कुंवारी लड़की की सीलपैक चूत की चुदाई

देसी सेक्सी चुत Xxx कहानी मम्मी की सहेली की जवान बेटी की चूत चुदाई की है. वो हमारे घर रह रही थी. एक दिन मैंने उसे बाथरूम में नंगी देख लिया.

हैलो फ्रेंड्स, मेरा नाम साहिल है. मैं जम्मू का रहने वाला हूँ.
मेरी उम्र 28 साल है, मेरा अपना बिजनेस है और मैं अभी तक कुंवारा हूँ.

मेरी दो बहनें हैं, जो मुझसे उम्र में बड़ी हैं और विवाहित हैं.

यह 4 साल पहले की Desi Sexy Chut Xxx Kahani है, जब मैंने अपना बिजनेस शुरू किया था.

मेरे घर में मम्मी ही अकेली होती थीं.
पापा मेरे काम में हेल्प करने के लिए मेरे साथ मेरे ऑफिस आया करते थे.

मम्मी को खाना बनाने में दिक्कत आती थी क्योंकि उनकी आंखों में कुछ दिक्कत हो गई थी.
डॉक्टर ने उन्हें तड़का लगाने चपाती बनाने और गैस के सामने रहने से मना किया था.

मम्मी की हेल्प के लिए मम्मी की एक सहेली ने अपनी युवा बेटी को हमारे घर भेज दिया था.
उसका नाम तन्वी था.

तन्वी की उम्र 20 साल थी.
उसका फिगर एकदम स्लिम था और साइज़ 32-28-36 की थी.

एक दिन घर में कोई नहीं था.
मम्मी पापा रिलेटिव के घर शादी में गए हुए थे.

मैं रात को करीब 8 बजे घर आया तो देखा घर में कोई नहीं है.
मैंने छत पर जाकर एक सिगरेट जला ली और कश लेने लगा.

तभी मैंने देखा कि तन्वी मुझे सिगरेट पीते हुए देख रही थी.
मैंने उससे रिक्वेस्ट की कि मम्मी पापा को मत बताना.

उसने हंस कर ओके बोला और वो उधर से चली गई.
कुछ टाइम बाद मैं हाथ धोने बाथरूम में गया, तो जैसे ही मैंने दरवाज़ा खोला, तो अन्दर तन्वी थी. वो ऊपर से पूरी नंगी होकर मुँह धो रही थी.

मुझे यूं अचानक आया देख कर अपने हाथ मम्मों पर रख लिए और बोली- भाई बाहर जाओ, आप अन्दर कैसे आए?

  सगी साली और बीवी की साथ में चुदाई-1

दरअसल वो कुण्डी लगाना भूल गई थी और मैं भी वो वाला बाथरूम बहुत कम यूज करता था तो उसने ये सोचा ही नहीं होगा कि मैं इस तरह अचानक से आ जाऊंगा.

मैं एकटक उसके मम्मों को घूरता रहा और उसने अपने आपको समेट कर मेरी तरफ अपनी पीठ कर दी.
मैं बाहर आ गया.

कुछ देर बाद मम्मी पापा भी आ गए.
मैंने और तन्वी ने खाना खाया.
फिर हम दोनों अपने रूम में सोने चले गए.

अब मुझे नींद कहां आनी थी. मैंने उसके पिंक निप्पल जो देख लिए थे.

कसम से इससे पहले कभी तन्वी के बारे में मैंने ऐसा नहीं सोचा था.

उस रात मुझे नींद ही नहीं आ रही थी.
मैं बस उसे चोदने के तरीके सोचता रहा और फिर अंतत: कब नींद आ गई, कुछ पता ही नहीं चला.

सुबह जब उठा तब भी मेरे मन में वही बात चल रही थी.

उस टाइम 7 बजे थे.
मुझे पता था कि तन्वी 7 बजे उठ कर नहाने बाथरूम में जाएगी.
यह सोचते ही मैं एकदम से हरकत में आ गया.

और फिर क्या था, मैं बाथरूम के पीछे चला गया और उधर बने रोशनदान से उसे देखने का इंतजाम करने लगा.

मैंने एक स्टूल लिया और उस पर खड़ा होकर हाथ को ऊपर करके मोबाइल से वीडियो बनाने लगा.

तन्वी आ गयी थी और नहाने लगी थी.

करीब 3 मिनट की वीडियो बनी, तब बाथरूम का दरवाजा खुलने की आवाज आई.

मैं रूम में आ गया और मोबाइल देखने लगा कि वीडियो में कुछ मस्त सा बना भी है या नहीं.
वीडियो में देखा तो मेरा 6 इंच का लंड एकदम से अकड़ कर खड़ा हो गया.

मैंने उसको अपने मम्मों पर साबुन लगाते हुए और अपनी चूत को मसलते हुए देखा.
पूरी फिल्म बहुत ही साफ़ आई थी.
वो अपनी चूचियों और चूत से खेलती हुई बड़ी कामुक लग रही थी.

