दो से बेहतर चार- 5

कपल स्वैप सेक्स कहानी में पढ़ें कि दो सहेलियों ने अपने पतियों के साथ रिसोर्ट में नंगी मसाज करायी. उसके बाद एक दूसरे के पति से चुद गयी दोनों.

कहानी के पिछले भाग
सहेली को पति से अपनी चूत चुदवा ली
में आपने पढ़ा कि दो सहेलियाँ अपने अपने पति के साथ मौज मस्ती करने एक बीच रिसोर्ट में आये हुए थे.
दोनों सहेलियां एक दूसरी के पति से चुद चुकी थी.

अब आगे कपल स्वैप सेक्स कहानी:

उधर दीपा ने कॉटेज की बेल बजाई।
दो बार बजाने पर मनीष ने ओट में होकर दरवाजा खोला।
दीपा समझ गयी कि वो नंगा है।

मनीष बोला- सॉरी, एक मिनट रुको!
कहकर उसने तौलिया लपेट कर दीपा को अंदर लिया।
बाहर बहुत गर्मी थी, अंदर कॉटेज बहुत ठंडी थी।

दीपा हंस पड़ी मनीष को देखकर और आगे बढ़कर उसक तौलिया खींच दिया।
मनीष का लंड सलामी दे रहा था।

दीपा चिपट गई मनीष से!
मनीष ने उसकी चूमा चाटी के बाद नीचे झुक कर उसकी शॉर्ट्स उतार दी और उसकी चूत में अपनी जीभ घुसा दी।

दोनों जल्दी ही बेड पर गुत्थम गुत्था हो गए।
दीपा को कहना पड़ा- आराम से करो, तुम्हारे पास चुदने ही आई हूँ।

पर मनीष इतने दिनों की कसर इन्हीं मिनटों में निकालना चाह रहा था।

घमासान चुदाई के बाद दीपा वाशरूम में जाकर फ्रेश हुई और दोनों कपड़े पहनकर अनिल शिखा के पास गए।

तब तक नाश्ता भी आ चुका था।

अनिल दीपा को देखकर मुस्कुराया, उधर शिखा ने आँख मार कर सिग्नल दिया कि हो गया.

दीपा अनिल से जा चिपटी और उसे चूम लिया।
आँखों ही आँखों में चारों ने यह कन्फ़ैस कर लिया कि उन्होने एक दूसरे के पार्टनर के साथ मस्ती कर ली है।

नाश्ते से निबटकर सबने बाहर घूमने का प्रोग्राम बनाया।

अपने अपनी कॉटेज में जाकर कपड़े चेंज करके सभी बीच पर चले गए।

लड़कियों ने तो टू पीस स्विम सूट पहना … पर ऊपर से एक झीना सा लंबा कुर्ता डाल लिया, बॉय्ज़ ने शॉर्ट्स ही पहने।

बीच पर मस्ती का आलम था।
तीनों को मस्ती करता छोड़ मनीष बीयर लेने चला गया।

बीच पर चारों ओर नंगई का माहौल था पर किसी को किसी की कोई परवाह नहीं थी।

दो घंटे वहाँ मस्ती करके जब थकान हो गयी तो चारों वहीं बेंच पर लेट गए।
चारों ने सिगरेट सुलगा ली।
बाहर बीयर स्नैक्स सर्व हो रहे थे।

दीपा के मम्मे तो उसके स्विम सूट से बाहर ही निकले आ पड़ रहे थे।

एक बार समुद्र में तो शिखा ने उसका टॉप ऊपर करके मम्मे निकाल कर मसल भी दिये थे।
पानी की तेज़ लहरों में किसी का ध्यान उन लोगों की बदमाशी पर नहीं गया।

वहाँ सभी लड़कियों के स्विम सूट इतने छोटे थे कि सभी का सब कुछ दिख रहा था।
कुछ विदेशी लड़कियों ने तो खुले आम अपनी ब्रा उतार भी दी थी और टॉपलेस होकर समुद्र में थीं।

अनिल और मनीष का तो तम्बू खड़ा हो गया था उन्हें देखकर!

