कोचिंग टीचर को मदहोश करके चोद दिया

टीचर पोर्न Xxx कहानी में पढ़ें कि मैं पड़ोस की एक मैडम से ट्यूशन लेता था. वो मेरी मम्मी की सहेली भी थी तो उनसे निकट सम्बन्ध थे. उनको मैंने कैसे चोदा?

दोस्तो, आज मैं आपको एक सच्ची कहानी बताने जा रहा हूं.
मेरा नाम अमित है और मेरी उम्र 22 साल है. मेरी हाईट 5 फुट 4 इंच की है, रंग साफ और ठीकठाक स्वास्थ्य है.

मैं इलाहाबाद का रहने वाला हूं. मेरे परिवार में मेरी मां, पिता जी और दो बहनें हैं.
मेरी बहनों की शादी हो चुकी है, पिता जी सरकारी नौकरी में हैं.

यह Teacher Porn Xxx Kahani उस समय की है जब मैं पढ़ाई में कमजोर होने के कारण कोचिंग सेंटर में ना जाकर पड़ोस की एक मैडम से ट्यूशन लेता था.

मेरी ट्यूशन वाली मैडम एक पटाखा जैसी आइटम लगती थीं.
उनका बदन तो मानो शोला था.

हाय क्या लगता था उनका माल सा जिस्म … जिस्म का रंग एकदम साफ दूध जैसा सफेद, परी जैसा नशीला बदन.
उनकी और मेरी हाईट एकदम बराबर की ही थी.

मैडम के होंठ ऐसे एकदम सुर्ख लाल, जैसे चैरी हों.
जब भी मैं उनके होंठों की तरफ देखता था तो लगता था कि बस अभी उन्हें चूस कर उनका रस पी जाऊं.

साफ शब्दों में कहूँ तो मैडम एक सुडौल बदन की मालकिन थीं.
उनके बड़े बड़े मम्मे और उनकी सेक्सी कमर का तो क्या ही कहना, उसे देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो जाए.
मेरी और मैडम की बहुत बनती थी.

वो अक्सर हमारे घर पर भी आया करती थीं क्योंकि वह अपने परिवार के साथ नहीं रहती थीं.
जब भी उनका मन करता, वह हमारे घर आ जाती थीं.

मेरी बहनों की शादी के बाद मम्मी भी काफी अकेली पड़ गई थीं. मेरी मम्मी और मैडम की काफी बनती थी. वे दोनों बाज़ार भी साथ में ही जाया करती थीं.

  गर्म भाभी को दिया बड़े लंड का सुख

मैडम की आदत थी कि वो सलवार सूट पहनती थीं.
उनकी कुर्ती का गला काफी खुला रहता था जिससे कारण कई बार उनके बड़े बड़े चूचे मुझे अन्दर तक दिख जाया करते थे.

वो जब भी कॉपी पर झुक कर मुझे कुछ बताती थीं तो मैं कॉपी पर कम और उनके चूचों पर ज्यादा नजर गड़ा देता था. जिससे मुझे उनके बड़े बड़े चूचे गहराई तक दिख जाया करते थे.

पर वो मुझसे उम्र में बड़ी थीं और मेरी मम्मी की सहेली थीं, तो मैं उनसे कुछ कह नहीं सकता था.
एक दिन जब मैं कोचिंग पढ़ने के लिए गया तो मैडम ने मुझे थोड़ी देर पढ़ने के बाद कहा- अमित, आज मेरी कमर में कुछ दर्द हो रहा है, तो तू अब कल पढ़ लेना.

मैंने उनकी मदद करने की सोची क्योंकि वो मेरी मैडम के साथ साथ एक प्रकार से मेरे परिवार की सदस्य जैसी ही थीं.
तो मैंने उनसे कहा- मैडम, मैं आपकी कमर दबा देता हूँ.

तो उन्होंने पहले मना किया, पर मेरे बार बार बोलने से वो मान गईं.

फिर मैं उनकी रसोई से थोड़ा सा सरसों का तेल गर्म करके लाया और उनसे कहा- मैडम, अब आप पलट कर लेट जाएं, मैं आपकी मसाज कर देता हूं.
उन्होंने कहा- ठीक है, कर दे.

वो औंधी लेट गईं.
मैं उनकी उठी हुई गांड देखने लगा.

तभी शायद मैडम को तेल की याद आई तो उन्होंने अपनी कुर्ती को कुछ ऊपर उठा दिया.
अब मुझे उनकी गोरी कमर में तेल लगाने की जगह मिल गई थी.
मैं हल्के हाथ से मैडम की कमर पर तेल लगा कर मालिश करने लगा.

मगर कमर का कुछ हिस्सा मैडम की सलवार से ढका था, जिस वजह से मुझे लग रहा था कि अन्दर कैसे हाथ डाला जाए.
उनकी गांड की दरार तक मुझे अपना हाथ डालना था, तभी सही मजा आ सकता था.

