गर्लफ्रेंड ने बस में मेरा लंड पकड़ लिया

हॉट GF चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि एक बार गर्लफ्रेंड को चोदने के बाद मैं उसे टाइम नहीं दे पाया. उसने दूसरा यार बना लिया. एक दिन उसका फोन आया तो क्या हुआ?

दोस्तो, नमस्कार.
माफ कीजिएगा मैं आपको अपना सही नाम नहीं बता सकता. मेरा कहानी में नाम है आशू!

मेरी पहली सेक्स कहानी
गर्लफ्रेंड को घर बुलाकर चोदा
आपको अच्छी लगी थी और अप सभी के काफी मेल भी आए थे.
उसके लिए आपका धन्यवाद.

आज मैं आपको उस सेक्स कहानी के आगे की बात सुना रहा हूँ. मजा लें Hot GF Chudai Story का!

एक दो बार गर्लफ्रेंड को चोदने के बाद मैं अपनी गर्लफ्रेंड को ज्यादा टाइम नहीं दे पा रहा था.
उसने भी मेरा ज्यादा इंतजार नहीं किया और अपना दूसरा बॉयफ्रेंड बना लिया.

उसके बाद तो मैं लंड हिलाता रहा गया और सड़कछाप मजनूं बन कर रह गया.

अब मुझे अपने लंड के लिए छेद नहीं मिल रहा था और लंड दिमाग की बात सुन ही नहीं रहा था, वो बस चूत चूत कर रहा था.

इस वजह से मुझे कुछ काम नहीं रहा गया था, बस पूरे दिन पॉर्न देख कर मुठ मारने लगा था.
कोई दूसरी लड़की भी नहीं पट रही थी.

एक दिन सुबह सुबह मेरी पुरानी गर्लफ्रेंड की कॉल आई.
उसने मेरा हाल चाल पूछा.

मेरी झांटें सुलग गई थीं.
मैं बहुत गुस्से में था तो मैंने बोल दिया- अब क्या फायदा हाल पूछकर, क्यों जले पर नमक छिड़क रही हो.
इतना कह कर मैंने फोन काट दिया.

दूसरे दिन सुबह से उसकी कॉल फिर से आई.
वो मेरा हाल चाल पूछने लगी.

मैं आज उससे बात की और बात करते करते मैंने पूछा- और सुना तेरा नया बॉयफ्रेंड कैसा है?
वो रोने लगी और बोली- अब मेरा कोई बॉयफ्रेंड नहीं है.

मैंने कहा- क्यों क्या हुआ … वो भाग गया क्या?
वो रोने लगी और उसने कहा- तुम क्यों मुझे और रुला रहे हो … मैं तुमसे प्यार करती हूँ.

  नकली बुरचोदी भाभी बनी लंड के मजे के लिए

उसकी बात सुनकर पहले तो मुझे लगा कि साली लड़कियों की जात का भी धर्म नहीं है. बस लंड की तलाश में रहती हैं.
फिर मैंने सोचा कि लड़के कौन से कम हरामी होते हैं.

मैंने सोचा कि मां चुदाए क्या करना … ये खुद चूत दे रही है, तो क्यों मना करूं.
वैसे भी बैठे बिठाए मेरे लंड के लिए छेद का इंतजार खत्म हो रहा है.

चूत की जुगाड़ दिखते ही मेरे मन में लड्डू फूटने लगे.

बस फिर क्या था, मैं उसकी चूत पाने की चाहत में लग गया.

पहले तो मैंने उसके मन में अपने लिए प्यार पैदा किया, उससे सहानुभूति भरी बातें की कि क्या हुआ.

“जान क्या हुआ … मुझे तो मालूम चला था कि तुम्हें कोई दूसरा प्यार करने वाला मिल गया था?”
वो बोली- तुमसे ऐसा किसने कहा?

मैंने कहा- बस मुझे यूं ही लगा. तुम्हारा कोई समाचार ही नहीं मिलता था, इसलिए मैं सोचा कि शायद तुमको मेरी जरूरत खत्म हो गई है.
वो बोली- नहीं यार, मैं कबसे तुम्हारे फोन का वेट कर रही थी और तुमने तो मुझे याद करना ही छोड़ दिया था.

मैंने कहा- चल ठीक है. आज से हम दोनों फिर से एक. अब हंस पड़!
वो हंस दी और बोली- ऐसे कैसे एक?

मैंने कहा- फिर कैसे एक होंगे?
वो हंस दी और बोली- एकदम बुद्धू हो क्या?

मैंने भी समझ लिया कि जब चूत में लंड घुसेगा तभी एकता होगी.
मैंने कहा- चल अपन दोनों इस बार पक्की वाली एकता करेंगे.

वो बोली- हां फेविकोल वाला मजबूत जोड़ जैसे पक्की करेंगे.
मैंने कहा- फेविकोल वाली से दिक्कत हो जाएगी बेबी.
वो बोली- मतलब … दिक्कत कैसी हो जाएगी?