शाम गहराते गहराते लोग वहाँ कम होने शुरू हो गए तो कुछ आपस में चूमा चाटी में लग गए।
अनिल ने किसी मसाज वाले से सेटिंग की कि वो और उसके साथ एक लड़की उनकी कॉटेज में आकर उन चारों की मसाज करे।

मसाज वाले ने, जिसका नाम टोनी था, बोला- सर आप चारों को अगर मजा नहीं आए तो एक पैसा नहीं और अगर मजा आ जाये तो पाँच हजार रुपए लेंगे।

अनिल और मनीष ने आपस में राय करके उसको चार हजार पर फाइनल किया और रात को 8.30 बजे का टाइम दिया।
हालांकि लड़कियां हिचक रही थीं, पता नहीं कैसे करेंगे; पर टोनी बोला- मेम, हम लोग प्रॉफेशनल हैं। आपको शुरू में तो हिचक होगी, फिर आप जितना कहेंगी हम उतना और वैसा ही करेंगे।

मनीष मुस्कुरा के बोला- सब कुछ करोगे?
तो टोनी बोला- सर, सेक्स के अलावा सब कुछ करेंगे। अगर आपके साथ आपकी बीवियाँ नहीं होतीं तो आपको सेक्स वाली टीम भी भेज देते। यहाँ पैसे से सब कुछ मिलता है।

चारों रिज़ॉर्ट लौट आए।

पूरे बदन पर रेत लगा था तो तय हुआ कि नहाकर फटाफट मसाज करा ली जाये फिर डिनर लेंगे।

डिनर का टाइम रात 11 बजे तक का था।

वो लोग रेस्तरां की तरफ निकल आए।
चूंकि उनके पैकेज में सब कुछ शामिल था तो चारों ने वहाँ लगे स्नैक्स से अपनी अपनी प्लेट लगाईं और जूस लेकर कॉटेज में आ गए।

ये तय हुआ कि आधे घंटे बाद चारों शिखा की कॉटेज में इकट्ठे होंगे।
शिखा और दीपा ने आपस में ये तय किया कि जब टोनी सेक्स न करने की बात कह ही रहा है तो उसको अपने मन से मसाज करने दी जाये और लुत्फ लिया जाये।

पर उन दोनों ने अनिल और मनीष से ये वादा ले लिया कि वो टोनी और उसके पार्टनर के सामने सेक्स नहीं करेंगे।

आधे घंटे बाद चारों शिखा के कॉटेज में थे और बीयर की चुसकियाँ ले रहे थे.

तभी टोनी और उसकी पार्टनर रीमा आ गए।

रीमा भी लंबी छरहरी और तीखे नाक नक्श की थी, उसके मम्मे भरे हुए थे।
टोनी तो स्मार्ट और बलिष्ठ था ही!

दोनों बहुत साफ सुथरे थे और उनके शरीर से भीनी भीनी महक आ रही थी।

टोनी के पास एक बेग था जिसमें फूलने वाले तो गद्दे थे और मसाज किट रीमा ने पकड़ा हुआ था।

दोनों ने फटाफट अपने काम की सेटिंग की।
टोनी ने हवा भरकर दो गद्दे तैयार किए और उधर रीमा ने तीन चार तरह का मसाज ऑयल, जेल निकाल कर रखा, चारों के लिए डिसपोसेबल अंडरगारमेंट्स, तौलिये निकाले और भीनी भीनी महक के दो दिये जला दिये।

रीमा ने अपने मोबाइल पर बहुत सेक्सी सा वेस्टर्न म्यूजिक लगा दिया और मुस्कुराती हुई बोली- बताइये कैसे करवाना है?
शिखा बोली- जैसे तुम्हारे मन में आए, वैसा करो, बस मजा पूरा दो, हमें कोई ऐतराज नहीं है. हममें आपस में कोई शर्म या पर्दा नहीं है। बस सेक्स से पहले रुक जाना! न अंदर आने देना और न टोनी अंदर आए, बाकी कुछ ही करो हमें कोई ऐतराज नहीं।

कह कर उसने बाकी तीनों की तरफ देखा- ठीक?
और तो कोई बोला नहीं … बस दीपा बोली- पहले तू करा, मैं बाद में कराऊंगी।

टोनी बोला- तो फिर शुरू करते हैं।
“अब आप लोग बिना सवाल किए वैसे ही करते रहेंगे जैसा हम लोग करवाएँगे।”
“निश्चिंत रहिए, आप बहुत मजा करेंगे।”

