मेरी बीवी की भोसड़ी और गांड

दोस्तो, मेरा नाम राहुल है और मेरी उम्र 30 साल है. यह मेरी पहली और रियल सेक्स स्टोरी है. मेरी बीवी का नाम अंकिता है और उसकी उम्र 28 साल है. अंकिता देखने में एकदम गोरी चिट्टी माल जैसी दिखने वाली आइटम है. उसकी हाइट 5 फुट 3 इंच है. उसकी तनी हुई चुचियों का साइज 34 इंच का है तथा उसकी गांड का साइज 36 इंच के करीब है. अंकिता स्वभाव से भी बहुत अच्छी है.

एक बार हम पैसों की तंगी से बहुत परेशान चल रहे थे और मेरी नौकरी भी छूटी हुई थी, इसलिए हम थोड़ी परेशानी में चल रहे थे. एक दिन मैंने न्यूज़ पेपर में देखा कि एक कंपनी में लेडीज एकाउंटेंट की नौकरी खाली है.

मैं अगले दिन अपनी बीवी को साथ लेकर उस ऑफिस में आ गया और वहां मैं मैनेजर से मिला. मैनेजर ने मेरी बीवी का इंटरव्यू लिया और मेरी बीवी इंटरव्यू में पास हो गई. हमें जॉब का ऑफर मिल गया और मेरी बीवी बहुत खुश हुई.

सोमवार को उन्होंने नौकरी ज्वाइन करने के लिए बोला और मेरी बीवी खुशी-खुशी सोमवार को ऑफिस चली गई. हम दोनों बहुत खुश थे कि अब आप पैसों की तंगी थोड़ी दूर होगी.
इसी तरह हमारा काम चलने लगा. लगभग 6 महीने बाद मेरी बीवी का प्रमोशन भी हो गया.

एक दिन मेरी बीवी ने मुझसे कहा कि बिग बॉस की रिश्तेदारी में शादी है और वह मुझे भी चलने को कह रहे हैं. शादी थोड़ी दूर पर ही कैलाश नगर में थी. लगभग आधे घंटे का रास्ता था. मेरी बीवी को मैंने जाने की इजाजत दे दी.
वह भी अपनी तरफ से और भी बहुत कुछ तैयार होने लगी. उसने नीले रंग की गहरे रंग की साड़ी पहनी और और शादी में जाने के लिए तैयार हो गई.

थोड़ी देर बाद ही उसके बॉस की गाड़ी ड्राइवर लेकर आया और उसने मेरी बीवी को चलने को कहा. मेरी बीवी गाड़ी में बैठ कर चली गई. मैंने सोचा कि बॉस ने मेरी बीवी को ही क्यों इन्वाइट किया और किसी स्टाफ की लेडीज को क्यों नहीं कहा. अब मुझे कुछ शक हुआ और मैं भी बाइक लेकर पीछे पीछे चल दिया.

  पत्नी की बेरुखी से मेरे कदम डगमगा गए

थोड़ी दूर जाने पर ही वह जगह आ गई और मैं उस मैरिज प्लेस की पार्किंग में ही रुक गया. लगभग आधे घंटे बाद मेरी बीवी और बॉस वापस आ रहे थे. मैं उनको देखकर छुप गया और मैंने सोचा ये दोनों इतनी जल्दी कैसे आ गए. मेरी बीवी और बॉस गाड़ी में बैठ कर चल दिए. मैं भी पीछे पीछे उनको फॉलो करने लगा.

थोड़ी दूर जाने पर ही एक फार्म हाउस के बाहर उनकी गाड़ी रुकी और मेरी बीवी और बॉस अन्दर चले गए. ये तो शुक्र था कि वहां कोई सिक्यूरिटी गार्ड नहीं था. मैंने वहां बैक साइड में जाकर अन्दर का रूम देखा. वहां एक सोफे पर दो आदमी और एक औरत बैठी थी. मेरी बीवी और बॉस भी वहीं जाकर बैठ गए.

