मामाजी के घर पर रक्षाबंधन में बने अन्तरंग रिश्ते- 2

हिंदी फॅमिली पोर्न कहानी में मामा भानजी, जीजा साली, ममेरे भाई बहन के बीच चुदाई की सेक्स फंतासी है. मामा की कुंवारी बेटी को मेरे पति ने चोदा.

कहानी के पहले भाग
रक्षाबंधन में मैंने ममेरे भाई का लंड मांगा
में आपने पढ़ा कि राखी पर मैं और मेरे पति मामा के बुलाने पर उनके घर गए. वहां मामा के बेटे को मैंने राखी बाँधी तो उसने मुझसे उपहार मांगने को कहा. वासना के नशे में मैंने उसके लंड की ओर इशारा कर दिया.
लेकिन मैं घबरा गयी कि मैंने ये क्या कर दिया. पर मामा मामी की प्रतिक्रिया देख कर माहौल सेक्सी हो गया.

मामा जी अपनी जीभ को पैंटी के ऊपर से ही मेरी चूत की दरार में घुसाना चाह रहे थे और बार बार चूत की पूरी लंबाई को चाट रहे थे.

उफ्फ इस तरह को चटाई मुझे अच्छी लग रही थी लेकिन मैं चाहती थी कि वो मेरी पैंटी फाड़ के चाट लें मेरी इस प्यासी बुर को!

मैं अब तड़प रही थी और अपनी हिप को उछाल सा रही थी।

अब आगे Hindi Family Porn Kahani:

मामी जी शायद अंदर रूम में चली गई थी.

वहीं मेरे पतिदेव अपनी 20 साल की साली की ब्रा फेंक चुके थे और उसके गले और दूधों पर लव बाइट्स दिए जा रहे थे.
दिव्या ने जीजू की शर्ट निकाल दी थी।

अमित दिव्या से अपनी जींस की बटन और जिप खुलवा कर अपने लन्ड को उसके हाथ में थमा चुके थे और ये भी समझा चुके थे कि उसे इस लौड़े का क्या करना है।

दिव्या जीजू के औजार को ऊपर से नीचे की ओर सहलाए जा रही थी और अमित दिव्या के कान में बार बार कुछ कहे जा रहे थे.
जिसका दिव्या भी अब शरमाते हुए जबाव उसी अंदाज में दे भी रही थी।

उसका कसा हुआ गोरा जिस्म, टाईट बूब्स देखकर अमित बहुत एक्साइटेड थे।
जरूर उससे अश्लील शब्दों में बात करना शुरू कर दिया था अमित ने!
अमित का ऐसा करना दिव्या को और गर्म कर रहा था जो दिव्या को देखकर साफ पता चल रहा था।

  पहली बार की चूत चुदाई स्कूल में

तब तक मामी जी अंदर से आईं और उनके हाथ में चॉकलेट सीरप की बोतल थी.

वे आकर मेरे साथ बैठ गईं और मेरे मुंह से सनी का लन्ड निकाल के बोली- मैं भी देखूं जरा तेरा कैसा है?
और अपने बेटे का लन्ड अपने मुंह में भर के चूसने लगीं।

अब नजारा कुछ ऐसा था कि मैं और मामी जी अगल बगल में बैठे थे, सनी अपनी मां सरिता के सामने नंगा खड़ा था और अपनी मां के मुंह में अपना लन्ड पेल रहा था.
और मामी सनी का लौड़ा चूस रही थी।

मैं सिर्फ चड्डी में थी और मेरी पैंटी अंदर बाहर दोनों तरफ से गीली थी अंदर से चूत का पानी ऊपर से मामाजी के मुंह का जूस।
टांगें खोल अपने सगे मामा से अपनी चड्डी चटवा रही थी मैं!

मैंने मामी का ब्लाउज खोल दिया, ब्रा उन्होंने पहनी नहीं थी तो उनके दोनों थन जो 38″ के होंगे, लटक से गए.
जिनमें से एक मैंने पकड़ा और दूसरा सनी ने!

सनी अपनी मम्मी का निप्पल खींच रहा था और मैंने उनके दूसरे बूब की डार्क निप्पल को अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगी।

इतने में सनी बोला- मम्मी, मेरा निकलने वाला है.
तो मामी जी और जोर से चूसने लगी जिससे सनी अपनी मम्मी के मुंह में ही झड़ गया और जाकर दीवान पर बैठ गया।

मामी जी पुरानी चुदैल होने के नाते उसका सारा माल निगल गईं।

अब मामी जी मेरी तरफ मुड़कर मुझे किस करने लगी जिससे मैं सनी के कम का फ्लेवर ले सकूं।
मुझे आइडिया नहीं था कि मेरी मामी ऐसे कामुक हो सकती हैं।

उन्होंने अपनी जीभ मेरे मुंह में घुसा के पूरे मुंह में घुमाया और मेरे निप्पल को भींचा।
फिर मुझे कमर उछालते देख मामा जी से बोली- अरे, अब उसकी चड्डी उतार के भी चाट लो. क्यों अपनी बेटी को तड़पा रहे हो?

