मेरे पहले प्यार और पहले सेक्स की कहानी-1

फर्स्ट लव किस स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने दोस्त की कजिन को देखा तो उस पर मर मिटा. मैंने उससे कैसे अपने प्यार का इजहार किया? कैसे उसे पहली बार किस की.

दोस्तो, कामुकताज डॉट कॉम के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार.
मेरा नाम दीप है. मेरी उम्र 21 साल है. मैं मध्यप्रदेश के खरगोन जिले के एक छोटे से गांव से हूँ.

कामुकताज डॉट कॉम पर ये मेरी पहली सेक्स कहानी है. यह कहानी मेरे ही जीवन की एक सत्य घटना पर आधारित है.
इस My First Love Kiss Story में किसी प्रकार का कोई झूठ नहीं है. सिर्फ मैंने गोपनीयता के लिए नाम बदले हैं. यदि कोई गलती हो तो नज़रअंदाज़ कीजिएगा.

सबसे पहले मैं आपको अपने बारे में बता दूं. मैं एक साधारण परिवार से हूँ. मेरी हाइट 5 फुट 6 इंच है, रंग सांवला है.

मैं 21 साल का हूँ, पर लगता नहीं हूँ क्योंकि मेरा वजन सिर्फ 48 किलो है. मैं एक बच्चा ही दिखता हूँ, जिससे कम उम्र की लड़कियां मुझसे बहुत जल्दी आकर्षित हो जाती हैं.

स्वभाव से मैं बहुत ज्यादा चंचल हूँ. मतलब मैं बहुत ज्यादा शरारती हूँ. मैं कुछ भी बोलने से पहले सोचता नहीं हूँ, जो भी मुँह में आता है, बक देता हूं.

बात 2019 सितम्बर की है, जब मैं 19 साल का था.
मेरा एक दोस्त है अंकित, मुझे उसकी बुआ की लड़की पसन्द आ गयी थी.
तो मैंने कहीं से जुगाड़ करके उसका मोबाइल नंबर निकाल लिया.

मेरे दोस्त अंकित की बुआ की लड़की का नाम कोमल है.
कोमल एक साधारण और बहुत समझदार लड़की थी, साथ ही काफी सुंदर भी थी. उसका रंग गोरा था. एकदम साफ स्किन, मासूम चेहरा वो मुझसे कुछ ही महीने छोटी थी.

वो घर में सबका बहुत ख्याल रखती थी.
पहले भी उससे मेरी हाय हैलो हुई है पर अपने दोस्त की बहन होने के नाते उससे कुछ कह नहीं पाता था.
मैं हमेशा ही अपनी मस्ती में रहता था.

  Padosan Aunty ki Beti ko Choda

पिछले साल उसकी मम्मी की एक एक्सीडेंट में मौत हो गयी थी तो वो ज्यादातर टेंशन में रहती थी.

उसके पापा थोड़े अय्याश किस्म के थे, इस वजह से कोमल के पापा उसके पास न रहकर दूसरे शहर में किसी और औरत के साथ रहने लगे थे.
वो अपने बच्चों के पास महीने में कभी कभार ही आते थे.

मैंने जब कोमल को कॉल किया तो उसने थोड़ी देर बात की और कॉल काट दिया.
मुझे लगा कि ऐसे बात नहीं बनेगी.

पर शाम को उसके नंबर से मुझे कॉल आया.
इस बार कॉल पर उसकी छोटी बहन थी.

कोमल उस समय बाथरूम में नहा रही थी. कोमल और मेरे बीच जो बात हुई थी वो उसे पता थी क्योंकि वो उस टाइम कोमल के साथ ही थी.

मैंने उससे कहा कि यार तुम कुछ कर दो ना … मैं कोमल को बहुत पसंद करता हूँ.
उसने कहा- ठीक है मैं दीदी से बात करके देखती हूँ.

फिर दो दिन तक कोई जवाब नहीं आया तो मैंने सोचा कि अब उसका कॉल नहीं आएगा.
ऐसे ही एक दिन और निकल गया.

फिर उसी नंबर से मेरे पास कॉल आया. इस बार कॉल पर कोमल थी.

मैं- हैलो कौन?
कोमल- कोमल.
मैं- हां, कोमल क्या हुआ?
कोमल- तुमने छोटी से क्या कहा?

मैं- उसने तुमसे कुछ कहा क्या?
कोमल- उसने मुझसे कुछ नहीं बोला है. मेरे मोबाइल पर तुम दोनों की रिकॉर्डिंग हो गयी है, मैंने वो सुनी है.

मैं शायद पहली बार किसी के सामने कुछ बोल ही नहीं पा रहा था क्योंकि मैं पहली बार किसी लड़की को से ऐसे बात कर रहा था.

कोमल- क्या तुम सच में मुझे पसंद करते हो?
मैं- अंह … हां मैं तुम्हें बहुत पसन्द करता हूँ.
कोमल- ये बात अंकित को पता चल गई तो जानते हो क्या होगा?
मैंने कहा- मैं सब संभाल लूंगा.