अब मेरे मन में उसको चोदने की इच्छा और ज्यादा बलवती हो गई थी.
मुझे बस एक मौका चाहिए था.

कुछ दिन और बीत गए.
इस बीच तन्वी मेरी तरफ देखती और मुस्कुरा देती.
मैं समझ नहीं पाता कि ये क्यों मुस्कुरा रही है.

एक ख़ास बात और ये सामने आई कि वो अब मेरे सामने कुछ ज्यादा ही इठलाने लगी थी.
मैं कुछ समझ नहीं पा रहा था कि इसकी मंशा क्या है.

फिर मम्मी पापा को संडे वाले दिन मेरी बहन के घर जाना था क्योंकि उनके ससुर का स्टोन का ऑपरेशन हुआ था.
उस दिन मुझे मौका मिल गया.

जैसे ही मम्मी पापा गए, मैंने तन्वी को रूम में बुलाया और उससे कहा- तन्वी तुमको थैंक्यू तुमने घर में नहीं बताया कि मैं छत पर सिगरेट पी रहा था.
वो बोली- कोई बात नहीं भाई.

मैंने उसके गाल पर किस कर लिया. उसको वो किस करना ज़रा अजीब सा लगा.

फिर मैंने आहिस्ता से उसके मम्मों पर हाथ रख दिया, वो डर गई और बोली- ये सब ग़लत है. मैंने आपके बारे में कभी ऐसा नहीं सोचा था.
मैं बोला- तन्वी, मैंने जब से तुझे नहाते हुए देखा है, मैं वो सब भूल ही नहीं पा रहा हूँ. प्लीज़ मान जाओ, मैं किसी को कुछ नहीं बताऊंगा कि मैंने तो तुम्हारी नहाते में वीडियो भी बना ली है.

वो मेरी बात सुनकर हैरान होकर बोली- कौन सी वीडियो और कब बना ली?
मैंने उसे पूरी वीडियो दिखाई.

तन्वी सकपका गई और मेरे आगे हाथ जोड़ कर कहने लगी- प्लीज़, इसे डिलीट कर दो.
मैंने मना कर दिया.

वो कहने लगी- भाई मैं आप जो बोलोगे मैं वो करूंगी, प्लीज़ वीडियो को डिलीट कर दी.
मैंने बोला- ठीक है, मैं इसे डिलीट कर दूँगा. पहले मुझे तुमको फिर से बिना कपड़ों के देखना है. वो भी अभी.

तन्वी हंस कर बोली- वो तो आपने पहले ही वीडियो में देख लिया है अब और क्या देखना है?
मैंने कहा- अगर अभी सारे कपड़े उतार दोगी, तो मैं इसे अभी के अभी डिलीट कर दूँगा.

Video: पिंकी भाभी की ज्युसी चूत की चुदाई

वो मान गई और बोली- मैं कर तो दूंगी मगर तुम कुछ करना नहीं.
मैंने कहा- वो तो हालात के ऊपर है कि मैं क्या करता हूँ या नहीं.

वो मना करने लगी- तो मैं नंगी नहीं होती. पहले तुम वादा करो.
मैंने समझ लिया कि इसका भी नंगी होने का मन तो है मगर ये ड्रामा कर रही है.

मैंने कहा- अच्छा एक बात बता कि तू इस वीडियो में अपनी चूत और चूचे क्यों रगड़ रही थी?
वो हंसी और बोली- मैं अपने सामान को कुछ भी करूं … इससे तुझे क्या?

मैंने उसके गाल पर फिर से किस किया और कहा- क्या तेरा मन सेक्स का करता है?
वो हंसी और मना करने लगी.

मैंने कहा- अच्छा चल, अब ड्रामा मत कर जल्दी से कपड़े उतार.
उसने पहले अपना टॉप उतारा, अन्दर उसने सपोर्टर डाला हुआ था.

फिर उसने अपना ट्राउज़र उतारा.
वो अन्दर काले रंग की पैंटी पहनी हुई थी.

कसम से मुझसे रहा नहीं गया.
मैंने उसे अपनी बांहों में खींच लिया और उसकी गर्दन पर जैसे ही किस की, वो एकदम से मेरी बांहों में झूल गई.

मैं कुछ मिनट तक उसकी गर्दन पर किस करता रहा.
वो मादक सिसकारियां लेने लगी.

मेरा हाथ उसके मम्मों को सपोर्टर के ऊपर से मसल रहा था.
कुछ ही देर में मैंने उसके बूब्स बाहर निकाल लिए और उसके पिंक निपल्स को चूसने लगा.

कभी एक को चूसता तो कभी दूसरे को.

जैसे ही मैंने उसकी पैंटी उतारना शुरू की, उसने मना कर दिया.
पर मैंने उसे इतना ज्यादा गर्म कर दिया था कि वो मुझसे सिर्फ बोल रही थी कि मत करो प्लीज़ मत करो.