  मेरा पहला प्यार मेरी मौसी

मामा जी ने वैसा ही किया और मेरी पैंटी उतार के मेरी चूत को देखने लगे.

ट्रिम्ड बाल थे मेरी चूत पे जिन्हे पिछले हफ्ते साफ किए थे मैंने!
देखकर मामा बोले- कितनी प्यारी चूत है तेरी कृति! आई लव इट!

उन्होंने हाथों से निरीक्षण किया अच्छे से, फिर होठ मेरी नंगी चूत पे रखकर किस कर लिया।

उसके बाद मामाजी ने अपनी जीभ को मेरी पूरी चूत, मेरी गांड और क्लिट को चाटने के काम में लगा दिया.

मैंने अपनी आंखें बंद कर लीं और सर को टिका के ऊऊ उम्म म्म्म्म ऊऊ उफ्फ ओ एम जी … आई लव इट उफ्फ वाव करने लगी।

मामी जी मेरे दूधों से खेल रही थी. एक मुंह में दूसरा उनके हाथ में था.
उफ क्या बताऊं … मुझे लगा कि इससे अच्छा कुछ नहीं हो सकता।

मेरी शादीशुदा चूत आज अलग सुख ले रही थी.
मैं भी अपनी चूत को मामा जी के मुंह पे रगड़ रही थी।

अब मैं झड़ने वाली थी, मैंने मामी जी से कहा- मामी, मैं झड़ने वाली हूं!
कहकर उनसे लिपट गई और मामा ने मेरी क्लिट पर जीभ और चूत के भीतर उंगली डाल के मुझे झाड़ दिया।

मैंने मामा जी का सर हटाया और मामी से चिपकी रही।
मामीजी ने फिर से मेरे कान में कहा- बेटा ये बताओ कि किससे चुदना चाहोगी पहले … राजेश से या सनी से?

मैंने कहा- सनी से!
जिसपे उन्होंने कहा- ठीक है, तू जैसा चाहे! पहले सनी से करवा ले … फिर अपने मामा से करवा लेना।

मामी फिर बोली- मैं थोड़ा अमित की हेल्प करती हूं.
कहकर उन्होंने अपनी साड़ी पेटीकोट निकाल दिया और पैंटी में आ गई।

मामी जी थोड़ी चबी हैं, रंग गोरा बड़ी सी कद काठी एकदम पोर्न फिल्मों की मॉम सन वाली कैटेगरी हैं.
उनके बड़े बड़े चूतड किसी तरह से उनकी ग्रे पैंटी में समाये थे।

गांड मटकाती हुई अपनी बेटी और दामाद को और चल दी।
अमित ने दिव्या को सोफे पे नंगी लिटा रखा था और उसकी टांगों के बीच में लेटकर उसकी शेव्ड और चिकनी गुलाबी चूत पागलों की तरह अपनी जीभ घुसा के चाट रहे थे।
दोनों हाथ उसके बूब्स को दबाकर उस मासूम सी लड़की को औरत होने का सुख दे रहे थे।

दिव्या भी पूरी तरह खुल चुकी थी और जीजू को ‘अमित बेबी, जान उफफ ऊउफ्फ’ कहकर बुला रही थी और अपनी चूत अपने से 12 साल बड़े जीजू की जीभ से चुदवा रही थी.
उसकी हालत से पता चल रहा था कि शायद 1-2 बार झड़ भी चुकी थी।

मुझे पता था कि मेरा ठरकी पति आज तो इस नई खिली कली का पूरा रस निचोड़ कर ही मानेगा।

मामी जी ने जाकर दिव्या के माथे पे किस किया और पूछा- बेटा एंजॉयिंग इट?
उसने सिसकियों के साथ कहा- यस मॉम!

Video: छोटे भाई ने दीदी को चोद कर गर्भवती बनाया

फिर मामी जी ने अमित से कहा- बेटा बस कर … क्या खा ही जायेगा मेरी बेटी की चूत?