जैसे तैसे उसने हां कर दी.
पर शायद उसने ऊपरी तौर पर ही हां कही थी.
क्योंकि पहले वो मेरे एक दूसरे फ्रेंड से बात करती थी, ये बात उसी ने मुझे बताई थी.
पर वो मिलने की जिद करता रहता था, जिस कारण उसने कोमल से बात करना बंद दिया था.

मैंने बोला- मैं उसके जैसी जिद नहीं करूंगा.
वो मेरी इस बात से जरा खुश सी दिखी.

अब हमारी रोज बातें होने लगी.
वो शाम को उस समय कॉल करती थी, जब उसके घर कोई नहीं रहता था.
उसने मुझसे प्रॉमिस मांगा था कि ये बात हम दोनों में से किसी और पता नहीं चलनी चाहिए.

वो मेरी बातों से कभी बोर नहीं होती थी.
मैं भी हमेशा उसे अपनी बातों से हंसाया करता था.

धीरे धीरे हमारी बातें मिलने पर पहुंच गई, पर मिलने के लिए वो साफ मना कर जाती थी.

हमें बात करते हुए 3 महीने हो गए थे.

एक ही गांव में रहते हुए भी वो मिलने नहीं आती थी.
जिससे मैं उससे जरा नाराज़ रहने लगा.

फिर वो समझ गई कि मैं नाराज हूँ तो एक दिन वो मिलने को तैयार हो गयी.
उसने मुझसे मिलने से पहले ही कह दिया था कि मैं कुछ नहीं करूंगी.
मैंने कहा- एकाध चुम्मी तो मिल जाएगी!

वो हंस दी और इस तरह से हमारी सिर्फ किस करने तक की ही बात हुई.
मैं भी मान गया.

मेरे मोहल्ले में उसकी एक रिश्तेदार भाभी रहती हैं.
वो उनके घर आई.

उसने हमारे बारे में भाभी को बता दिया था. भाभी ने ही हम दोनों के मिलने का प्लान किया था.

भाभी ने मुझे रात को नौ बजे अपने घर बुलाया.
मैं टाइम पर पहुंच गया.

मुझे देख कर भाभी ने कहा- अन्दर चले जाओ कोमल अन्दर ही है.
कोमल बहुत डरी हुई थी क्योंकि वो बिना मां की लड़की थी, उसे बदनामी से बहुत डर लग रहा था.

मैं उसके पास गया तो वो खड़ी हो गयी.
मैंने उसको बैठने को बोला तो वो बेड पर मेरे पास बैठ गयी.

थोड़ी देर मैं उसके साथ बातें करता रहा वो हर बात का जवाब हां और ना में दे रही थी.
उसकी हालत देखते हुए मैंने बहुत ही आराम से उसे अपने पास खींचा.
उसने गर्दन नीचे की हुई थी.

मैंने उसका चेहरा ऊपर किया और एक लंबा किस किया.
दो मिनट की फर्स्ट लव किस के बाद मैं अपना हाथ उसके चेहरे से हटाकर नीचे लाने लगा.

Video: हॉट सेक्सी लेडी की मस्त चुदाई

मेरा हाथ उसके टेनिस बॉल जितनी साइज की चूची पर आया तो उसने मेरा हाथ पकड़ लिया.
उसने मुझसे कहा कि हमारी बात सिर्फ किस की हुई थी.

मैंने अपना हाथ नहीं हटाया, तो उसने भी थोड़ा जोर लगाया और मेरे हाथ को हटा दिया.
मैं भी किसी प्रकार की कोई जबरदस्ती नहीं करना चाहता था तो मैं चुपचाप वहां से निकल आया.

उस समय लगभग 10 बज गए थे.
मैं आते ही बिस्तर पर लेट गया और मुझको नींद आ गयी.

सुबह जब उठा तो उसके बारह मिस कॉल थे.
मैंने देखा तो मोबाइल साइलेंट मोड पर था.

फिर सुबह दस बजे उसका कॉल आया.
उसने रात के लिए सॉरी बोला.

मैं उस टाइम अपने दोस्तों के साथ क्रिकेट खेल रहा था तो मैंने उससे कहा- मैं बाद में बात करता हूँ.
उसे लग रहा था कि मैं रात की बात को लेकर नाराज़ हूँ.

फिर मैं क्रिकेट खेलकर घर गया तो मेरे घर के पीछे रहने वाले एक दोस्त का कॉल आया.
उसने मुझसे उसके घर जाने को कहा क्योंकि उसकी बहन को कुछ काम था.
मैं उसके घर चला गया.

मैं अपने दोस्तों के घर बड़ी बेफिक्री से चला जाता हूं क्योंकि मेरे सारे दोस्तों के पेरेंट्स मुझ पर बहुत भरोसा करते हैं.

मैंने अपने फ्रेंड की बहन से पूछा.

मैं- क्या हुआ मालती दीदी?
दीदी- तेरे से कुछ काम था.
मैं- क्या काम है आपको?
दीदी- मुझे नहीं, इसको तेरे से काम है.