मैंने उसकी पैंटी उतार दी और उसकी एकदम गुलाबी चूत को हाथों से सहलाने लगा.
करीब 5 मिनट के बाद मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और वो मेरे सामने पूरी नंगी पड़ी थी.

मैंने अपना लंड बाहर निकाला और उसकी चूत पर थूक लगाकर रगड़ने लगा.
वो बोली- प्लीज अन्दर मत डालना, बाकी जो मर्ज़ी कर लो.

मैं उसकी चूत पर करीब 5 मिनट तक लंड रगड़ता रहा और उसका पानी निकल गया.
तन्वी एकदम ढीली हो गई.

बस अब यही मौका था जब मैं उसे चोद सकता था.
मैंने उसकी गीली चूत का फायदा उठाया और एक झटके में अपना लंड का 2 इंच भाग उसकी चूत के अन्दर पेल दिया.

वो छटपटाने लगी.
उसे बहुत तेज दर्द होने लगा था और वो चिल्ला उठी थी ‘हाय मर गई मम्मी …’

मैं कुछ पल के लिए रुक गया, वैसे ही पड़ा रहा और उसके बूब्स चूसने लगा.

जब उसका थोड़ा दर्द कम हुआ, तो मैंने एक और झटका मारा.

इस बार मेरा पूरा लंड उसकी चूत में अन्दर चला गया.

वो रोने लगी और दर्द से उसका बुरा हाल हो गया था.
मैंने उसे लिपकिस करना शुरू कर दिया.

तकरीबन दो मिनट बाद उसका दर्द कम हुआ और मैंने हल्के हल्के झटके लगाना शुरू कर दिए.
अब उसे भी मज़ा आने लगा था लेकिन उसका खून निकल आया था.

मेरा लंड उसके रक्त से सन गया था. मैंने वो देख लिया था पर मैं रुका नहीं और झटके मारता चला गया.

करीब 5 मिनट बाद मैं झड़ गया.
मैंने अपना सारा पानी उसकी चूत में छोड़ दिया.

कुछ समय तक हम दोनों वैसे ही पड़े रहे, फिर उठ कर बाथरूम में गए और साथ में नहाने लगे.
मैंने उससे बोला- अपनी चूत के बाल साफ़ करके बाहर आना.

वो कुछ नहीं बोली.
मैंने बाहर आ गया और एक सिगरेट पीने लगा.

करीब 30 मिनट बाद वो नंगी ही बाहर आई.
उसकी चूत एकदम लाल थी.
बिना बालों के उसकी चूत एकदम पकौड़ी सी सूजी हुई दिख रही थी और उसे दर्द हो रहा था.

मैंने उसे लंगड़ा कर चलते देखा तो अपनी अलमारी से पेनकिलर गोली निकाल कर उसको दे दी.

फिर हम दोनों ने लंच किया और वापस रूम में आ गए.
मैंने उससे पूछा- अब दर्द कैसा है?

वो बोली- सिर्फ़ हल्की सी जलन हो रही है चूत में!
मैंने कहा- कोई बात नहीं, उसे तो मैं अभी ठीक कर देता हूँ.

मैंने फिर से उसकी स्कर्ट पैंटी उतारी और उसकी एकदम साफ़ Xxx चूत में सीधे अपनी जीभ डाल दी.
वो मचल उठी.

इससे पहले कभी भी उसने ऐसा सुख नहीं लिया था.
तन्वी बिन पानी की मछली की तरह तड़पने लगी.

करीब दस मिनट में वो झड़ गई और उसकी चूत का पानी मेरे पूरे चेहरे में लग गया.

मैंने जब अपना चेहरा साफ़ किया और अपना लंड उसके मुँह के पास ले गया तो वो मना करने लगी.

वो बोली- मुझसे नहीं होगा.
मेरे कहने पर उसने ट्राइ किया पर उससे सही तरह से लंड चूसना नहीं आया.

फिर मैं उसे 69 की पोज़िशन में ले आया और जब मैंने उसकी देसी सेक्सी चूत को जीभ से चाटना शुरू किया तो उसको भी मेरा लंड मीठा लगने लगा.
अब वो बिल्कुल लॉलीपॉप की तरह उसे चूसने लगी थी.
इतना मज़ा तो मुझे कभी किसी रंडी ने भी नहीं दिया था.

मैं तो 5 मिनट में ही झड़ गया और मेरे लंड का सारा पानी वो पी गई.
जब तक उसका काम नहीं हुआ, वो मेरे लंड को चूसती ही रही.

करीब दस मिनट बाद उसका भी काम हो गया और उसने मेरा लंड चूस कर 3 इंच मोटा कर दिया था.

अब वो मेरे साथ खुश थी. जब भी हम दोनों को मौका मिलता, मैं उसकी चुदाई कर देता और वो भी मज़े ले ले कर हर पोज़िशन में मेरे से चुद जाती.

तो फ्रेंड्स ये थी मेरी सच्ची देसी सेक्सी चुत Xxx कहानी. आपको कैसी लगी.
कमेंट्स में जरूर बताएं.
[email protected]