मेरी बीवी कंफ्यूज थी कि बॉस शादी छोड़ कर इतनी जल्दी यहां क्यों आ गया और वह यह भी सोच रही थी कि ये औरत जो वहां बैठी थी.. ये यहां क्या कर रही है.

वह औरत जो वहां बैठी थी, वो उठ कर गई और थोड़ी ही देर में ही एक व्हिस्की की बोतल और गिलास ले आई. वो उन गिलासों में व्हिस्की डालने लगी. उसने सबको व्हिस्की सर्व की. मेरी बीवी को भी दी, पर मेरी बीवी ने मना कर दिया.
बॉस कहने लगा- व्हिस्की ना लो, तो कोल्ड ड्रिंक तो पी लो.

वह औरत मेरी बीवी के लिए कोल्ड ड्रिंक ले आई. मेरी बीवी ने कोल्ड ड्रिंक ले लिया और पीने लगी.

थोड़ी देर में ही मेरी बीवी को नशा सा होने लगा और वह वहीं लेट गई. बॉस के कहने पर मेरी बीवी को वह औरत एक कमरे में ले गई और जाकर बेड पर लिटा दिया. मैंने भी दूसरी साइड जाकर उस कमरे की तरफ देखा तो साइड में से सब अन्दर का दिख रहा था. थोड़ी देर बाद बॉस और समेत वे सभी उस कमरे में आ गए. मेरी बीवी नशे में पूरी चूर थी और बेड पर लेटी हुई थी.

  जनवरी की सर्दी में तन की गर्मी शांत की

मेरी बीवी की साड़ी जांघों तक ऊपर थी और वह सीधी लेटी हुई थी. बॉस के इशारे पर उस औरत ने मेरी बीवी के ब्लाउज के हुक खोलने शुरू कर दिए मेरी बीवी की चूचियां एकदम खड़ी थीं और ब्लाउज के खुलते ही अन्दर से उसकी पिंक ब्रा दिखाई देने लगी. इसमें मेरी बीवी के दोनों संतरे ब्रा में कैद थे. बॉस मेरी बीवी के ऊपर झुककर मेरी बीवी के होंठ चूसने लगा और उसके दोनों संतरे दबाने लगा. मेरी बीवी की चूचियां एकदम उसकी मुट्ठी में थीं और बॉस उनको ऐसे दबा रहा था कि जैसे रबड़ की कोई गेंदें हों.

बॉस ने मेरी बीवी की पेट पर से साड़ी हटा दी और उसकी गहरी नाभि को चाटने लगा. थोड़ी देर बाद ही बॉस ने मेरी बीवी की साड़ी उतार दी. मेरी बीवी पेटीकोट और ब्रा में रह गई थी. बॉस ने मेरी बीवी का पेटीकोट ऊपर करना शुरू कर दिया. पूरा पेटीकोट ऊपर कर दिया, इससे मेरी बीवी की गोरी जांघें केले के तने की तरह चिकनी सामने दिखने लगी थीं.

बॉस ने जब पेटीकोट पूरा ऊपर कर दिया तो नीचे मेरी बीवी की गुलाबी रंग की पेंटी नजर आने लगी. बॉस मेरी बीवी की भोसड़ी पेंटी पर से ही देखने लगा. वो मेरी बीवी की चूत की फांकों पर से ही हाथ फेर कर देख रहा था. उसकी बुर एक पावरोटी की तरह फूली हुई थी.

बॉस ने बीवी की भोसड़ी की दरार को ऊपर से ही रगड़ना शुरू कर दिया. उसके बाद बॉस ने मेरी बीवी की जांघों को हाथ फेरते हुए उसकी पेंटी उतार दी. जैसे ही पैंटी अलग हुई और बॉस की आंखें जब मेरी बीवी की चूत पर पड़ीं तो बॉस देखता ही रह गया. मेरी बीवी की भोसड़ी पर एक भी बाल नहीं था और उसकी भोसड़ी पावरोटी जैसी फूली हुई थी.