दीदी ने कोमल की तरफ इशारा करते हुए कहा.
मैं उसे वहां देख कर चौंक गया.
वो ऊपर जाते हुए चढ़ाव की सीढ़ियों पर खड़ी थी.

कोमल ने मुझे अपनी तरफ बुलाया, फिर हम ऊपर कमरे वाले कमरे में चले गए.
दीदी बाहर बालकनी में चली गईं ताकि बाहर नज़र रखी जा सके.

मैं- क्या हुआ?
कोमल- सॉरी.
मैं- सॉरी? किस बात के लिए?
कोमल- रात के लिए.

मैं जोर जोर से हंसने लगा.
मैंने उसे बताया- मैं समझा कि उल्टा तुम मुझसे नाराज हो गयी होगी.

इस बात पर वो भी हंसने लगी.
मैंने उसे कमर से पकड़ा और किस करने लगा.
वो किस का कोई जवाब नहीं दे रही थी. बस पुतले की तरह खड़ी थी.
मैं उसे किस करता रहा.

फिर उसने अपने हाथ मेरी मेरी पीठ पर लगा दिए.
मैं अब भी उसे किस किए जा रहा था. मैं अपने दोनों हाथ धीरे धीरे उसकी कमर से ऊपर ले जाने लगा.

जैसे जैसे मेरे हाथ ऊपर को जा रहे थे, वैसे वैसे उसकी पकड़ मेरी पीठ पर और टाइट हो रही थी और उसकी सांसें तेज़ हो रही थीं.

मैं बहुत ही हल्के हाथ उसके बूब्स के ऊपर ले गया और अचानक से अपने हाथ और होंठ चलाने बन्द कर दिए.

उसने अपनी आंखें खोलीं, अपना चेहरा मेरे चेहरे से थोड़ा दूर करके मेरी ओर देखा.
कुछ सेकंड देखने के बाद उसने खुद से ही मुझे किस किया, जिससे मुझे ग्रीन सिग्नल मिल गया.

फिर मैं उसे किस करता रहा और बूब्स भी दबाने लगा.

उसके बूब्स काफी टाइट थे क्योंकि पहली बार मैं ही उन्हें दबा रहा था.
इससे पहले उसने खुद अपने हाथ से भी उन्हें कभी नहीं दबाया था.

वो मेरा साथ दे रही थी.
अब मैं थोड़ा आगे बढ़ा.
मैंने नीचे कमर से उसकी टी-शर्ट के अन्दर हाथ दे दिए और ब्रा के ऊपर से ही उसके बूब्स को दबाने लगा.

फिर टी-शर्ट के अन्दर ही उसकी ब्रा को ऊपर करके उसके बूब्स को दबाने लगा.

ऐसे ही मैं उसे बेड पर ले गया.
मैंने उसकी टी-शर्ट ऊपर करनी चाही पर वो ऊपर ही नहीं करने दे रही थी.

मैं ऐसे ही उसे किस करता रहा और उसके चूचे दबाता रहा.
कुछ मिनट बाद मैंने उसकी टी-शर्ट ऊपर कर दी. उसकी एक चूची को मुँह भर लिया, जिससे उसके मुँह से आह की आवाज आई.

उसके हाथ मेरे बालों में थे. मैं एक चूची को छोड़ कर दूसरी को पीने लगा.

तभी कमरे के बाहर से आवाज आई ‘तुम्हारी बातें हो गईं?’
कोमल आवाज सुनकर डर गई.

ये आवाज दीदी की थी.
हम दोनों ने अपने आप को व्यवस्थित किया और मैंने दरवाजा खोल दिया.

दीदी- मम्मी पापा आने वाले हैं.
मैं- अभी से!

दीदी- तीन बज गए हैं घोंचू, टाइम देख ज़रा!
हम तीनों बाहर हॉल में आ गए. उसके बाद कोमल, दीदी को बाय बोलकर वहां से चली गयी.

मैंने दीदी को थैंक्यू बोला और एक डेरी मिल्क चॉकलेट देने का प्रोमिस किया.

उसके बाद दीदी ने कहा- संडे को मम्मी पापा और मेरा भाई बाहर जा रहे हैं. वो शाम तक लौटेंगे. घर पर कोई नहीं रहेगा.
मेरी खुशी का तो ठिकाना ही नहीं रहा.
पर मेरे मन में एक सवाल था क्या कोमल आ पाएगी. पर सोचा कैसे भी करके उसे मना लूंगा.

संडे को आने में अभी 2 दिन बाकी थे.

मैं घर गया, फ्रेश हुआ.
रात को कोमल का कॉल आया. मैंने कॉल रिसीव किया.
कोमल से बात होने लगी.

उसने आज के अपने अनुभव को लेकर मुझसे क्या कहा. किस तरह से कोमल मुझसे चुदी, ये सब मैं अपनी इस फर्स्ट लव किस स्टोरी के अगले भाग में लिखूंगा.
[email protected]

फर्स्ट लव किस स्टोरी का अगला भाग: टीन गर्लफ्रेंड सेक्स कहानी

Video: क्यूट गर्ल रोड पर अपने बॉयफ्रेंड का लण्ड हिलाती हुई