  जवान नौकरानी को पटाकर चोदा

मैंने उनसे कहा कि मैडम आप इस सलवार का कुछ करें, वरना मैं कैसे मसाज कर सकूंगा.
उन्होंने कहा- ठीक है.

इतना कह कर उन्होंने अपनी सलवार का नाड़ा ढीला किया और उसको नीचे सरका दिया.
उफ्फ … क्या नजारा था … कसम से मेरे लंड की मां चुद गई.

मैडम की क्या संगमरमरी गांड थी एकदम मक्खन जैसी. उसे देख कर मेरे मुँह में पानी आ गया.
तभी मैडम बोलीं- तू एक काम कर. पहले मेरी सलवार को पैरों से नीचे करके हटा दे और पैरों में भी थोड़ा सा ऑयल लगा दे.

मेरी तो खुशी समा ही नहीं रही थी.
मैंने एक पल की भी देर ना करते हुए उनके पैरों से सलवार खींची और उनकी चिकनी टांगों में तेल लगाने लगा.

सच कह रहा हूं वाकयी में मैडम की टांगें बहुत ही कोमल टांगें थीं.
बस मैं उनकी चड्डी में फंसी एकदम सेक्सी सी गांड को ही निहार रहा था.

मैं अपनी ही धुन में उनकी टांगों में लगा हुआ था.
मेरी नजरें उनकी गांड पर टिकी ही थीं कि मैडम ने अपनी कुर्ती को नीचे करके गांड को छिपा लिया.

मुझे हल्की सी मायूसी हुई मगर अभी भी टांगें मेरे हाथों में थीं, जिनकी लज्जत का मजा मैं ले रहा था.

तभी मैंने महसूस किया कि वो कुछ धीमी धीमी आवाजें निकाल रही थीं.
मैं आवाज सुनने लगा तो समझ में आ गया कि मैडम की मादक सिसकारियां निकल रही हैं इसका मतलब उन्हें भी कुछ कुछ हो रहा था.

Video: सेक्सी कॉलेज गर्ल ने टीचर से स्कर्ट उठा के चूत मरवाई

बस इसके कुछ ही बाद उन्होंने कहा- अब तू टांगों में रहने दे … मेरी कमर पर तेल लगा दे, उधर बहुत दर्द हो रहा है.
मैंने उनसे कहा- अरे मैडम, पहले आप कुर्ती तो ऊपर कर लीजिए वरना तेल से खराब हो जाएगी.

उन्होंने फौरन ही अपनी कुर्ती को ऊपर खिसका लिया.
हाय उनकी नंगी कमर और चड्डी में कैद गांड को देख कर मन कर रहा था कि इसे चाट लूं.

मैंने कुछ देर कमर की मसाज की. मुझे महसूस हुआ कि मैडम कुछ ज्यादा आहें भरने लगी हैं.
मैं समझ गया कि लोहा गर्म हो गया है, इसी वक्त हथौड़ा मार दिया जाना चाहिए.

मैंने देर न करते हुए और जोर जोर से कमर को रगड़ना चालू कर दिया.
तभी अचानक उन्होंने मेरा हाथ पकड़ा और कहा- बस अब आगे आ जा.

इतना कह कर वो पलट गई और साथ में अपनी कुर्ती निकाल कर मेरे सामने ब्रा पैंटी में लेट गईं.

अब मैडम मेरी आंखों में आंखें डालकर कहने लगीं- आई लाईक यू … क्या तुम मुझे पसन्द करते हो?

मेरे तो मन में जैसे लड्डू ही फूट पड़ा.
मैंने फौरन हां कह कर उन्हें गले से लगा कर उनके गले को किस करना चालू कर दिया.
वो भी मेरा खूब साथ दे रही थीं.

मैंने ब्रा के ऊपर से ही उनके बड़े बड़े मम्मे दबाने चालू कर दिए जिससे वो और भी ज्यादा गर्म हो गईं.

फिर उन्होंने मेरी शर्ट उतार दी.
मैंने भी उनका साथ देते हुए अपने सारे कपड़े उतार दिए.

मैडम मेरे सामने सिर्फ़ आसमानी रंग की ब्रा और स्लेटी कलर की पैंटी में थीं.
मेरी बांहों में प्यासी मैडम मचल रही थीं.

जिन मैडम के लिए मैंने कभी सोचा नहीं था कि वो मेरी बांहों में भी कभी आ सकती होंगी, आज वो मेरे साथ इस तरह से थीं.
मैंने पागलों की तरह उनके मम्मे दबाने चालू कर दिए.

मैडम के बूब्स बड़े होने के कारण ब्रा के भी बाहर से अपने दर्शन करा रहे थे.
मैं उन्हें अपने प्यासे होंठों से लगातार चूमे जा रहा था और उनके बदन को जीभ से चाट रहा था.

मैडम ने कहा- अब मेरे सारे कपड़े हटा दे.
मैंने भी अपने हाथों से उनकी ब्रा को उतार दिया. ब्रा हटने से मैडम के छुपे हुए चूचे आजादी पा गए थे, जिनका साइज देख कर मैं हैरानी में पड़ गया था.