  पति के दोस्त के साथ मनाई सुहागरात

बस थोड़ी देर तक वह चूत को देखता रहा. इसके बाद बॉस ने मेरी बीवी की टांगें चौड़ी कर दीं और अपने हाथों की उंगलियों से भोसड़ी को फैलाकर देखने लगा. मेरी बीवी की चूत अन्दर से एकदम गुलाबी थी. बॉस एक उंगली से मेरी बीवी की चूत का छेद देखने लगा चूत का दाना देख कर उसे रहा न गया और उसने अपनी जीभ चूत के दाने पर लगा दी. वो चूत चाटने लगा और साथ ही अपनी एक उंगली भोसड़ी के छेद में डाल कर अन्दर बाहर करने लगा.

थोड़ी देर बाद उसने जब उंगली चूत से बाहर निकाली तो उसकी उंगली बीवी की चूत के पानी से गीली हो चुकी थी.

उसने मेरी बीवी की चूत का पानी उंगलियों पर लगा देखा, तो वह पानी की तार सी बनने लगी. यह देख कर उन सबकी आंखों में चमक आ गई और सब ने अपने लंड बाहर निकाल लिए. सामने मेरी बीवी की नंगी भोसड़ी देख कर वे अपने लंड हिलाने लगे. बॉस ने मेरी बीवी की टांगों को फैलाकर उसकी गांड के नीचे तकिया लगा दिया.. जिससे मेरी बीवी की भोसड़ी थोड़ी फैल गई और भोसड़ी का छेद साफ़ नजर आने लगा.

बॉस ने मेरी बीवी के भोसड़ी की फांकों को फैलाकर अपना 8 इंच का लंड टिका दिया. उसने लंड का सुपारा मेरी बीवी की भोसड़ी के छेद पर लगाकर एक हल्का सा धक्का मारा. तो लंड का सुपारा मेरी बीवी की भोसड़ी के छेद को चीरता हुआ अन्दर चला गया और पक्क जैसी आवाज आई.

इसके बाद बॉस ने मेरी बीवी की ब्रा की स्टेप खोल दी और मेरी बीवी की 34 साइज की चूचियां हवा में फुदकने लगीं. उसकी चूचियों पर पिंक कलर के निप्पल बड़े मस्त लग रहे थे.

मेरी बीवी के निप्पल के ऐरोला एक रूपए के कॉइन जैसे हैं. उसके निप्पल मटर के छोटे दाने जैसे हैं, जो एकदम कड़क खड़े थे. बॉस ने एक निप्पल को अपनी जीभ से चाटना शुरू कर दिया और दूसरे निप्पल को रगड़ना शुरू कर दिया.

साथ ही बॉस मेरी बीवी की चूत लगातार चोद रहा था और हर शॉट के साथ मेरी बीवी की दोनों मदमस्त चूचियां हिल रही थीं. बॉस मेरी बीवी के होंठ चूसता हुआ उसकी भोसड़ी में अपना मोटा लंड पेल रहा था. मेरी बीवी की चूत में से फच फच की आवाजें आ रही थीं.

कुछ ही देर में मेरी बीवी की भोसड़ी ने भी शायद पानी छोड़ दिया था, जिसकी वजह से चुदाई की आवाज कमरे में गूंज रही थी. वो आदमी मेरी बीवी की चुदाई देख कर अपने लंड को हिला रहा था. औरत अपनी चूत में मूली डाल रही थी.

इस तरह बॉस ने मेरी बीवी को लगभग 20 मिनट तक लगातार चोदा. जब बॉस झड़ने वाला था, उसने अपना लंड बाहर निकाल लिया और मेरी बीवी के पेट पर माल गिरा दिया और हांफने लगा.

उधर मेरी बीवी नशे में बिल्कुल बुत बनी पड़ी थी. इसके बाद उस औरत ने मेरी बीवी के पेट से वह पानी साफ कर दिया और दूसरा आदमी मेरी बीवी के ऊपर चढ़ गया. उसके बाद उसने मेरी बीवी को करवट से कर दिया और उसके पीछे जाकर लेट गया. मेरी बीवी के चूतड़ फैलाकर वह मेरी बीवी की गांड का छेद देखने लगा. उसने अपना मोटा लंड निकाला. लंड का सुपारा बाहर निकाल कर उसने मेरी बीवी की गांड के छेद पर लगाकर अन्दर डालना शुरू कर दिया.