टोनी ने अनिल से कहा- आप हमारी फीस निकाल कर यहीं टेबल पर रख दें।
अनिल को बुरा लगा- एडवांस मांग रहे हो?
पर टोनी मुसकुराता हुआ बोला- नहीं सर, बाद में ही लेंगे। पर बाद में आप देने की स्थिति में नहीं होंगे।
अनिल नहीं समझा पर फिर भी उसने चार हजार रुपए वहीं मेज पर रख दिये।

रीमा वाशरूम गयी और चार बड़े तौलिये वहाँ लाकर रख दिये.
दीपा बोली- ये किसलिए?
तो रीमा बोली- कुछ मत पूछिये, सब बता देंगे।

रीमा ने बेग से निकाल कर दो डिस्पोसबेल बेड शीट भी वहीं रख दीं।

टोनी बोला- अब शुरू करते हैं।

सबसे पहले मनीष और शिखा आए तो टोनी ने उन्हें डिस्पोसेबल अंडरगार्मेंट्स दिये और कहा कि इन्हें पहन लीजिये, लेट जाइए।
पर मनीष और शिखा तो अपने कपड़े उतार के केवल तौलिया लपेट के आ गए.

शिखा टोनी और रीमा वाशरूम जाकर अपने कपड़े चेंज करके आए।
दोनों ही स्लीवलेस टीशर्ट और शॉर्ट्स में थे।

मनीष के पास रीमा गयी और शिखा के पास टोनी!

रीमा ने मसाज ऑइल एक बाउल में किया। उसने मनीष को पेट के बल लेटने को कहा और हल्के से पूछा- आपका तौलिया उतार कर ठीक कर दूँ?
मनीष ने अपने हिप्स उठा दिये तो रीमा ने उसका तौलिया खोल कर हिप्स के ऊपर ही करीने से लगा दिया।

अब उसने मनीष की पीठ और हाथ पैरों पर तेल मालिश शुरू की।

उसी तरह टोनी ने शिखा का तौलिया निकाल कर उसके हिप्स के ऊपर ही डाल दिया।

अब दोनों की मालिश रंग लाने लगी थी.
और अलग बैठे अनिल और दीपा का मन भी उनसे जुड़ने को कर रहा था।

टोनी ने जब देखा कि शिखा सहयोग कर रही है तो उसने शिखा की टांगें चौड़ा कर उसकी जांघों तक हाथ ले जाना शुरू किया।
जाहिर है कि टोनी की उँगलियाँ शिखा की चूत को जरूर छू रही होंगी।

अब टोनी ने आगे आकर शिखा की गर्दन और कमर की मालिश शुरू की।

ऐसे ही रीमा ने मनीष के कान में फुसफुसाकर पूछा- कैसा लग रहा है? अगर कहो तो बॉडी टू बॉडी करूँ?
मनीष ने हाँ कह दी।

रीमा ने अपना टॉप उतार दिया; उसके भरे हुए मम्मे चमकते हुए बाहर आ गए।

तब रीमा ने खूब सारा तेल अपने मम्मों पर डाला और मनीष का तौलिया उतार दिया.
अब मनीष पूरा नंगा था।

रीमा उसके ऊपर फिसलती हुई तैरने सी लगी। रीमा ने अपनी बाँहें मनीष की बाँहों के ऊपर फिसलाईं और अपने मम्मों से उसकी पीठ रगड़ी।

उधर उन्हें देख के शिखा ने टोनी से कहा- तुम भी अपने पूरे कपड़े उतार दो!
कह कर उसने अपना तौलिया खुद ही हटा दिया।

अब अनिल और दीपा भी बोले- हमें भी इनके बगल में लिटा लो, हमसे बर्दाश्त नहीं हो रहा।

गद्दा चौड़ा था। टोनी के कहने पर अब मनीष की बगल में दीपा और अनिल शिखा की बगल लेट गया।

दीपा और अनिल अपने पूरे कपड़े उतार कर ही लेटे थे।

लेटते ही अनिल और शिखा ने और मनीष और दीपा ने आपस में एक दूसरे को चूमा और रीमा से कहा कि वो भी अपने शॉर्ट्स उतार दे।
अब सभी नंगे थे। अब सबकी मालिश एक साथ होनी थी.

