कुंवारी लड़की की सीलफाड़ चुदाई-1

फ्रेंड हॉट वाइफ चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरी कमजोरी है चूत. मैंने बहुत चूतें मारी हैं, मेरे मर्दाना और फौलादी बदन पर बहुत औरतें फिदा हुईं.

नमस्कार दोस्तो, मैं कोमल मिश्रा अपनी नई सेक्स कहानी में आप सभी पाठकों का स्वागत करती हूं.

मेरी अभी तक की सभी कहानियों को आप लोगो ने इतना ज्यादा पसंद किया है, उसके लिए धन्यवाद.

दोस्तो, मेरी कहानी आप लोग पसंद करते हैं, इसका सबसे बड़ा कारण है कि मैं वही कहानियां भेजती हूँ, जो सत्य घटना पर आधारित हों … और उन्हें पढ़ने पर मेरे पाठको को भरपूर आनन्द मिल सके.

जो कहानियां मेरे दोस्त या मेरे कुछ पाठक मुझे भेजते हैं, उन्हें भी मैं तभी कामुकताज डॉट कॉम पर भेजती हूँ, जब मुझे उसकी सत्यता पर पूरा विश्वास हो जाता है.
मैं हमेशा कोशिश करती हूं कि आप लोगों को उत्तेजित करने वाली कहानी पढ़ने को मिले.

मेरी पिछली कहानी थी: नौकरानी को बनाया बिस्तर की रानी

आज की कहानी को मेरे एक पुराने पाठक अमित जी ने भेजा है.
अमित जी से मेरी कई बार बात हो चुकी है और जब मुझे कहानी पर पूरी तरह से यकीन हो गया कि ये सत्य घटना है, तभी ये Friend Hot Wife Chudai Kahani मैं प्रस्तुत कर रही हूं.

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम अमित प्रताप है और मेरी वर्तमान में 47 साल की उम्र है. मैं एक रिटायर आर्मी मैन हूँ.
फिलहाल मैं अपने खेतों में खेती करवाता हूँ.

अपने खेतों पर ही मैंने अपने लिए एक फार्महाउस बनवा रखा है, जहां पर रहते हुए मैं अपने खेतों पर काम करवाता हूँ.

मेरा परिवार हमेशा से ही एक धनवान परिवार रहा है और पैसों की हमको कभी कोई कमी नहीं थी.
मैं अपने माता पिता का इकलौता बेटा हूँ और मेरे पिता भी एक आर्मी मैन रह चुके हैं.
आस-पास के इलाके में हमारा काफी अच्छा रौब और रुतबा है.

  स्टूडेंट की मम्मी की उसी के घर में चुदाई

मैं हमेशा से ही अपने शौक को पूरा किया है और मेरा जो भी मन किया, उसे मैंने पूरा किया है.

लेकिन हर इंसान की तरह मेरी भी एक कमजोरी है.
जी हां दोस्तो कमजोरी … और वो कमजोरी है – चूत.

औरत मेरी कमजोरी है, खूबसूरत औरत हो या कोई कमसिन लड़की, किसी की बीवी हो या भाभी, मेरी नजर हर खूबसूरत चेहरे पर फिसल जाती है.

मेरे मर्दाना और फौलादी बदन पर तो कई औरतें फिदा हुईं और कितनों को ही मैंने अपने बिस्तर पर मसला है.
लेकिन जैसे जैसे मेरी उम्र बढ़ती जा रही है, उस हिसाब से मुझे अब केवल बड़ी उम्र की औरतें ही चोदने के लिए मिल रही हैं.
तब भी मुझे कभी भी चूत की कमी नहीं हुई.

मेरी जिंदगी में कोई न कोई औरत बनी ही रहती है.
अगर एक औरत मेरी जिंदगी से जाती है, तो कोई न कोई दूसरी आ जाती है.