मेरी बीवी की गांड का छेद टाइट था, बहुत मुश्किल से उसका सुपारा मेरी बीवी की गांड में गया. फिर एक धक्का मारने पर सुपारा पूरा अन्दर चला गया और वह मेरी बीवी की गांड में अपना लंड डालने लगा. इससे मेरी बीवी को बहुत दर्द हो रहा था, पर नशे की हालत में उसको पता नहीं लग रहा था. उसके बाद आदमी लगातार मेरी बीवी की गांड मारता रहा. उसका आधे से ज्यादा लंड मेरी बीवी की गांड में घुस चुका था. वह उसको लगातार चोद रहा था.

कुछ ही देर में उसने मेरी बीवी की गांड में अपना पूरा लंड डाल दिया और तेज तेज चोदने लगा. दस मिनट बाद वह झड़ने वाला था. उसने मेरी बीवी की गांड में ही अपना गरम गरम माल छुड़ा दिया और हट गया.

इसके बाद तीसरे आदमी ने मेरी जानू की दोनों चुचियों को जमकर दबाया और चूसा. मेरी बीवी की दोनों चूचियां लाल हो गई थीं, पर वह आदमी काफी देर तक दोनों चूचियां चूसता रहा.

इसके बाद उसने मेरी बीवी की टांगों के बीच में बैठकर मेरी बीवी की चूत में अपना लंड डाल दिया और दोनों टांगें ऊपर उठाकर मेरी बीवी की भोसड़ी जड़ तक लंड पेल कर उसे चोदने लगा. उसका पूरा लंड मेरी बीवी की बच्चेदानी तक चला गया था और उसकी बच्चेदानी तक चोट मार रहा था.

वह लगातार मेरी बीवी को रंडी जैसे चोद रहा था. मेरी बीवी के दोनों संतरे दबा दबा कर उसके निप्पलों के दूध को चूसने की कोशिश कर रहा था. उसके बाद उसने मेरी बीवी के दोनों चूचुक अपने दांतों से काटने शुरू कर दिए.

लगभग 20 मिनट लगातार चोदने के बाद उसने अपना माल मेरी बीवी के दोनों संतरों पर छुड़ा दिया और लंड के सुपारे को दोनों निप्पल ऊपर रगड़ कर माल मलने लगा.

इसके बाद तीनों ने अपने अपने कपड़े पहने और औरत ने गीले कपड़े से मेरी बीवी के शरीर पर उनके लंड के पानी के निशान मिटाने शुरू कर दिए. इसके बाद उसने मेरी बीवी के कपड़े ठीक कर दिए.

थोड़ी देर बाद जब मेरी बीवी की नींद खुली तो वह सोचकर परेशान होने लगी कि रात के 2:00 बज रहे हैं और बॉस कहां गए.

वह औरत जब कमरे के अन्दर आई तो वह मेरी बीवी से कहने लगी कि आपकी तबीयत खराब हो गई थी.. इसलिए आप यहीं रह गई थीं.. और बॉस चले गए हैं. मैं आपको आपके घर छोड़ आऊंगी.

फिर उस औरत ने मेरी बीवी को अपने साथ लिया और मेरी बीवी को लेकर घर आ गई. उनके आने से पहले मैं घर पहले पहुंच गया था.
मैंने जानबूझ कर बीवी से कहा- इतनी लेट कैसे हो गई?
बीवी कहने लगी कि शादी में टाइम लग गया.

मैंने उसको कोई शक ना होने दिया और उसके बाद वो औरत भी अपने घर चली गई.

उसके लिए आज भी एक रहस्य बना हुआ है. मेरी बीवी को अब तक यह नहीं पता चला कि उसकी चूत दूसरे मर्दों के तीन लंड से चुद चुकी है. ये नशा किस तरह का होता है, ये मैं भी नहीं जानता हूँ.

इस चुदाई की कहानी में इतना ही, आगे की कहानी अगले पार्ट जल्दी भेजूंगा.