तो रीमा और टोनी ने पहले तो दीपा और अनिल की मालिश कि फिर ढेर सारा मसाज जेल अपने और उन सभी के ऊपर डाल दिया।
मनीष और दीपा ने उल्टे लेटे-लेटे ही एक दूसरे को पकड़ा हुआ था.

अनिल और शिखा तो कई बार एक दूसरे को चूम चुके थे।
उनका तो इश्क का आज पहला दिन था तो गर्मी ज्यादा थी और भी अगर माशूका नंगी बगल में लेती हो तो माशूक के लंड का तो हाल बुरा ही रहता है।

अब टोनी और रीमा चारों की पीठों पर बारी बारी से फिसलते हुए तैरने लगे।
टोनी का लंड इन दोनों लड़कों से मोटा और बड़ा भी था और उसने उस पर खूब जेल लगा रखा था।

तो टोनी जब दीपा और शिखा की पीठ से उनके हिप्स तक फिसलता तो उसका लंड उनके चूतड़ों की दरार की गहराई नापता हुआ जाता।
टोनी ने अपने को ऐसा बैलेन्स किया हुआ था कि उसका वजन लड़कियों पर न पड़े।

अब टोनी खड़ा हुआ और लड़कियों के सिर के आगे घुटने पर बैठ कर उनके सिर से उनकी पीठ तक फिसलने लगा, उसकी उँगलियाँ लड़कियों की गांड में फिसलने लगी और कभी कभी उनके चूत के मुंहाने पर जाती।
उसका लंबा लंड लड़कियों के बालों, गर्दन, पीठ पर फिसलता।
शिखा ने तो एक दो बार उसे सहला भी दिया।

अबकी बार जब वो दीपा की ओर गया तो दीपा ने मनीष के उकसाने पर सिर उठा कर उसका लंड मुंह में भी ले लिया. पर ज्यादा चिकना होने से वो मेंढक की तरह फिसल गया।

उधर रीमा भी लड़कों के सिर की ओर बैठ कर अपने मम्मे उनके बालों और पीठ पर रगड़ने लगी।
मनीष ने सिर उठा कर उसके मम्मे मुंह से पकड़ने की कोशिश की तो रीमा हँसते हुए दूसरी ओर होकर फिसल गयी और मनीष की कोशिश बेकार गयी।

रीमा उठी और लाइट बंद कर दी।
अब कमरे में केवल उन सुगंधित दीपकों की धुंधली सी रोशनी थी।
माहौल पूरा वासनामय हो गया था।

रीमा ने चारों से कहा- अब आप लोग सीधे हो जाइए।

चारों सीधे होकर लेट गए; चारों एक-दूसरे को और रीमा-टोनी को नंगे देख पा रहे थे।

अब टोनी और रीमा एक-एक जोड़े के पास आए और एक-एक करके दोनों जोड़ों पर जेल का पूरा कटोरा उड़ेल दिया।
फिर अपने ऊपर भी ढेर सारा जेल लगा कर चारों के ऊपर तैरने लगे।

पहले तो दीपा के ऊपर टोनी फिसलने लगा और मनीष के ऊपर रीमा!
टोनी का लंड बार बार दीपा की चूत से रगड़ता हुआ जाता और उधर मनीष का लंड बार बार रीमा की चूत से रगड़ता।

पाँच मिनट के बाद टोनी और रीमा शिखा और अनिल के ऊपर फिसलने लगे।
बारी बारी से वो दोनों जोड़ों के ऊपर फिसलते रहे।

टोनी का लंड दीपा और शिखा की चूतों को अन्दर तक भिगो गया और रीमा के मम्मे और चूत ने अनिल और मनीष का लंड तम्बू कर दिया।

मनीष ने रीमा की चूत में उंगली कर दी।
रीमा ने आहें निकालनी शुरू कर दीं।

टोनी ने भी दीपा और शिखा से पूछकर उनके मम्मे खूब मसले और चूत में उंगली से भरपूर मसाज करी।
शिखा और दीपा की भी आहें निकालने लगीं।

अब तो चारों से रुका नहीं जा रहा था।
रीमा ने अपने मम्मे बारी बारी से अनिल व मनीष को चूसने दिये और टोनी ने भी अपना लंड दीपा और शिखा को चूसने दिया।

