एक रात नए बेड पार्टनर के साथ-3

सेक्सी नंगी वाइफ पोर्न कहानी में पढ़ें कि दो इंडियन कपल जव एक रिसोर्ट में मिले तो उन्होंने मिल कर स्विमिंग पूल में क्या क्या हरकतें की!

कहानी के दूसरे भाग
बिना शादी के गर्लफ्रेंड के साथ जिन्दगी का मजा
में आपने पढ़ा कि कैसे दो इंडियन जोड़े मालदीव्ज़ के एक रिसोर्ट में मिले. उनमें दोस्ती हुई.
फिर दोनों जोड़े अपनी कोटेज़ में सेक्स करने में मस्त हो गए.

अब आगे Sexy Nangi Wife Porn Kahani:

देर शाम दोनों ही जोड़े अपने अपने कॉटेज से नाममात्र के कपड़े पहने बाहर समुद्र तट पर घूम रहे थे कि आमने सामने पड़ गए।

परिचय तो सुबह हो ही चुका था तो चारों ने आपस में हाथ मिलाये।

लड़कियाँ तो कुछ ज्यादा ही प्यार से गले लग कर मुस्कुराईं, मानो पूछ रहीं हों ‘और कैसी रही चुदाई?’

हर्ष के कहने पर चारों वहीं एक मेज पर जम गए।

नेहा के छोटे से बेग में सिगरेट थी तो उसने सबको ऑफर की.
पर प्रीति ने मना कर दिया- मैं नहीं पीती।

सिर्फ हर्ष और राजीव ने सुलगाई।

राजीव ने वहीं से एक वेटर को कुछ स्नाक्स और बियर लाने को कहा।
हर्ष बोला- मैं तो कॉफी लूँगा!

सुनकर नेहा ने भी कॉफी के लिए हाँ कही।
पर बियर का नाम सुन कर प्रीति चहकी और उसने राजीव को थैंक्स कहा।

राजीव ने हर्ष से मज़ाक कर ही दिया- देखो, अब मेरे और प्रीति के शौक मिल रहे हैं, कहीं तुम्हारा नुकसान न हो जाये?
हर्ष ने नेहा के हाथ को सहलाते हुए कहा- कोई बात नहीं, हम आपस में काम चला लेंगे।
सब खिलखिला पड़े।

अब मज़ाक अश्लील होते गए और बियर खत्म होते होते सुबह का सेक्स सेशन पूरा डेटेल में डिस्कस हो गया।

लड़कियां भी पूरी बेतकल्लुफ़ थीं सेक्स की बात करने में!
प्रीति ने बताया- यहाँ एक पब्लिक स्विमिंग पूल भी है जहां केफे भी चलता है। चलो उसमें ही चलते हैं, मस्ती करेंगे।
उसने मस्ती पर ज़ोर देते हुए नेहा के चिकोटी काट ली।

  मेरी माँ की चुदाई मास्टर और प्रिंसिपल ने की

दोनों की आँखों ही आँखों में क्या बात हुई कि नेहा ने उसे एक धौल लगाते हुए कहा- चल बेशर्म!

राजीव ने पूछा- क्या बात है, हमें भी तो बताओ?
तो नेहा बोली- तुम्हारे मतलब की बात नहीं है, प्रीति को बियर चढ़ गयी है।

उस स्विमिंग पूल के पास कई चेंजिंग रूम थे और वहीं पर स्विम सूट भी रखे थे।

चारों ने स्विम सूट और टॉवल लिए और चेंज करके पूल में उतर गए।

अंधेरा हो चला था, पूल के चारों ओर लाइट बहुत धीमी थी।
संगीत चल रहा था।

पूल में दो चार विदेशी जोड़े ही थे पर सभी मस्ती पूरी कर रहे थे।
जैसा पहले बताया कि इस रेजोर्ट में चूमना-चिपटना तो इतना आम था कि जिधर निगाह घुमाओ कोई न कोई किसी न किसी से भिड़ा मिल ही जाता।

प्रीति और नेहा तैरना अच्छा जानती थीं तो दोनों तो मछलियों की तरह इधर से उधर तैरने लगीं.