मैंने कहा- पक्का वाला जोड़ तो एक घंटा तक रह सकता है, फिर तो अलग अलग होना ही पड़ेगा.
वो समझ गई कि मैं चुदाई की बात कर रहा हूँ.

वो खिलखिला कर हंस दी और बोली- पूरे कमीने हो … अभी मिले भी नहीं और ऐसी बात करने लगे.
मैंने कहा- चल मिल लेते हैं.
वो बोली- हां पहले बात तो कर … फिर मिल भी लूंगी.

ऐसे ही हम दोनों में बातें होना शुरू हो गईं.

फिर एक दिन पता नहीं उसको क्या हुआ, उसने मुझे मिलने बुलाया.
मैं बहुत खुश हुआ कि आज लौंडिया मूड में है. साली की चूत चोदने मिलेगी.

Video: देवर ने भाभी के साथ किया जबरदस्ती

उसके फोन के बाद मेरा मन बहुत खुश हुआ.
सच में मेरी खुशी का ठिकाना नहीं था.

जब मैं उससे एक मॉल में मिलने गया तो कसम से क्या माल लग रही थी.
उसकी चूचियां पहले से ज्यादा बाहर को निकली हुई थीं.

शायद उसको सेक्स की बहुत जरूरत थी इसलिए उसने अपनी चूचियां खुद से दबा दबा बड़ी कर ली थीं.

जैसे ही वो मुझसे मिलने मेरे पास आई, उसने मुझे कस के हग किया और सबके सामने मेरे होंठों पर एक जोर का किस कर दिया.

मैंने बोला- ये क्या कर रही हो … सब देख रहे हैं?
वो बोली- मुझे दुनिया से कुछ लेना देना नहीं है. मुझे बस तुमसे मतलब है.
मैं कुछ नहीं कहा.

उसके बाद वो बोली- चलो आज वो करने का मेरा मूड बहुत है.
मैंने बोला- मैं कंडोम नहीं लाया हूँ.

वो बोली- कोई बात नहीं, आज अपन बिना कंडोम के सेक्स करेंगे.
आज उसका मूड कुछ ज्यादा ही दिख रहा था, शायद वो बहुत समय से लंड की प्यासी थी.

मैंने जल्दी से अपने फोन से एक ओयो रूम बुक किया और उसके बाद हम रूम की तरफ चल दिए.

हमने बस पकड़ी और सबसे पीछे वाली सीट पर बैठ गए.

वो बस में ही चालू हो गई, मुझे किस करने लगी.
सब मुझे देख रहे थे.

मैंने उससे कहा- रुको जान … यहां नहीं, ये सब रूम पर चल कर करते हैं.
उसके बाद उस हॉट GF मेरा लंड पकड़ लिया और बोली- ये तो अभी भी पकड़ सकते हैं.
मेरा लंड हद से ज्यादा कड़क हो गया था.

वो लंड पकड़ते ही बोली- ओ माय गॉड … ये तो पहले से ज्यादा बड़ा हो गया है.
मैंने उससे कहा- हां तुम्हारी याद में लम्बा हो गया है.
वो खिलखिला पड़ी.

कुछ देर के बाद हम दोनों रूम पर पहुंच गए.
होटल में औपचारिकता पूरी करके हम दोनों रूम में आ गए.

अन्दर घुसते ही उसने किधर भी नहीं देखा और बस मुझे जोर जोर से किस करने लगी.
वो पूरे जोश में थी.

मैंने उससे कहा- जरा रुको तो बेबी. पहले हम फ्रेश हो लेते हैं, फिर तसल्ली से करते है.
वो बोली- चलो, साथ में नहाते हैं.

मैंने ओके कह दिया.
हम दोनों बाथरूम में आने को राजी हो गए.

हमारे पास एक्स्ट्रा कपड़े नहीं थे तो तय हुआ कि नंगे ही नहाएंगे.

मैं पहले नहाने के लिए गया और कपड़े उतार कर मैंने अभी नहाना शुरू ही किया था, इतने में वो मेरे पीछे आकर मुझसे चिपक गई.

वो एकदम नंगी थी और उसने अपनी छाती मेरी पीठ पर लगा दी.
मेरा लंड एकदम से खड़ा हो गया.

जब मैंने उसको अपने सामने किया तो कसम से क्या माल लग रही थी.
उसके दूध एकदम टाइट थे और यही 32 की साइज के थे.

मैंने अपने दोनों हाथों से उसके दूध अपने हाथ में ले लिए और उनको दबाने लगा.
उसको भी मजा आ रहा था, वो भी आ आ उ उ करने लगी.

उसी जोश में उसने मेरा लंड पकड़ लिया और उसको अपने हाथों से ऊपर नीचे करने लगी.

वो घुटनों के बल बैठ गई उसने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया.

मैं आपको बता दूँ कि मेरे लंड का साइज काफी बड़ा है … और वो इतनी बड़ी वाली रांड हो गई थी कि साली एक बार में पूरा लंड अपने मुँह में ले गई.

मेरे लंड के सुपारे को उसके गले की गर्मी का अहसास हुआ तो लंड झनझना गया.
सच बता रहा हूँ दोस्तो बड़ा आनन्द आ रहा था.