तो अमित दिव्या के ऊपर से उठा और मामी की चड्डी उतारने को हुआ तो मामी बोली- नहीं बेटा, अभी नहीं! पहले हम दोनों मां बेटी को अपना लन्ड तो टेस्ट करवाओ।

अमित सोफे पे आराम से टांगें फैला के बैठ गया और मामी ने दिव्या को अपने साथ नीचे बिठाया फिर अमित का लन्ड पकड़ कर उसे दिव्या इशारा किया तो दिव्या ने अमित के लौड़े को मुंह में भर लिया।

मामी ने अमित की तरफ देखा और उसका लन्ड दिव्या के मुंह से निकल कर अपने मुंह में ले लिया।

फिर उसके टॉप पे चॉकलेट सीरप डालकर दिव्या को चटाया और अमित से कहा- तुम्हारी साली को चॉकलेट बहुत पसंद है।

और दोनों मां बेटी मिलकर अमित के लन्ड की सेवा में लग गईं।

यहां मामाजी भी मेरे सामने खड़े थे.
उन्होंने अपने सारे कपड़े निकाल दिए. उनका लन्ड 4 इंच का होगा, तीनों में सबसे छोटा था उनका! लेकिन मोटा तीनों में सबसे ज्यादा था।

उनका लौड़ा देखकर मुझे लगा ‘हाय मेरी लंबी चौड़ी मामी को इससे काम चलाना पड़ता है.’
लेकिन ऐसा नहीं था.
ये मामी ने बाद में मुझे बताया जो मैं आपको फिर कभी बताऊंगी।

मैंने उनसे कहा- राजेश डार्लिंग, मेरे बगल में बैठो!
तो वो बैठ गए.

मैंने उनका सामान यानी लौड़ा पकड़ लिया.
तो उन्होंने मेरा सामान यानि की मेरा दूध।

अब सनी को मैंने सामने खड़ा करके उसका लन्ड चूसना शुरू किया तो उसका फौलाद फनफना उठा।

मामी दिव्या अमित का लन्ड खा रही थी, मैं सनी का और मामा सब देखकर एक्साइटेड थे।

मामा बोले- फैमिली रियूनियन तो आज हुआ है हमारी फैमिली की रंडियों और चोदूओं का। मैं हमेशा से फैमिली में चोदा चोदी चाहता था। पर ये साली सरिता हमेशा सिर्फ रोलेप्ले और बातों में सनी, अमित से और मैं कृति, दिव्या को चोदता रहा। आज मेरा सपना पूरा हो रहा है।

हम सब सुन रहे थे, किसी ने कुछ नहीं कहा, बस अपने काम में लगे रहे।
मैं नहीं चाहती थी कि सनी फिर से झड़े इसलिए अब मैंने उसका चूसना छोड़ के उसको अपनी टांगें फैला के चोदने को इन्विटेशन दिया।

उसने बिना कोई पल गंवाए मेरी चूत में अपना लौड़ा घुसा दिया.
समझ सकती हूं कि मैं उसकी पहली चूत थी तो वो कितना एक्साइटेड था.

पर उस भोसड़ी वाले एक ही झटके पूरा पेल दिया 7 का लौड़ा जो मेरे पति से बड़ा था.
मेरी चीख निकल गई- आआआ आउऊ ऊऊच उई मां मर गई!

सब मेरी तरफ देखने लगे.
एक मिनट के लिए मैं छटपटा गई थी।

लेकिन सनी तो बस मेरी चोदना चाहता था, उसे कुछ नहीं पड़ी थी, वो धक्के लगाने लगा था।
मामाजी ने मुझे ऐसे देखा तो अमित से कहा- बेटा, तू इसकी अभी तक नहीं फाड़ पाया है क्या?

इस पे अमित कुछ कह पाता उससे पहले मामी ने कहा- अमित तो चोदता होगा बहुत … लेकिन सनी का आप सबसे बड़ा है. देखा नहीं आपने? और ये लगता है अमित के अलावा किसी और से चुदी नहीं है।
अमित ने कहा- हां, मैंने कितनी बार कहा इससे … लेकिन ये मानती ही नहीं है. आज पता नहीं कैसे इसने ये सब शुरू कर दिया, मुझे नहीं पता!

इसके साथ ही अमित ने दिव्या को सोफे पे लिटा दिया.
अब उसका भी हथियार दिव्या की चूत की ओपनिंग करना चाहता था.

हालांकि उसे ये पता चल गया था कि दिव्या अभी तक वर्जिन है लेकिन उसने फिर भी पूछा- दिव्या, किसी ने घुसाया है पहले?
दिव्या बोली- नो जीजू!

अमित ने मामी जी से कहा- सरिता डार्लिंग, प्लीज हेल्प!
मामी जी ने दिव्या के माथे पे किस किया और बॉडी लोशन की बॉटल अमित को थमाकर दिव्या के बूबीस सहलाते हुए कहा- इट्स ओके बेबी।

ये सब देख मामाजी भी कुर्सी लेकर उसी तरफ बैठ के अपनी बेटी की सील तुड़ाई देखने लगे।

यहां सनी ताबड़ तोड़ चुदाई कर रहा था मेरे ऊपर लेटकर मेरी!
मैंने उससे कहा- बेटा आराम से कर … नहीं तो झड़ जायेगा तू!
लेकिन वो तो बस पेले जा रहा था मेरी!