दोस्तो, मैंने अपनी जिंदगी में जितना अपनी बीवी को नहीं चोदा होगा, उससे कहीं ज्यादा मैंने बाहर की औरतों को चोदा है.

अगर मैं सभी के ऊपर कहानी लिखनी शुरू की, तो पता नहीं मेरी कहानी कितनी लम्बी हो जाएगी.

आज मैं जो कहानी आप लोगों को बताने जा रहा हूँ, वो घटना मेरी जिंदगी का सबसे हसीन पल था.
इस घटना को मैं मरते दम तक नहीं भूल सकता.

यह घटना तब की है, जब मेरी उम्र 44 साल की थी.

उस वक्त दो महिलाएं मेरी दोस्त थीं. एक तो मेरे ही दोस्त की बीवी थी जो मुझ पर फिदा थी और अपने पति से छुपकर मुझसे चुदाई करवाती थी.
और दूसरी मेरे शहर की ही थी, जिसका पति एक दुकान चलाता था. वो भी मेरा दोस्त जैसा था.
उधर जाकर मैं हमेशा सिगरेट पीता था.

उसकी बीवी का नाम प्रिया था और वो उस वक्त 28 साल की थी.
उसका एक बच्चा भी था शायद 7 साल का रहा होगा.

फ्रेंड हॉट वाइफ प्रिया चालू टाइप की औरत थी और उसके साथ ही थोड़ी लालची भी थी.
मैं हमेशा उसे कोई न कोई गिफ्ट दिया करता, जिससे वो मुझसे खुश रहती थी.

वो दिखने में थी बड़ी करारी माल और काफी सुंदर भी थी. गदराए बदन वाली प्रिया के बड़े बड़े दूध और चौड़ी मटकती गांड देख कर मेरा दिल खुश हो जाता था.

बिस्तर पर भी वो बेहद ही जोशीली औरत थी. जब मैं उसे चोदता था तो वो मेरा पूरा साथ देती थी और वो मुझे हर तरह से संतुष्ट कर देती थी.

मैं जब भी उसे अपने पास बुलाता था, वो किसी न किसी बहाने से मेरे पास जरूर आती थी.
कई बार जब हमारे पास ज्यादा समय नहीं रहता था, तो मैं उसे अपनी कार से पास के ही जंगल में ले जाता और जंगल में ही उसकी चुदाई कर देता.
वैसे वो हमेशा मेरे फार्महाउस में ही चुदाई करवाती थी.

पर मेरी नजर प्रिया से ज्यादा उसकी एक सहेली के ऊपर थी जो उसकी पड़ोसन थी.
उसका नाम रंजना था.

दोस्तो, आपने देखा होगा कि हर औरत अपनी एक राजदार दोस्त बनाकर रखती है, जो कि उसका सब राज जानती है और उसकी मदद करती है.
प्रिया को जब भी मुझसे मिलना होता था, रंजना घर से निकलने में उसकी मदद करती.

प्रिया और रंजना काफी अच्छी सहेलियां थीं. रंजना को प्रिया के बारे में सब कुछ पता था.
रंजना उस वक्त 19 साल की थी और 12 वीं क्लास में पढ़ाई करती थी.

जब कभी भी मेरी प्रिया से बात नहीं हो पाती थी, तो मैं रंजना के माध्यम से प्रिया तक अपनी बात पहुंचा दिया करता था, क्योंकि रंजना बाजार या स्कूल टाइम में मुझे मिलती रहती थी.

दोस्तो, भले ही रंजना 19 साल की थी और मुझसे बेहद ही छोटी थी लेकिन दिखने में वो बड़ी कड़क माल थी.

उसका खूबसूरत चेहरा और बेहद ही गोरा बदन किसी को भी अपना दीवाना बना सकता था, उसका फिगर उस वक्त 30-26-32 का रहा होगा.

मतलब छोटे छोटे दूध पतली कमर और छोटी सी मटकती गांड अपने फिगर के हिसाब से वो उस वक्त बिल्कुल कयामत थी.

