन चुके थे।
दिया के लिए यह पहली बार था इसीलिए वह बहुत ज़्यादा उत्तेजित थी और आह आह की आवाज़ें निकाल रही थी।

मैं दूध चूसने के बाद उसकी साफ़ बुर को रगड़ने लगा।
बुर पर मेरा स्पर्श मिलते ही दिया उत्तेजित हुई और आहें भरती हुई अपनी गांड ऊपर करने लगी।
उसकी बुर बिलकुल टाइट थी।

मैंने धीरे से उसमें एक उंगली डालने की कोशिश की लेकिन दिया को दर्द होने लगा।
तब मैंने दिया की बुर को चाटकर गीली करने का सोचा।

मैंने उसकी बुर पर होंठ रखकर बुर को चाटना शुरू किया।
जैसे जैसे बुर चाटने लगा, दिया की बुर से पानी आने लगा था।

फिर मैं उसकी बुर को चूसते चूसते बुर में अपनी जीभ डालने लगा।
अब मैंने शनाया को लुब्रिकेंट लाने को कहा क्योंकि दिया की बुर टाइट है और पहले बार चुदने में उसको तकलीफ़ होगी।

शनाया ने मेरे लंड पर और दिया की बुर पर लुब्रिकेंट लगाकर चिकना किया।
फिर मैंने दिया की टाँगें फैलाई और अब मैं उसकी बुर में लंड पेलने के लिए तैयार था।

मैंने उसकी बुर पर लंड रखा और एक झटका दिया।
मेरे लंड का सुपारा अंदर गया।
इतने में ही दिया चीख उठी- आई मम्मी … मर गयी … दीदी बचाओ!

उसे दर्द हो रहा था।
कमसिन कुँवारी बुर जो थी।

तब मैंने लंड बाहर निकाला।

अबकि बार मैंने दिया को शांत होने दिया और फिर वापस लंड उसकी बुर पर रखा और एक ज़ोर का झटका दिया।
इस झटके से दिया की सील टूट गई और खून आने लगा।

दर्द से वह चीखने लगी लेकिन मुझे शनाया ने पेलने को कहा तो मैंने लंड बाहर नहीं निकाला और अंदर की ओर धक्का देने लगा।
मेरा लंड पूरा दिया की बुर में घुस चुका था।

अब मैंने धीरे धीरे धक्के लगाना शुरू किया।
दिया भी शांत होकर अब अपनी पहली चुदाई के मज़े ले रही थी, गांड उठा उठा कर चुद रही थी।

फिर मैंने अपने धक्के तेज किए।
मैं झड़ने वाला था।
मैंने शनया को बताया तो उसने मुझे दिया की चूत में ही झड़ने को कहा।

और मैं तेज धक्के देते देते में दिया की चूत में झड़ गया।
दिया की चूत लाल हो गई थी, उसकी चूत से हल्का खून और मेरा रस निकल रहा था।

शनाया ने उससे पूछा- दिया, कैसा लगा?
वह बोली- बहुत दर्द हुआ, जान निकल गयी … लेकिन बाद में चुदाई में मज़ा आया।

उसने शनाया से कहा- दीदी आप सही कह रही थी, सेक्स करने में बहुत मजा आता है, मुझे बहुत अच्छा लगा।

थोड़ी देर रुकने के बाद शनाया ने दिया को मेरा लंड चूसकर खड़ा करने को कहा।

दिया ने मेरे लंड को पकड़ कर हिलाया और फिर थोड़ी हिचकिचाती हुई मुँह में लंड लेने की कोशिश करने लगी।

शनाया ने उसे हमारी चुदाई की वीडियो दिखाई थी जिससे उसे पूरा अंदाज़ा था लंड चूसने का।
वह अब लोलिपोप की तरह मेरा लंड चूस रही थी।

कुछ ही देर में मेरा लंड पूरा तन गया।
फिर मैंने दिया को घोड़ी बनाया।

दिया को अंदाज़ा हो गया था कि मैं अब उसकी गांड मारने वाला हूँ।
वह डर रही थी लेकिन उसे भी चूत मरवाने के बाद अब चस्का लग चुका था और गांड में भी लंड लेना चाहती थी।

शनाया ने उसकी गांड में लुब्रिकेंट लगाया और मुझे पेलने का इशारा किया।

मैंने दिया की गांड के छेद पर लंड रखा और ज़ोर से दबाव दिया।
मेरा थोड़ा सा लंड अंदर गया लेकिन दिया दर्द से कराहने लगी।
पर मैंने फिर भी लंड बाहर नहीं निकाला और ज़्यादा ज़ोर लगाकर अंदर घुसाने लगा।

वह चिल्लाती रही और उसकी गांड से खून भी आने लगा।
लेकिन मैंने लंड घुसाना जारी रखा और धीरे धीरे मेरा पूरा लंड गांड के अंदर घुस गया।

अब मैंने धक्के लगाना शुरू किया और दिया की गांड मारने लगा।
लम्बी गांड चुदाई के बाद मैंने दिया की गांड में अपनी वीर्य झाड़ दिया।

फिर थोड़ी देर आराम के बाद शनाया के कहने पर दिया ने मेरा लंड चूसकर खड़ा किया।

इस बार मैंने दिया को अपने लंड पर बैठाया और उसे उछालने लगा।
दिया ऊपर नीचे होकर अच्छे से चुद रही थी।

इस बार मेरा मन दिया के मुँह में झाड़ने का था।
मैंने दिया को लंड से उठाया और बेड पर लेटाया।
फिर हम 69 की स्थिति में आए।

मैंने उसकी लाल चूत को चाटना शुरू किया और उसके मुँह में मेरे लंड के झटके देने लगा।

कुछ देर बाद मैंने उसे बैठाया और मुँह में लंड रखकर तेज झटके देने लगा।
थोड़ी देर मुँह चोदने के बाद मैंने उसके मुँह में पूरा वीर्य झाड़ दिया।
उसका मुँह मेरे वीर्य से भर गया।

वह उसे थूकने वाली थी लेकिन शनाया ने उसे पीने के लिए कहा तो वह पी गई।

19 साल की कुँवारी चूत चोदने में मुझे बहुत मज़ा आया।

शनाया पास बैठ कर पूरी चुदाई देख रही थी।

दिया ने शनाया से कहा- दीदी, मुझे चुदाई में बहुत मज़ा आया है। अब मैं जितने दिन यहाँ हूँ, रोज जीजू से चुदूँगी।
शनाया ने कहा- बिल्कुल … दोनों बहनें साथ में चुदाई का मजा लूटेंगी।

उसके बाद मैंने दोनों बहनों को दिन में, रात में खूब चोदा।
इससे आगे की कहानी फिर कभी!
आपको यह X वर्जिन गर्ल हॉट चुदाई कहानी कैसी लगी?
मुझे मेल और कमेंट्स में लिखें.
[email protected]

बॉलीवुड हिरोइन की असली नंगी क्लिप- 2