उनका एक दूध का साइज इतना था कि उन्हें हाथों में भर पाना मुमकिन नहीं था.
लग रहा था मानो मैडम ने अपने सीने पर दो फुटबाल लगा रखी हों.
मेरे लिए यह नजारा किसी जन्नती नजारे से कम ना था.

मैंने उसी वक़्त एक दूध को अपने मुँह में भर लिया और जोर-जोर से चूसने लगा.
मैं दायें वाले को चूसता तो बाएं वाले को दबाता और बाएं साइड वाले को चूसता, तो दाहिने वाले को दबाता.

इस वजह से टीचर एकदम मदहोश हो चुकी थीं.
उनके दोनों दूध मैंने चूस-चूस कर लाल कर दिए थे.

फिर मैंने कमर को मसलते हुए उनकी पैन्टी को भी उतार दिया.
हय उनकी वह भूरे रंग की चिकनी चूत, जिसमें एक भी बाल नहीं था, मेरे सामने आंसू बहा रही थी.

मैडम की नंगी चूत को देख कर मेरे मुँह में पानी आ गया था.

मैंने उन्हें अपने नीचे लिटाया और उनके सीने पर आ गया, मैंने अपना 6 इंच का लंड उनके मुँह में डाल दिया.
मुँह में लंड डालते ही उन्होंने मेरे बाबू को चूसना चालू कर दिया.

फिर मैंने 69 में आकर उन Xxx टीचर को लंड चुसवाया और खुद उनकी चूत को अपने हाथों से सहला कर और जीभ से चाट चाट कर चूत का पानी निकाल दिया.

उन्होंने बेकाबू होकर कहा- अरे मेरी जान, जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में डाल दो … मैं अब बेताब हो गई हूं … जल्दी कर!
मैंने कहा- बिल्कुल मेरी मैडम जान, अभी लो … आपका ये चेला आपकी सेवा में कमी नहीं रहने देगा.

मैंने झट से चुदाई की पोजीशन बनाई और उनकी चूत की दरार में अपना लंड रगड़ना शुरू कर दिया.
वो भी नीचे से गांड उठा कर लंड अन्दर लेने के लिए मचल रही थीं.

चूत एकदम रसीली हो चुकी थी. धीरे धीरे मेरा 6 इंच का लंड उनकी चूत में समा गया.
कुछ समय बाद मैंने कमर पकड़ कर जोर जोर से धक्के लगाने शुरू कर दिए, जिससे मैडम के चूचे गजब उछाल मार रहे थे.

इसके बाद वह बोलीं- आह जल्दी जल्दी कर साले …. और ज़ोर से चोद अपनी मैडम को … आज सुकून दे दे मेरी जान!
उनके मुँह से लगातार ‘आह उह उफ्फ … मर गई मैं तो … हां हिस्स उह आह …’ की सिसकारियां निकल रही थीं और मैं उनकी चूत में लंड से भर भर कर धक्के लगाने में व्यस्त था.

वो और मैं पूरे बिस्तर को हिलाने में लगे थे और कमरे में सिर्फ और सिर्फ चुदाई की सिसकारियों की गूंज सुनाई दे रही थी.
मैडम ने कहा- अब घोड़ी बना कर मजा ले ले!

मैंने कहा- ओके मैडम आ जाओ.
वो बेड के किनारे पर कुतिया सी बन गईं और मैंने पीछे से उनकी टपकती चूत में लंड भर दिया.

मुझे पीछे से उनकी लेने में बड़ा मजा आ रहा था.

मैंने मैडम से कहा- गांड मारने का दिल कर रहा है मैडम.
वो बोलीं- अभी नहीं … वो सब बाद में … अभी मेरी चूत का रस निकाल कर चाट ले.

लगभग 2-3 मिनट बाद मैडम का पानी निकल गया, जिसे मैंने मजे से पी लिया.
फिर वापस उनकी चूत में लंड पेल कर चुदाई चालू कर दी और 5 मिनट बाद मैं भी अपना वीर्य निकालने की पोजीशन में आ गया.

मैडम ने अपनी ही चूत में लंड रस छोड़ने को कहा.
मैंने ताबड़तोड़ धक्के मारे और पोर्न टीचर की चूत भर दी.

इसके बाद हम बेसुध होकर एक दूसरे के साथ एक दूसरे की बांहों में सो गए.

अब मेरी मैडम सिर्फ मैडम नहीं बल्कि सेक्स गर्लफ्रेंड बन गई थीं और अब हम रोज सेक्स करने लगे थे.

तो दोस्तो, आप लोग बताएं कि आपको मेरी टीचर पोर्न Xxx कहानी कैसी लगी, पसंद आई या नहीं … मेरी ईमेल आईडी पर मैसेज करके जरूर बताएं और हां कमेंट भी करके बताएं.
शुक्रिया दोस्तो.
[email protected]