पर राजीव और हर्ष का दिमाग तो तैरने में कम विदेशी युवतियों के मम्मों और कूल्हों पर ज्यादा था।
दोनों बार बार साइड में आ जाते और एक दो अश्लील मज़ाक कर के फिर वापिस एक डाइव मार लेते।

अब अंधेरा बढ़ने से सभी जोड़े आपस में नजदीक पर एक दूसरे से दूर होकर पानी का आनन्द लेने लगे।
वो पानी का कम पानी के अंदर अपने जोड़ीदार के अंगों का ज्यादा मज़ा ले रहे थे।

नेहा और राजीव प्रीति और हर्ष के नजदीक गए तो प्रीति उन्हें देख के हर्ष से अलग हुई।

हर्ष ने हंस कर कहा- यार, तू मेरा उखाड़ के तो नहीं ले गयी?
प्रीति नीचे गोता लगाकर ऊपर आई तो सबने देखा कि उसके मम्में स्विम सूट से लगभग निकले हुए हैं, शायद हर्ष उनकी मलाई कर रहा था।

यह देख के राजीव ने भी पानी के अंदर ही नेहा की पैंटी में हाथ डाल कर उसकी चूत में उंगली कर दी।
नेहा भी बेशर्मी से बोली- उंगली मत डालो, सीधे वो ही डाल दो। लो तुम भी चूस लो! क्या याद करोगे कि किस रईस से पाला पड़ा है!
कह कर उसने अपने मम्में हाथ से पकड़ कर राजीव की ओर कर दिये।

राजीव झेंप गया और सिर्फ मुस्कुरा दिया।

ये देख कर हर्ष बोला- नेहा ये ऑफर आगे पास कर दो.
इस पर प्रीति बोली- भगवान के लिए उसे तो छोड़ ही दो, मेरे ही तुमने परमानेंट लाल कर दिये हैं।

अबकी बारी बोलने की नेहा थी, बोली- कम राजीव भी नहीं है, सुबह से दर्द हो रहा है।
सब हंस पड़े।

अब डिनर का टाइम हो रहा था।
इस रेजोर्ट में बस यही कमी थी की कुछ भी बढ़िया खाना हो तो जाना रेस्तराँ में ही पड़ेगा।

चारों बाहर आकर अपनी अपनी कॉटेज की तरफ गए ताकि कपड़े बदल कर डिनर हाल में चलें।

डिनर पर चारों लगभग एक साथ ही हाल में घुसे।
पहले तो हल्का हल्का व्हिस्की का पेग लिया चारों ने, फिर संगीत सुनते हुए मेन डिनर हाल में एक ही टेबेल पर आमने सामने बैठ गए।

लड़कियाँ तो बिना ब्रा-पेंटी के फ्रॉक डाल कर आयीं, जिनमें से उनकी नुकीली नोकें और पीछे से मटकते कूल्हे साफ बता रहे दे कि अंदर कुछ नहीं है।
बल्कि प्रीति की ड्रेस तो ऊपर से इतनी लो कट थी कि झुकने पर उसके बड़े बड़े संतरे दिख जाते।

राजीव का बस चलता तो वो हाथ से पकड़ ही लेता।
यह बात नेहा ने देख भी ली पर उसे मालूम था कि राजीव ऐसे नहीं मानेगा।
उसने जानबूझ कर अपनी टांगें चौड़ा लीं और अपने एक पैर से सामने बैठे हर्ष के पैर को टकराना शुरू कर दिया।

शुरू में तो हर्ष ने ध्यान दिया नहीं, पर जब दोनों की निगाहें मिलीं तो मुस्कुराते हुए नेहा ने सॉरी बोल दिया.
इस पर हर्ष ने भी मुस्कुरा कर कहा- नो प्रोब्लम।

नेहा ने अपनी चम्मच हर्ष की ओर नीचे गिरा दी।
हर्ष उसे उठाने नीचे झुका तो नेहा ने टांगें और चौड़ा दीं।

नीचे का नज़ारा देख कर उठने में हर्ष को कुछ सेकंड ज्यादा ही लग गए।

नेहा हर्ष की ओर देख कर मुस्कुरा रही थी।
अब हर्ष ने भी अपने पैर से नेहा का पैर सहलाना शुरू कर दिया।

राजीव को लगा कि नीचे कुछ गड़बड़ है, वो किसी बहाने से नीच झुका तो उसे लगा कि उसे वहम हुआ है.
पर उसे शक तो हो ही गया क्योंकि पूरे डिनर में हर्ष कुछ न कुछ उठाने दो-तीन बार नीचे झुका।

डिनर लेकर लौटते समय राजीव कुछ उखड़ा हुआ था, उसने एकांत पाकर नेहा से पूछा- तुमने फ्रॉक के नीचे कुछ नहीं पहना, हर्ष बार बार अंदर झाँकने के लिए ही झुक रहा था।
इस पर उसकी सेक्सी वाइफ मुस्कुराई- मुझे मालूम है। पर मेरे पास भी तो वही है जो प्रीति पर है।