कुछ ही देर उसकी लंड चुसाई से मैं अपनी चरम सीमा पर पहुंच गया.
मैंने उसके सर को पूछे करने की कोशिश की.
मगर उसने मेरा लंड अपने मुँह से नहीं निकाला.
वो मस्ती से उसे चूसती रही.

मैं झड़ने वाला था, मैं कहा- हट जा … रस निकलने वाला है.
उसने हाथ के इशारे से कहा- अपना पानी मेरे मुँह में डाल दो, मैं इसको पीना चाहती हूँ.

शायद वो चुद चुद कर एकदम हब्शी हो गई थी और साली को बहुत दिन से लंड मिला नहीं था इसलिए वो प्यासी थी.

मैंने अपना सारा पानी उसके मुँह में छोड़ दिया.
वो बेहिचक सारा वीर्य पी गई.

मैं आंह आंह करता हुआ अपने लंड को उससे चुसवाता रहा.
जब तक पूरा लंड निचुड़ कर ढीला नहीं हो गया, मादरचोद ने छोड़ा ही नहीं.

उसके बाद हम दोनों नहा कर कमरे में आ गए और सीधा बेड पर चले गए.
मैं एक बार लंड झाड़ चुका था, पर वो अभी भी प्यासी थी.

हम दोनों फिर से एक दूसरे को किस करने लगे.

हम दोनों पहले से ही नंगे थे रो अंग से अंग रगड़ कर वासना भड़का रहे थे.
वो बोली- मैंने तुम्हारे लंड की प्यास बुझाई है, अब तुम मेरी चूत की प्यास बुझाओ.

मैं समझ गया कि ये क्या चाहती है.
उसे सीधी चित लिटा कर मैं बैठ गया और उसकी चूत में उंगली करने लगा.
फिर अपना मुँह को चूत में लगा दिया.

वो जोर जोर से ‘आ उ आ उ …’ करने लगी.
वो बहुत तड़फ रही थी, बोली- बस करो … अब क्यों सता रहे हो, जल्दी से डाल दो अपने लंड को मेरी चूत में और फाड़ दो मेरी चूत को. चाटना चूसना बाद में कर लेना.
वह वासना के शिखर पर पहुंच गई थी.

मैंने भी देर नहीं की और अपने लंड को अपने हाथ में लेकर और उसकी चूत के मुँह पर रख दिया.
वो लंड की गर्मी पाकर और भी ज्यादा मचलने लगी. वो गांड उठाती हुई बोली- डालो न अब … खेल शुरू करो.
मैंने हौले हौले करके अपना आधा लंड उसकी चूत में डाल दिया.

आधा लंड चूत में घुसा तो वो दर्द के मारे पागल हो गई. वो वाकयी में बहुत दिन से लंड की प्यासी थी. शायद उसने किसी के साथ संभोग तो छोड़ो अपनी चूत में उंगली को भी नहीं किया था.

मैं लंड अन्दर दबाने लगा. वो चीखने लगी- उई मम्मी बहुत मोटा है … मुझे दर्द हो रहा है मेरी फट रही है … आंह निकालो इसको … साले मेरी चूत फाड़ दी तुमने … बहुत दर्द हो रहा है, जल्दी निकालो भोसड़ी के.

वो मुझे गाली देने लगी.
मैंने उसका मुँह बंद किया और झटके देता रहा. थोड़ी देर बाद उसको भी मजा आने लगा. वो भी ‘आ उ आ उ आह उन्ह …’ करती हुई मजे ले रही थी.

कुछ देर बाद तो वो सारा दर्द भूल चुकी थी और गांड उठा उठा कर चुदाई के मजे ले रही थी.
मैं हॉट GF को 20 मिनट तक चोदता रहा. उसके बाद मैं झड़ने वाला था.

मैंने उससे पूछा- बेबी कहां डालूं अपना पानी?
वो बोली- अन्दर ही छोड़ दो.

उसके बाद मैंने अपना सारा पानी उसकी चूत में डाल दिया और उसके ऊपर ही गिर गया.
वो मेरी पीठ को सहलाती हुई मुहे चूमने लगी.

दोस्तो इस तरह से मेरा चूत का इंतजार खत्म हो गया.
उसके बाद हम दोनों फिर से नहाने आ गए. नहाने के बाद फिर मैंने उसको गर्भ निरोधक गोली लाकर खिलाई, जिससे वो प्रग्नेंट न हो.

फिर उसके बाद हमने पूरे दिन चुदाई का मजा लिया.
उस दिन मैंने उसकी चूत गांड दोनों मारी. हम दोनों बहुत थक गए सो एक घंटा सो गए.

उसके बाद मैं उसको घर छोड़ कर आया. उससे सही से चला भी नहीं जा रहा था.
अब यह सिलसिला चलता रहा. हम दोनों का जब मन करता, तब संभोग कर लेते हैं.

आपको मेरी हॉट GF चुदाई स्टोरी कैसी लगी, प्लीज़ मेल करें.
[email protected]

Video: भाई ने बहन की चूत मारी