मैं भी एंजॉय कर रही थी और उसे बार बार किस कर रही थी।
उसके धक्के गहराई तक थे, मेरे लिए थोड़ी नई थी इतनी गहरी चुदाई … मैं बस आआ ऊउफ करके छोटे भाई से अपनी चूत मरवा रही थी।

तभी उसके लन्ड की सारी गर्मी मेरी चूत में समा गई और वो मेरे ऊपर गिर गया।
आज उसके हथियार ने चूत का सुख भोगा था और अब उसके लिए 3 चूतें तो घर में ही थी।

वह उठा और दीवान पर लेट गया।
मैंने अपनी चूत टटोली तो सनी का माल टपक रहा था।

तब मैंने अमित को देखा तो वो दिव्या की चूत पर बॉडी लोशन मल रहा था.
फिर उसने अपने लन्ड पे लोशन लगाया।

मामी दिव्या को सहला रही थी और मामाजी देख रहे थे सब!
अब अमित ने थोड़ा सा लन्ड अन्दर डाला तो दिव्या बोली- मम्मा, बहुत दर्द हो रहा है!

अमित रूक गया, फिर धीमे से अपनी साली की नयी नवेली बुर में लंड घुसाने लगा.
जहां दिव्या को तकलीफ हुई तो फिर रुक गया वहीं पे!

अब मामी ने धीरे से अमित को इशारा किया, अमित ने दिव्या की चूत में लन्ड बिना रुके पूरा घुसा दिया।
दिव्या मम्मा चिल्ला के मामी से लिपट गई और रोने लगी।

अमित उसके ऊपर लेटा था, उसने दिव्या का चेहरा अपने हाथों में लिया और प्यार से हाथ फेर कर कहा- डरो मत, सब हो गया है. अब दर्द नहीं होगा, सिर्फ मजा आयेगा.
और फिर धीमे धीमे थोड़ा थोड़ा आगे पीछे करने लगा।

सब नॉर्मल होते देख मैंने मामाजी से कहा- मामाजी, उसी बेटी को देखते रहेंगे या अपनी इस बेटी की चुदाई भी करेंगे।

मामा जी मेरे सामने आके बोले- इस बेटी को कब से चोद के अपनी रखैल बनाना चाहता हूं … तुझे आइडिया भी नहीं है. कभी अपनी मामी से पूछना।
मैंने कहा- आप ही बता दीजिए!
तो बोले- तेरी शादी के पहले से!

बोलकर उन्होंने अपने औजार से मेरा मुंह चोदना शुरू कर दिया।
मैं भी एक अच्छी रण्डी की तरह मामाजी का लन्ड चूसती रही।

दो मिनट बाद उन्होंने सोफे पर लेटकर मुझे अपने ऊपर इनवाइट किया तो मैं चढ़कर उनके लन्ड को अपनी चूत से खाने लगी।
थोड़ी देर ऐसे ही चोदने के बाद वो मेरे ऊपर आकर मेरी चूत मारने लगे।

वहां दिव्या अब अच्छे से अमित से चुदवा रही थी।

मामी जी भी पति से बड़े लन्ड वाले बेटे के सोए हुए लौड़े को अपने मुंह से जगाने लगी और फिर उसके लौड़े की सवारी करने लगी।

52 साल के मामा जी अपनी 28 की साल भानजी को रण्डी की तरह चोद रहे थे।
32 साल के जीजू अपनी 21 साल की वर्जिन साली दिव्या की चुदाई पहले प्रेमी की तरह कर रहे थे।
और एक 49 साल की मां अपने 19 साल के बेटे सनी के लन्ड की सवारी कर रही थी।

पूरा लिविंग रूम चूत और लन्ड की ‘टप्प टप्प फच्च फच्छ’ की और ‘आआ उफ्फ येस्स येस’ के शोर से भरा था।
थोड़ी देर में सब कुछ शांत हो गया.

आज इस लंबे फॅमिली पोर्न खेल के दौरान शाम हो चुकी थी।

इस पारिवारिक सामूहिक चुदाई के बाद थोड़ी सी झिझक सब की आंखों में थी जो बस थोड़ी देर की मेहमान थी क्योंकि ये अंतरंग रिश्ते अब शायद सारी उम्र के लिए थे।
हमने सबसे विदाई ली और अपने घर के लिए निकल गए।

आप सबको मेरी ये हिंदी फॅमिली पोर्न कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके बताइएगा।
अगर पसंद आई तो फिर से अपनी कोई और कहानी के साथ आपके सामने आयेगी आपकी कृति।
[email protected]