अब सेक्स का वक़्त हो गया था।

उन चारों की बेचैनी देख कर के लगता था कि अब जिसके जो हाथ आएगा वो उससे चुदाई शुरू कर देगा।

टोनी और रीमा सब समझते थे, उनका तो रोज का काम था।
तो उन्होने खड़े होते हुए कहा- सर कैसा लगा? अब हम चलते हैं, ये डिस्पोसबेल शीट टोवेल्स के ऊपर बिछा लीजिये और मजे कीजिये। आपको रुकावट न हो इसीलिए रुपए इधर रखवाए थे।

रीमा और टोनी ने फटाफट अपने कपड़े चेंज किए और सामान बांधा।

टोनी ने अनिल से कहा- सर यहाँ एक रिज़ॉर्ट में यंग कपल्स का ग्रुप सेक्स होता है, अगर आप इच्छुक हों तो सुबह मुझे फोन कर लीजिएगा, मैं आकर आपको डीटेल समझा दूँगा। वो पूरी तरह सेफ है, कोई किसी को नहीं जानता वहाँ!

अनिल ने टोनी को एक हजार रुपए इनाम के और दिये और कहा- यार, तुम दोनों ने मजा दे दिया।

रीमा ने अनिल और मनीष को लिप किस दिया और टोनी ने शिखा और दीपा को किस देकर विदा ली।

उनके जाते ही फिर चारों बचे हुए जेल को अपने ऊपर लगाकर लगे फिसलने!
पर एक मिनट बाद ही दीपा की चूत में मनीष और शिखा की चूत में अनिल घुस चुका था।

चुदाई घमासान नहीं हो पा रही थी क्योंकि सब कुछ बहुत चिकना था.
पर जब दिल में चुदाई हो तो रास्ते भी निकलते हैं।

अनिल ने शिखा को घोड़ी बनाकर उसकी गांड में लंड घुसेड़ दिया।
शिखा चीखी पर आगे से उसके होंठों पर दीपा के होंठ लग गए और दीपा की गांड में मनीष ने अपना लंड घुसेड़ दिया।

दर्द तो हुआ पर मजा भी आ रहा था चारों को!

अब लड़कियों की बारी थी।
दीपा और शिखा ने लड़कों को नीचे लिटाकर उनके ऊपर बैठ गयी और अपनी अपनी चूतों में उनके लंड ले लिए।
अब चुदाई सही हो पा रही थी और लंड भी चूत की अंदरूनी दीवार तक पहुँच रहे थे।

जल्दी ही चारों के मुंह से आवाजें निकालने लगीं।
शिखा कह रही थी- दीपा, अनिल का लंड तो बहुत मजेदार है। तू मनीष के साथ ही रह गोवा में, मैं यहीं अनिल से दिन रात चुदवाऊंगी। हाँ अनिल … और ज़ोर से उछल नीचे से … मजा आ गया मेरी जान!

उधर मनीष भी दीपा के मम्मे रगड़ते हुए बोला- हाँ शिखा, तू चुदवा अनिल से और मैं और दीपा अपनी कॉटेज में चुदाई करेंगे। दीपा के मम्मे तो मैं यहीं पर चूस-चूस कर बड़े कर दूंगा … हाँ मेरी जान दीपा और ज़ोर से करो.

थोड़ी देर में ही कपल स्वैप सेक्स में चारों का काम तमाम हो गया और चारों वहीं निढाल होकर पड़ गए।

साढ़े दस बज गए थे; चारों फटाफट उठे नहाये और कपड़े पहन कर डिनर लेने पहुंचे।
उनके बीच ये तय हुआ कि कम से कम आज की रात तो दीपा मनीष के साथ रहेगी और शिखा अनिल के साथ रात भर चुदेगी।

दोस्तो, कैसी लगी मेरी ये कहानी?
अगली कहानी ‘ग्रुप सेक्स इन रिज़ॉर्ट’ में देखिएगा कि क्या चारों ने ग्रुप सेक्स में भाग लिया … क्या हुआ … जानने के लिए पढ़िएगा मेरी अगली कहानी!

पर उन्हें ऐसा करना चाहिए या नहीं? या जो कुछ उन्होंने अब तक किया, वो सब करना चाहिए था या नहीं?
इस कपल स्वैप सेक्स कहानी पर अपनी राय दीजिएगा मुझे!
मेरी मेल आई डी है
enjoysunny[email protected]