उसकी चढ़ती जवानी में देखने लायक दो चीजें बेहद खास थीं. एक उसका बेहद गोरा रंग और उसका खूबसूरत चेहरा.

मैं तो उसे जब भी देखता था तो एक ही बात मेरे मन में आती थी कि इस साली की चूत कैसी होगी यार … जब ये ऊपर से ही इतनी ज्यादा गोरी है तो चुत तो एकदम मावे की बर्फी सी होगी.

खैर … उस वक्त तो वो मेरी औऱ प्रिया की मदद किया करती थी और मुझे प्रिया को चोदने में अहम भूमिका निभा रही थी.

एक बार की बात है, शाम 6 बजे प्रिया और रंजना मुझे बाजार में अचानक से मिल गईं.

प्रिया को देख मेरा लंड हिलोरें मारने लगा. कुछ देर अकेले में मैंने प्रिया से बात की और उसे चुदने के लिए राजी कर लिया.
लेकिन एक समस्या ये थी कि अंधेरा होने वाला था और रंजना उसके साथ में थी.

Video: सेक्सी कॉलेज गर्ल ने टीचर से स्कर्ट उठा के चूत मरवाई

मैंने दोनों को अपनी कार में बैठाया और जंगल की तरफ चल दिया.
जंगल पहुंच कर मैं और प्रिया झाड़ियों में चले गए और रंजना कार में ही बैठी रही.

झाड़ियों में जाकर मैंने प्रिया की साड़ी उसकी कमर तक उठाई और चड्डी नीचे सरका कर उसे खड़े खड़े ही चोदने लगा.
उस जगह से मुझे कार में बैठी रंजना साफ साफ दिखाई दे रही थी.

रंजना कार में डरी हुई बैठी हुई थी.
इधर मैं प्रिया को चोदे जा रहा था और मेरी नजर केवल रंजना को देखे जा रही थी.

रंजना हम लोगों को नहीं देख पा रही थी लेकिन मैं उसे ही देखते हुए प्रिया को चोदता जा रहा था.
कुछ देर बाद मैं प्रिया से बोला- यार, कभी रंजना को भी चुदवा दे.

प्रिया- पागल हो क्या? वो तुम्हारे सामने बहुत छोटी है. तुम बस मुझे खुश करो.
मैं- तुझे तो खुश करता ही हूँ मेरी जान लेकिन तेरे साथ साथ अगर रंजना को चखने का मौका मिल जाए, तो मजा ही आ जाए.

ऐसे ही मैं प्रिया से बात करते हुए उसे चोदे जा रहा था.
मैं वैसे ही लंबी रेस का घोड़ा हूँ और आधा घंटा तक उसे लगातार चोदने के बाद मैंने अपना पानी प्रिया की चूत में ही भर दिया.

फिर प्रिया ने अपने कपड़े सही किए और मैंने भी अपने कपड़े ठीक कर लिए.
हम दोनों कार में वापस आ गए.

ऐसे ही एक दिन मैंने प्रिया को अपने फार्महाउस पर बुलाया और मैं उसे चोद रहा था.
चोदते हुए ही मैंने उससे फिर से रंजना के बारे में बोला.

मैं- यार, मेरे काम का कुछ हुआ?
प्रिया- कौन सा काम?

मैं- अरे वही तेरी सहेली रंजना के बारे में बोला था न!
प्रिया- तुम बिल्कुल पागल हो क्या … कुछ तो शर्म करो यार … वो छोटी है तुम्हारे सामने!

मैं- घंटा छोटी है, अब वो बड़ी हो गई है. आखिर कोई न कोई तो उसे भी चोदेगा ही … क्यों न शुरूआत मैं ही कर दूँ?
प्रिया- वो कभी तैयार नहीं होगी.
मैं- वो तैयार नहीं होगी तो तुम उसे तैयार करो. इसके बदले तुम जो बोलोगी, तुम्हें वो दूँगा.