पर राजीव बोला- फिर वो अपनी वाली की झाँके या उंगली करे, दूसरे की क्यों झांक रहा है।

अब नेहा बोली- तुम भी तो प्रीति के मम्मों को झांक रहे थे, तुम्हारा तो खड़ा भी हो गया था उसके मम्में देखकर!
राजीव कुछ नहीं बोला, बस सॉरी कहा।

इस पर नेहा बोली- अरे यार कैसा सॉरी, हम यहाँ मस्ती करने आए हैं। तुम झाँको भी और पकड़ाये तो पकड़ भी लेना, मुझे कोई ऐतराज नहीं।

राजीव को मालूम था कि उसकी और उसकी सेक्सी वाइफ नेहा की ट्यूनिंग है ही इतनी बढ़िया!
उसने वहीं नेहा को ज़ोर से चूम लिया।
दोनों चिपट गए।

तभी उधर हर्ष और प्रीति आ गए।
उन्हें देख कर बोले- क्यों सब्र नहीं हो रहा तो किसी झाड़ी के पीछे चले जाओ। यहाँ तो हर झाड़ी के पीछे या अंधेरे कोने में कोई न कोई मस्ती कर ही रहा होगा।

रात के दस बज़ गए थे। समुद्र की लहरों की आवाजें आ रही थीं।
माहौल बहुत रोमांटिक था।

दोनों जोड़े अपनी अपनी कॉटेज में दाखिल हो गए।

ये बात चारों ने आपस में कही थी कि अब जाकर अंदर वाले स्वीमिंग पूल में मस्ती करेंगे।

चूंकि दोनों की कॉटेज के बीच केवल एक बांस की चटाई की दीवार थी तो इधर उधर की आवाज़ें आराम से सुनाई पड़ती थीं।
नेहा तो वैसे ही मस्ती के समय ज्यादा ही आवाज़ करती थी।

पूल में राजीव और नेहा उतरे तो उनके हाथों में शराब के जाम थे।
नेहा तो सिगरेट के छल्ले उड़ा रही थी।

पूल ज्यादा बड़ा नहीं था; मात्र 8-10 फिट चौड़ाई का था, गहराई भी 4 फीट करीब होगी।

राजीव तो उसकी सीढ़ियों पर बैठ कर व्हिस्की का लुत्फ लेने लगा।
नेहा नीचे उतार कर पानी में तैरती हुई राजीव के पास आती और उसके लंड को कस के चूस कर चली जाती।

अबकी बार राजीव ने उसको पकड़ लिया और जबर्दस्ती उसके होंठों से अपने होंठ भिड़ा दिये और मम्में कस कर मसल दिये।
नेहा चीखी- ये टूट कर गिर पड़ेंगे।

उधर से प्रीति की आवाज़ आई- नेहा क्या टूट कर गिर रहा है? कहीं राजीव का तो नहीं तोड़ दिया तुमने?
नेहा बोली- मैं राजीव को उधर ही भेज देती हूँ, खुद ही समझ लेना कि क्या टूट रहा है।

तभी हर्ष बोला- यार नेहा, ये आइडिया बढ़िया है कि तुम राजीव को इधर भेज दो, मैं उधर आ जाता हूँ, कुछ साफ नहीं दिख रहा था डाइनिंग हाल में, यहाँ साफ देख लूँगा।
सब हंस पड़े, बोले- ठीक है कल बदल लेंगे।

अब कह तो दिया, पर चारों जोड़ों को एक टॉपिक मिल गया रात की चुदाई में तड़का लगाने के लिए।
रात को दोनों ही कोटेजों में लड़कों ने लड़कियों से ये कहलवा ही लिया कि चलो कल मस्ती करेंगे।

पर इतना कहलवाने में लड़कों को पूरा ज़ोर लगा कर चुदाई करनी पड़ी तब जाकर लड़कियों ने ये माना कि हाँ उन्हें भी मज़े लेने हैं।

राजीव और हर्ष का भी फव्वारा तब छूटा जब उन्हें कल अपनी बीवियों की चूत की जगह दूसरे की बीवी की चूत दिखाई देने लगी।

मित्रो, आपको मेरी सेक्सी नंगी वाइफ पोर्न कहानी अच्छी लग रही है या नहीं? कमेंट्स और मेल में बताएं.
[email protected]

नंगी सेक्सी वाइफ पोर्न कहानी का अगला भाग: कपल होटल चुदाई कहानी

पिंकी भाभी की ज्युसी चूत की चुदाई