मैंने प्रिया को लालच दिया क्योंकि मैं जानता था कि प्रिया थोड़ी लालची किस्म की औरत है.

इस पर प्रिया ने मुझसे कहा- सोच लो अगर मैंने उसे तैयार कर लिया, तो जो बोलूंगी देना पड़ेगा.
मैं- वादा है यार, उसकी चूत के बदले कुछ भी दे दूँगा.

प्रिया- चलो फिर मैं उसे तैयार करने की कोशिश करती हूं लेकिन अगर वो तैयार हुई, तो तुम उसे आराम से चोदना. क्योंकि तुम बड़े जालिम तरीके से चोदते हो … और रंजना अभी एक बार भी नहीं चुदी है.
मैं- उसकी चिंता तुम मत करो, मैं सब सम्हाल लूँगा.

इसके बाद मैं कई दिनों तक इंतजार करता रहा लेकिन प्रिया ने मुझे कुछ नहीं बताया.
फिर एक दिन प्रिया का फोन आया और उसने मुझसे कहा- तुमने जो कहा था, वो काम मैंने कर दिया है. रंजना तुमसे मिलने के लिए तैयार हो गई है.

इतना सुन कर तो मेरी खुशी का ठिकाना नहीं रहा.
प्रिया ने ऐसा कैसे किया, ये तो मुझे नहीं पता, लेकिन जिस काम को मैं नामुमकिन समझ रहा था … प्रिया ने वो काम कर दिखाया था.

फिर भी मैं सोच रहा था कि रंजना जैसी मात्र 19 साल की छुईमुई सी कमसिन लड़की मुझ जैसे 47 साल के मर्द के साथ सोने के लिए किस तरह तैयार हो गई थी.
इसके बदले में प्रिया ने मुझसे गिफ्ट में गोल्ड रिंग मांगी.

मैंने भी सोचा कि चलो इतनी मस्त कुंवारी चूत चोदने को मिल रही है तो इतना तो मैं कर ही सकता हूँ.
अगले ही दिन मैंने प्रिया को गोल्ड रिंग गिफ्ट कर दी.

प्रिया ने मुझे बताया कि 2 दिन बाद रंजना अपनी सहेली के घर शादी में जाने के लिए अपने घर से निकलेगी और वहां न जाकर वो 2 दिन तुम्हारे साथ तुम्हारे फॉर्म हाउस में रहेगी.

उसने मुझे आखिर में एक बात बताई कि रंजना केवल तुम्हारे साथ सोने के लिए तैयार हुई है और अभी भी वो चुदने के लिए तैयार नहीं है. तब भी रंजना इस बात के लिए तैयार है कि वो तुम्हारे साथ नंगी सो जाएगी.

मैं फिर से सोच में पड़ गया कि ये कैसी लड़की है, जो नंगी सोने के लिए तैयार है लेकिन चुदने से मना कर रही है.

हालांकि मेरे लिए इतना भी काफी था. अगर रंजना मेरे सामने नंगी होने के लिए तैयार है तो बाकी का काम मैं बड़ी आसानी से कर लूंगा और उसको चोदे बिना तो नहीं जाने दूँगा. दो दिन में तो मैं उसकी चूत का भोसड़ा बना दूँगा.

यही सब सोचते हुए मैं उस दिन का इंतजार करने लगा.

सेक्स कहानी में आगे आप जानेंगे कि किस तरह से प्रिया और रंजना ने आपस में एक डील की थी, जिसे पूरा करने के लिए ही रंजना मेरे पास आ रही थी और मेरे साथ नंगी सोने को तैयार हुई थी.

फ्रेंड हॉट वाइफ चुदाई कहानी आपको कैसी लग रही है, आपके मेल का इन्तजार रहेगा.
[email protected]

फ्रेंड हॉट वाइफ चुदाई कहानी का अगला भाग: न्यूड वर्जिन गर्ल सेक्स कहानी